toprankers
Exams
Blog
Plans
Plans
Current Affairs
Hindi
Share

भारतीय पैरा तैराक निरंजन ने जीते 8 पदक

भारतीय पैरा तैराक निरंजन मुकुंदन ने चेक गणराज्य में आयोजित और हाल ही में संपन्न अंतर्राष्ट्रीय ह्वीलचेयर और ऐम्प्युटी खेल U -23 विश्व खेलों में पर आठ पदक जीत लिया है ।
•    उन्होंने 200 मीटर फ्रीस्टाइल , 50 मीटर बटरफ्लाई और 50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में 3 स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 100 मीटर फ्लाई में और 50 मीटर फ्रीस्टाइल इवेंट में रजत पदक जीता ।
•    उन्होंने 5 अन्य पदक 100 मीटर फ्रीस्टाइल , 100 मीटर बैकस्ट्रोक और 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में जीते ।
•    2015 में उन्होंने इस टूर्नामेंट में 10 पदक जीते थे।
•    निरंजन वंशानुगत बिमारी से ग्रसित हैं  जिसे स्पाइना बिफिल्डा कहा जाता है, इसीलिए उन्हें एस -8 वर्ग में प्रतिस्पर्धा में भाग लेना पड़ता है ।
•    टूर्नामेंट में शपथ देने के लिए निरंजन 35 अन्य देशों के प्रतिनिधियों के बीच में चुने गये थे। ऐसा करने वाले पहले निरंजन पहले भारतीय बने ।

Read More
Read Less
Share

दीपा करमाकर को वर्ल्ड क्लास जिमनास्ट के रूप में नामित किया गया

भारतीय जिमनास्ट दीपा करमाकर को अंतरराष्ट्रीय जिमनास्टिक्स फेडरेशन द्वारा ‘वर्ल्ड क्लास जिमनास्ट’ के रूप में नामित किया गया.
इससे सम्बंधित अधिकारिक पुष्टि पत्र जिमनास्टिक महासंघ द्वारा 6 जुलाई 2016 को जारी किया गया. वे इस सम्मान को प्राप्त करने वाली पहली भारतीय जिमनास्ट बन गयी.
•    दीपा का जन्म 9 अगस्त 1993 में अगरतला में हुआ.
•    उन्होंने 2014 में ग्लासगो में आयोजित कॉमनवेल्थ खेलों में कांस्य पदक जीता.
•    यह किसी भी भारतीय महिला जिमनास्ट द्वारा अर्जित पहला पदक था.
•    वे विश्व की पांच सबसे अधिक अंक अर्जित करने वाली महिला खिलाड़ियों में शामिल हैं.
•    उन्होंने डिफिकलटी में 7.000, एग्जीक्यूशन में 8.100 एवं पेनल्टी में 0.1 अंक अर्जित किये हैं.
•    उन्होंने एशियन जिम्नास्टिक चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता तथा 2015 के विश्व आर्टिस्टिक जिम्नास्टिक चैंपियनशिप में पांचवां स्थान हासिल किया. यह दोनों स्थान भारत के लिए पहली बार अर्जित किये गये.
•    वर्ष 2010 से 2014 तक पांच बार राष्ट्रीय विजेता रह चुकीं है.
•    उन्हें अगस्त 2015 में अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चूका है.

Read More
Read Less
Share

आईसीसी ने एलबीडब्ल्यू हेतु निर्णय समीक्षा प्रणाली में बदलाव को मंजूरी दी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 2 जुलाई 2016 को एलबीडब्ल्यू से जुड़े अंपायरों के फैसलों पर विवादास्पद निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से संबंधित नियमों में बदलाव को मंजूरी प्रदान की. इस निर्णय से एलबीडब्ल्यू के नॉट-आउट करार दिए गये फैसले को बदलने में सहायता मिलेगी.

