toprankers
  • Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    लुईस हैमिलटन ने ऑस्ट्रिया ग्रां प्री फार्मूला वन रेस जीती

    मर्सडीज़ के ब्रिटिश ड्राईवर लुईस हैमिलटन ने 3 जुलाई 2016 को स्पीलबर्ग, ऑस्ट्रिया में आयोजित फार्मूला वन ऑस्ट्रिया ग्रां प्री रेस जीती. 
    •    लुईस हैमिल्टन ने एक घंटा 27 मिनट 38.107 सेकेंड के समय के साथ रेस जीती. रेड बुल के मैक्स वेरस्टापेन दूसरे जबकि फेरारी के किमी रेकोनेन तीसरे स्थान पर रहे.
    •    फोर्स इंडिया के निको हुल्केनबर्ग इस सत्र की अपनी सर्वश्रेष्ठ शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहते हुए 19वें स्थान पर रहे. हुल्केनबर्ग की टीम के साथी सर्जियो पेरेज शीर्ष 10 से अंदर और बाहर होते रहे और अंतत: 17वें स्थान पर रहे.
    •    लुईस हैमिलटन ब्रिटेन के फार्मूला वन ड्राईवर हैं.
    •    वे मर्सडीज़ एएमजी पेट्रोनास के लिए खेलते हैं.
    •    वे 2008, 2014 एवं 2015 में विश्व चैंपियन रह चुके हैं.
    •    वर्ष 2007 में फार्मूला वन के अपने पहले सीजन में खेलते हुए उन्होने कई रिकॉर्ड बनाये.
    •    वे फार्मूला वन चैंपियनशिप जीतने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने. कुछ वर्ष उपरांत सेबेस्टियन वेटेल ने यह रिकॉर्ड तोड़ा
    •    2014 में उन्होंने दूसरा विश्व ख़िताब जीता, इसी वर्ष उन्हें बीबीसी स्पोर्ट्स पर्सनालिटी ऑफ़ द इयर ख़िताब मिला.
    •    उन्होंने प्रत्येक सीजन में एक रेस जीती है, ऐसा करने वाले वह एकमात्र खिलाड़ी हैं.

    Read More
    Read Less
    Share

    छत्‍तीसगढ़वर्ष 2018 के अंत तकखुले में शौच करने से मुक्‍त(ओपन डिफिकेशन फ्री, ओडीएफ) प्रदेश बन जाएगा

     

    छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री डॉ. रमन सिह ने एसबीएम में घोषणा की कि वर्ष 2018 के अंत तक छत्‍तीसगढ़ खुले में शौच करने से मुक्‍त(ओपन डिफिकेशन फ्री, ओडीएफ) प्रदेश बन जाएगा। 
    •    हालांकि पूरे भारत को खुले में शौच से मुक्‍त करने का लक्ष्‍य अक्‍टूबर, 2019 तय किया गया है। 
    •    वे पेय जल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय द्वारा रायपुर में आयोजित दो दिवसीय स्‍वच्‍छ भारत मिशन(एसबीएम) के राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में बोल रहे थे। 
    •    यह सम्‍मेलन एसबीएम के फेज-एक के फोकस जिलों के जिला कलेक्‍टरों और अधिकारियों लिए आयोजित किया गया है। 
    •    मुख्‍यमंत्री ने एसबीएम के ब्रांड एम्‍बेसडर के रूप में महिलाओं को शामिल करने पर जोर देते हुए कहा कि छत्‍तीसगढ़ की लड़कियों ने अब शादी के लिए परिवार में शौचालय होने की पूर्व शर्त रखने लगी हैं। 
    •    उन्‍होंने जोर देते हुए कहा कि इसके लिए छत्‍तीसगढ़ की सरकार ने प्रधानमंत्री उज्‍जवला योजना और रसोई गैस के वितरण में ओडीएफ प्रखंडों को प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है। 
    •    वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिये पुडुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर श्रीमती किरण बेदी ने इस अभियन को जमीनी स्‍तर तक प्रभावी बनाने के लिए स्‍वच्‍छता की वास्‍तविक स्थितियों से राजनीतिज्ञों और अधिकारियों को संपर्क में रहने की आवश्‍यकता पर बल दिया। 
    •    इसके लिए उन्‍होंने बताया कि कैसे उन्‍होंने अपनी कार से सायरन और लालबत्‍ती हटाकर पुडुचेरी के आसपास जाकर खुले में शौच की सच्‍चाई उन्‍होंने देखी है।

    Read More
    Read Less
    Share

    दुनिया की पहली एमएमए सुपर फाइट लीग की मेजबानी करेगा भारत

    भारत 26 अगस्त से एक अक्तूबर तक दुनिया की पहली मिश्रित मार्शल आर्ट्स (एमएमए) ‘सुपर फाइट लीग’ की मेजबानी करेगा.

    •    फ्रेंचाइजी आधारित इस लीग में दिल्ली, उत्तरप्रदेश, मुंबई, हरियाणा, बेंगलूर, पंजाब, पुणे और गोवा की आठ टीमें हिस्सा लेंगी. 
    •    यह लीग अनूप कुमार, सीजे सिंह, अमित राय, ध्रुव चौधरी जैसे भारत के एमएमए खिलाड़ियों को अपना कौशल दिखाने का मंच देगी.
    •    दुनिया की पहली एमएमए सुपर फाइट लीग की मेजबानी करेगा भारत
    •    प्रत्येक टीम में नौ भारतीय और तीन अंतरराष्ट्रीय फाइटर होंगे. 
    •    महिलाओं को भी इस चैम्पियनशिप में बराबरी का मौका मिलेगा. 
    •    पुरूष और महिला मिलाकर कुल 96 फाइटर चुनौती पेश करेंगे.
    •    सुपर फाइट लीग के सीईओ बिल दोसांज के मुताबिक, "भारतका कल्चर विविधता से भरा हुआ है और जनसंख्या इसकी बड़ी ताकत है। 
    •    सुपर फाइट लीग के पहले संस्करण में महिलाओं की कैटेगरी भी होगी, जोकि टूर्नामेंट में हर टीम के परिणाम में अहम भूमिका अदा करेगी। 
    •    इस साल सुपर फाइट लीग में भारत और दुनिया के कुल 96 फाइटर्स शामिल होंगे, जिसमें महिला, पुरुष दोनों शामिल हैं। 
    •    सुपर फाइट लीग में यह फाइटर्स दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मुंबई, हरियाणा, बैंगलोर, पंजाब, पुणे और गोवा की टीम होगी। 
    •    हर टीम में 9 भारतीय और 3 अंतरराष्ट्रीय फाइटर्स होंगे। 
    •    लीग स्टेज में कुल 72 बाउट्स होंगी, जिसके बाद 2 सेमीफाइनल, तीसरे-चौथे स्थान के लिए फाइट और फाइनल मुकाबला होगा

    Read More
    Read Less
    Share

    दुनिया के सबसे बड़े रेडियो टेलिस्कोप को चीन ने किया स्थापित

    चीन ने दुनिया के सबसे बड़े रेडियो टेलिस्कोप (दूरबीन) के इन्स्टालेशन की प्रक्रिया पूरी कर ली है। 
    •    यह टेलिस्कोप चीन के दक्षिण-पश्चिम प्रांत गुईझु में बनाया गया है।
    •    यह 500 मीटर व्यास का अपर्चर स्फीयरिकल टेलिस्कोप इतना विशाल है कि 30 फुटबॉल पिचों को समा सकता है। 
    •    इस टेलिस्कोप में 4450 त्रिकोणिय पैनलों को फिट किया गया है।•    इस टेलिस्कोप को पहाड़ियों की शृंखलाओं के बीच बनाया गया है। 
    •    चीन के विज्ञान अकादमी के अंतर्गत आने वाले नेशनल ऐस्ट्रोनॉमिकल ऑबजरवेशन के डिप्टी हेड झेंग श्याओनियान ने कहा कि अब वैज्ञानिक इस रेडियो दूरबीन के ट्रायल की शुरुआत करेंगे।
    •    झेंग ने कहा कि पृथ्वी के बाहर जीवन ढूँढने और अंतरिक्ष में अजीबोगरीब चीजों को ढूँढने व समझने के लिए चीन की यह परियोजना काफी उपयोग में आएगी। 
    •    यह परियोजना 2011 में शुरू हुई थी।180 मिलियन डॉलर की लागत से बनी रेडियो टेलिस्कोप सितंबर तक पूर्णतया काम करनी शुरू कर देगी। 
    •    अब चीन 2036 तक चाँद पर इंसान को भेजने की तैयारी में है और अंतरिक्ष स्टेशन बनाने की भी उसकी मंशा है। 
    •    इन परियोजनाओं पर काम शुरू हो चुका है।