यह निर्णय एडिनबर्ग स्थित आईसीसी की वार्षिक बैठक में लिया गया.
•    इस संशोधन के अनुसार एलबीडब्ल्यू से संबंधित मैदान में मौजूद अंपायर का फैसला बदला जाता है तो अब गेंद का आधा हिस्सा स्टंप के क्षेत्र में होना आवश्यक है जो कि ऑफ और लेग स्टंप के बाहर की सीमा भी होगी. इससे पहले गेंद का आधा हिस्सा ऑफ और लेग स्टंप के बीच में होना जरूरी होता था. 
•    आईसीसी का यह संशोधन 1 अक्तूबर 2016 से या फिर इस तिथि से ठीक पहले शुरू होने वाली किसी श्रृंखला जिसमें डीआरएस हो, उसमें प्रभावी होगा.
•    यह क्रिकेट में तकनीक के आधार पर निर्णय लेने की प्रक्रिया है. इसे अंपायर द्वारा लिए जाने वाले गलत फैसलों से बचने हेतु आरंभ किया गया.
•    यह प्रणाली पहली बार भारत बनाम श्रीलंका के मैच में 2008 में बतौर प्रयोग शुरू की गयी. 
•    इसे आईसीसी द्वारा अधिकारिक रूप से 24 नवम्बर 2009 को लागू किया गया.
•    इसे जनवरी 2011 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गये एकदिवसीय मैच में पहली बार आरंभ किया गया.
•    टेस्ट क्रिकेट में दो डिवीजन बनाने और नई एकदिवसीय लीग सहित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आमूलचूल परिवर्तन करने की योजना को स्थगित कर दिया गया.
•    आईसीसी ने राष्ट्रमंडल खेल महासंघ की प्रस्तुति के बाद डरबन में वर्ष 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में महिला क्रिकेट को शामिल करने को समर्थन देने पर भी सहमति जताई.
•    आईसीसी परिषद ने इसके साथ ही अमेरिकी क्रिकेट संघ (यूएसएसीए) और नेपाल क्रिकेट संघ (सीएएन) के निलंबन को भी सर्वसम्मति से मंजूरी प्रदान की. उन्हें जून 2015 और अप्रैल 2016 में निलंबित किया गया था.
•    बांग्लादेश जैसे छोटे देशों के स्थायी तौर पर 'सेकेंड डिवीजन' में जाने के जोखिम को लेकर चिंता को देखते हुए आइसीसी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आमूलचूल परिवर्तन करने के फैसले को स्थगित कर दिया.
•    आईसीसी ने घोषणा की कि अंतरराष्ट्रीय मैच में बल्लेबाज पर हेलमेट पहनना अनिवार्य नहीं है लेकिन यदि वह हेलमेट पहनता है तो यह ब्रिटिश स्टैण्डर्ड (बीएस) – बीएस7928:2013 श्रेणी का होना चाहिए.

Read More
Read Less
Share

गुरप्रीत सिंह संधू यूरोपा लीग में खेलने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने

भारतीय फुटबॉलर गुरप्रीत सिंह संधू जुलाई 2016 के पहले सप्ताह में यूरोपा लीग में खेलने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने.
•    इससे पहले संधू ने नॉर्वे प्रीमियर लीग में स्टेबैक एफसी की ओर से पहला मुकाबला आईके स्टार्ट के खिलाफ खेला था.
•    गुरप्रीत सिंह संधू नॉर्वे के टिप्पेलीगेन क्लब के लिए खेलते हैं एवं भारत की राष्ट्रीय टीम के लिए भी खेलते हैं.
•    यूरोप के किसी क्लब के लिए खेलने वाले वह पहले भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बने.
•    उनसे पहले मोहम्मद सलीम, बाइचुंग भूटिया, सुनील छेत्री एवं सुब्रता पाल भी विदेशों के लिए खेल चुके हैं लेकिन वे यूरोप के क्लब के लिए नहीं खेले.
•    उन्होंने वर्ष 2010 से अंडर 19 में भारत के लिए इराक के खिलाफ खेलते हुए अपने करियर की शुरुआत की थी. 
•    वे 2011 से एएफसी एशिया कप के लिए खेल रहे हैं. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय खेलों में तुर्कमेनिस्तान के खिलाफ खेलते हुए पदार्पण किया था.