    Read More
    Read Less
    Share

    130 देशों के ह्यूमन कैपिटल इंडेक्स में भारत 105वें स्थान पर

    ‘ह्यूमनकैपिटल इंडेक्स’ यानी ग्रोथ में लोगों की भागीदारी के मामले में भारत काफी पीछे है। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने 130 देशों की सूची में भारत को 105वें स्थान पर रखा है। 
    •    पड़ोसी देशों में चीन 71वें नंबर पर है। और तो और, बांग्लादेश, भूटान और श्रीलंका भी भारत से ऊपर हैं। 
    •    पाकिस्तान हमसे नीचे, 118वें स्थान पर है। 
    •    फिनलैंड लगातार पहले नंबर पर बना हुआ है। 
    •    नॉर्वे और स्विट्जरलैंड भी क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर बरकरार हैं। 
    •    अमेरिका 17वें से खिसककर 24वें स्थान पर गया है। 
    •    ‘ह्यूमन कैपिटल इंडेक्स’ किसी देश की आर्थिक तरक्की के लिए कौशल विकास और स्किल्ड लोगों के इस्तेमाल की क्षमता को दर्शाता है। 
    •    पिछले साल 124 देशों की सूची में भारत 100वें स्थान पर था। 
    •    यह इंडेक्स चीन के तियानजिन शहर में जारी किया गया। यहां फोरम की ‘नए चैंपियंस की सालाना बैठक’ चल रही है। इसे ‘समर दावोस’ समिट भी कहा जाता है। 
    •    ज्यादा टेक ग्रेजुएट की वजह से सुधर सकती है रैंकिंग - {शिक्षाप्रणाली की गुणवत्ता के मामले में हम 39वें, स्टाफ ट्रेनिंग में 46वें और कुशल कर्मचारी पाने में 45वें नंबर पर हैं। 
    हमसे ऊपर के देशों में 
    •    श्रीलंका
    •    चीन
    •    भूटान
    •    बांग्लादेश
    •    भारत
    •    पाकिस्तान
    ‘ब्रिक्स’में सबसे नीचे भारत 
    •    रूस
    •    चीन 
    •    ब्राजील 
    •    द.अफ्रीका 
    •    भारत
    कम साक्षरता के कारण हमारी रैंकिंग इतनी नीचे - शिक्षास्तर में सुधार के बावजूद युवाओं में साक्षरता दर 89% तक ही पहुंच सकी है। इस लिहाज से भारत दुनिया में 103वें स्थान पर है। सिर्फ 57% मानव पूंजी का इस्तेमाल .फिनलैंड,नॉर्वे और स्विट्जरलैंड अपनी 85% मानव पूंजी का इस्तेमाल करते हैं। भारत में यह सिर्फ 57% है। 55 साल से ज्यादा उम्र वालों के वर्ग में जापान सबसे ऊपर है। 

    Read More
    Read Less
    Share

    केरल सरकार ने ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया

    केरल सरकार ने ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है क्योंकि इसके इस्तेमाल से कैंसर और दिल की बीमारी हो सकती हैं।केरल सरकार ने उस अध्ययन को देखते हुए ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है जिसमें दावा किया गया था कि इसके इस्तेमाल से कैंसर और दिल की बीमारी सहित स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं।
    •    राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने गुरूवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव :स्वास्थ्य: को निर्देश दिया कि वह ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ के उत्पादन, बिक्री और विज्ञापन पर रोक लगाने का आदेश जारी करें।
    •    आधिकारिक बयान में कहा गया कि ऐसी खबरें थी कि ई-सिगरेट का बाजार केरल में बहुत फल-फूल रहा है तथा मुख्य रूप से युवाओं और बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है।
    •    राज्य के मादक पदार्थ विरोधी अधिकारियों ने पाया कि ई-सिगरेट के डिवाइस का इस्तेमाल गांजा, चरस और दूसरे मादक पदाथरें के लिए किया जाता है।
    •    ई सिगरेट एक बैटरी चालित उपकरण है जो निकोटीन या गैर-निकोटीन के वाष्पीकृत होने वाले घोल की सांस के साथ सेवन की जाने वाली खुराक प्रदान करता है। 
    •    यह सिगरेट, सिगार या पाइप जैसे धुम्रपान वाले तम्बाकू उत्पादों का एक विकल्प है।

    Read More
    Read Less
    Share

    विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में भारत की रैंकिंग 35वें स्थान पर

    विश्व बैंक ग्रुप के द्विवार्षिक ‘‘लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक-2016’’ में भारत की रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार हुआ है, जो 2014 के 54वें स्थान से बढ़ कर 35वें स्थान पर आ गई है। 
    •    यह घोषणा विश्व बैंक ग्रुप ने हाल ही में जारी अपनी रिपोर्ट में की है। ताजा रैंकिंग के अनुसार भारत ने न्यूजीलैंड, थाईलैंड, सउदी अरब, आईसलैंड, लात्विया और इंडोनेशिया जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया, जो पहले सूचकांक में भारत से आगे थे। 
    •    रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार इस बात को दर्शाता है कि भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालय और एजेंसिया भारत में व्यापार करना आसान बनाने के प्रति वचनबद्ध हैं। 
    •    विश्व बैंक के अध्यक्ष डॉ. जिम योंग किंग ने हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री से मिल कर इस उपलब्धि के लिए बधाई दी थी। 
    •    विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में नीति नियमन और आपूर्ति श्रृंखला निष्पादन परिणामों का अध्ययन करता है और सभी सूचियों में कार्य निष्पादन के आधार पर देशों का रैंक निर्धारित करता है। 
    •    यह सर्वेक्षण जमीनी स्तर पर आपरेटरों की फीडबैक के आधार पर किया जाता है, क्योंकि यही लोग लाजिस्टिक कार्य निष्पादन के पहलुओं का उत्कृष्ट मूल्यांकन कर सकते हैं। 
    •    लाजिस्टिक कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में भारत ने सर्वाधिक सुधार ‘‘सीमा शुल्क और सीमा प्रबंधन मंजूरी’’ के क्षेत्र में किया है। इस क्षेत्र में 2014 में वह 65वें स्थान पर था, जो 2016 में बढ़ कर 38वां स्थान हो गया। 
    •    खेपों का पता लगाने और उन पर निगरानी रखने की क्षमता, 57वें स्थान से सुधार करते हुए 34वां स्थान प्राप्त किया।
    •    व्यापार और परिवहन ढांचे की गुणवत्ता, 58वें स्थान से सुधार करते हुए 36वां स्थान प्राप्त किया और
    •    लाजिस्टिक्स सेवाओं की गुणवत्ता और सक्षमता, 52वें स्थान से सुधार करते हुए 32वां स्थान प्राप्त किया। 
    •    विश्व बैंक ग्रुप की द्विवार्षिक रिपोर्ट ‘कनेक्टिंग टू कम्पीट 2016: ट्रेड लाजिस्टिक्स इन ग्लोबल इकोनोमी, बुधवार को जारी की गई। 
    •    इसमें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की जटिलताओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। 
    •    रिपोर्ट में लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में लाजिस्टिक्स निष्पादन के महत्वपूर्ण मानदंडों के आधार पर 160 देशों की सूची दी गई है।

    Read More
    Read Less
    Share

    भारत के राष्ट्रपति ने वर्ष 2008, 2009 और 2010 के लिए डॉ. बी सी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार वितरित किए

    भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 1 जुलाई 2016 को चिकित्सक दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में वर्ष 2008, 2009 एवं 2010 के लिए डॉ. बी सी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार वितरित किए. यह पुरस्कार चिकित्सकीय क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है.
    पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं की सूची : वर्ष 2008
    •    डॉ मेमन चांडी
    •    प्रोफेसर राजेश्वर दयाल
    •    डॉ रोहित वी भट्ट
    •    डॉ नीलम मोहन
    •    प्रो. मोहन कामेश्वरन
    •    डॉ हर्ष जौहरी
    •    डॉ गोपाल बदलानी
    •    डॉ यश गुलाटी
    वर्ष 2009
    •    डॉ के एच संचेटी
    •    डॉ अतुल कुमार
    •    डॉ रेनु सक्सेना
    •    डॉ कनन ए येलिकर
    •    डॉ ए के कृपलानी
    •    डॉ जी वी राव
    •    डॉ एच एस भानुशाली
    •    डॉ मोती लाल सिंह
    •    डॉ सी एन पुरुंद्रे
    •    डॉ सी वी हरिनारायण
    वर्ष 2010
    •    डॉ निखिल सी मुंशी
    •    डॉ तेजिंदर सिंह
    •    प्रो ओ पी कालरा
    •    डॉ अमरिंदर जीत कंवर
    •    डॉ सुभाष गुप्ता
    •    डॉ राजेन्द्र प्रसाद
    •    डॉ ग्लोरी एलेग्जेंडर

    डॉ. बिधान चंद्र राय बहुमुखी प्रतिभा के धनी एक वरिष्ठ चिकित्सक, विद्वान शिक्षाविद, निर्भीक स्वतंत्रता सेनानी, कुशल राजनीतिज्ञ और प्रसिद्ध समाज सेवक के साथ साथ आधुनिक भारत के राष्ट्र निर्माता के रूप में भी बड़ी श्रद्धा व सम्मान के साथ स्मरण किया जाता है। विशेषकर बंगाल के प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में उनके द्वारा किए गये उल्लेखनीय कार्यों के संदर्भ में उन्हें 'बंगाल का मसीहा' भी कहा जाता है।

    Read More
    Read Less
    Share

    रियो ओलंपिक में अमूल बना भारतीय दल का आधिकारिक प्रायोजक

    भारत के सबसे बड़े खाद्य उत्पाद मार्केटिंग संगठन-अमूल ने बुधवार को रियो ओलंपिक में भारतीय दल का आधिकारिक प्रायोजक बनने की घोषणा की। 

    •    इस अनुबंध पर भारतीय ओलम्पिक संघ के महासचिव राजीव मेहता गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (अमूल) के प्रबंध निदेशक आर. एस. सोढ़ी ने हस्ताक्षर किए।
    •    अमूल अब भारतीय दल का आधारिक प्रायोजक है। 
    •    साल 2012 में अमूल लंदन ओलंपिक में भारतीय दल का प्रायोजक था। 
    •    अमूल हमेशा से ही विभिन्न खेल-कूद आयोजनों का सक्रिय समर्थक रहा है, फिर चाहे एशियाई खेल हो या फिर राष्ट्रमंडल खेल या फिर दूसरे खेल आयोजन।
    •    रियो ओलम्पिक का उद्घाटन 5 अगस्त को होगा। इस ओलम्पिक में अब तक सबसे बड़ा भारतीय दल शिरकत करेगा। इस दल में तकरीबन 100 खिलाड़ी मौजूद होंगे।
    •    अमूल का उद्देश्य युवाओं के साथ सहयोग करना और दूध की शक्ति एवं खेल-कूद के बीच सम्पर्क का लाभ उठाना है। दूध किसी भी खिलाड़ी की फिटनेस का प्रमुख घटक है। इसलिये अमूल के लिये यह एक उपयुक्त सहयोग है।
    •    अमूल द्वारा इस सहयोग को प्रचारित करने के लिए आगामी महीनों में दूध एवं विभिन्न डेयरी उत्पादों के लिए विज्ञापन अभियानों की सीरीज लॉन्च की जायेगी। 
    •    अमूल ने 'ईट मिल्क विद एवरी मील' कैम्पेन शुरू किया है, जिसमें दैनिक आहार में दूध और डेयरी उत्पादों जैसे कि चीज, दही, मक्खन, घी, पनीर इत्यादि की अहमियत बताई गई है।
    •    अमूल दूध पीता है इंडिया-अमूल का सर्वाधिक पसंदीदा कैम्पेन है और इसका इस्तेमाल भारतीय दल का उत्साह बढ़ाने के लिए किया जायेगा। 
    •    भारत दुनिया भर में दूध का सबसे बड़ा निर्माता है और अमूल न सिर्फ भारत का बल्कि एशिया का सबसे बड़ा मिल्क ब्रांड है।

    Read More
    Read Less
    Share

    भारत का पहला एकीकृत रक्षा संचार नेटवर्क शुरू

    भारत का पहला एकीकृत रक्षा संचार नेटवर्क 30 जून 2016 को शुरू किया गया जिसकी मदद से थलसेना, वायु सेना, नौसेना और विशेष बल कमान शीघ्र निर्णय लेने की प्रक्रिया के लिए परिस्थिति के अनुसार जानकारी साझा करेंगे.
    •    सामरिक एवं अत्यंत सुरक्षित रक्षा संचार नेटवर्क (डीसीएन) की पहुंच लद्दाख से लेकर पूर्वोत्तर और द्वीप क्षेत्रों तक पूरे भारत में है.
    •    तीनों बलों के अपने स्वयं के कमान, संचार एवं खुफिया नेटवर्क हैं लेकिन ऐसा पहली बार किया गया है जब बड़े स्तर पर तालमेल के लिए एक समर्पित नेटवर्क होगा.
    •    इस नेटवर्क की पहुंच पूरे भारत में है और यह इस तथ्य का प्रमाण है कि भारतीय सेना एवं सिग्नल कोर उनके सामने आने वाली हर प्रकार की चुनौती एवं जिम्मेदारी से निपटने में सक्षम हैं.
    •    डीसीएन का निर्माण एचसीएल ने करीब 600 करोड़ रुपये की परियोजना के तहत किया है.
    •    यह नेटवर्क देशभर में फैले 111 प्रतिष्ठानों को कवर करता है और उच्च गुणवत्ता वाली आवाज, वीडियो, डेटा सेवाएं मुहैया कराता है.

    Read More
    Read Less

    All Rights Reserved Top Rankers