Read More
Read Less
Share

लुईस हैमिलटन ने ऑस्ट्रिया ग्रां प्री फार्मूला वन रेस जीती

मर्सडीज़ के ब्रिटिश ड्राईवर लुईस हैमिलटन ने 3 जुलाई 2016 को स्पीलबर्ग, ऑस्ट्रिया में आयोजित फार्मूला वन ऑस्ट्रिया ग्रां प्री रेस जीती. 
•    लुईस हैमिल्टन ने एक घंटा 27 मिनट 38.107 सेकेंड के समय के साथ रेस जीती. रेड बुल के मैक्स वेरस्टापेन दूसरे जबकि फेरारी के किमी रेकोनेन तीसरे स्थान पर रहे.
•    फोर्स इंडिया के निको हुल्केनबर्ग इस सत्र की अपनी सर्वश्रेष्ठ शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहते हुए 19वें स्थान पर रहे. हुल्केनबर्ग की टीम के साथी सर्जियो पेरेज शीर्ष 10 से अंदर और बाहर होते रहे और अंतत: 17वें स्थान पर रहे.
•    लुईस हैमिलटन ब्रिटेन के फार्मूला वन ड्राईवर हैं.
•    वे मर्सडीज़ एएमजी पेट्रोनास के लिए खेलते हैं.
•    वे 2008, 2014 एवं 2015 में विश्व चैंपियन रह चुके हैं.
•    वर्ष 2007 में फार्मूला वन के अपने पहले सीजन में खेलते हुए उन्होने कई रिकॉर्ड बनाये.
•    वे फार्मूला वन चैंपियनशिप जीतने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने. कुछ वर्ष उपरांत सेबेस्टियन वेटेल ने यह रिकॉर्ड तोड़ा
•    2014 में उन्होंने दूसरा विश्व ख़िताब जीता, इसी वर्ष उन्हें बीबीसी स्पोर्ट्स पर्सनालिटी ऑफ़ द इयर ख़िताब मिला.
•    उन्होंने प्रत्येक सीजन में एक रेस जीती है, ऐसा करने वाले वह एकमात्र खिलाड़ी हैं.

Read More
Read Less
Share

दुनिया की पहली एमएमए सुपर फाइट लीग की मेजबानी करेगा भारत

भारत 26 अगस्त से एक अक्तूबर तक दुनिया की पहली मिश्रित मार्शल आर्ट्स (एमएमए) ‘सुपर फाइट लीग’ की मेजबानी करेगा.

•    फ्रेंचाइजी आधारित इस लीग में दिल्ली, उत्तरप्रदेश, मुंबई, हरियाणा, बेंगलूर, पंजाब, पुणे और गोवा की आठ टीमें हिस्सा लेंगी. 
•    यह लीग अनूप कुमार, सीजे सिंह, अमित राय, ध्रुव चौधरी जैसे भारत के एमएमए खिलाड़ियों को अपना कौशल दिखाने का मंच देगी.
•    दुनिया की पहली एमएमए सुपर फाइट लीग की मेजबानी करेगा भारत
•    प्रत्येक टीम में नौ भारतीय और तीन अंतरराष्ट्रीय फाइटर होंगे. 
•    महिलाओं को भी इस चैम्पियनशिप में बराबरी का मौका मिलेगा. 
•    पुरूष और महिला मिलाकर कुल 96 फाइटर चुनौती पेश करेंगे.
•    सुपर फाइट लीग के सीईओ बिल दोसांज के मुताबिक, "भारतका कल्चर विविधता से भरा हुआ है और जनसंख्या इसकी बड़ी ताकत है। 
•    सुपर फाइट लीग के पहले संस्करण में महिलाओं की कैटेगरी भी होगी, जोकि टूर्नामेंट में हर टीम के परिणाम में अहम भूमिका अदा करेगी। 
•    इस साल सुपर फाइट लीग में भारत और दुनिया के कुल 96 फाइटर्स शामिल होंगे, जिसमें महिला, पुरुष दोनों शामिल हैं। 
•    सुपर फाइट लीग में यह फाइटर्स दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मुंबई, हरियाणा, बैंगलोर, पंजाब, पुणे और गोवा की टीम होगी। 
•    हर टीम में 9 भारतीय और 3 अंतरराष्ट्रीय फाइटर्स होंगे। 
•    लीग स्टेज में कुल 72 बाउट्स होंगी, जिसके बाद 2 सेमीफाइनल, तीसरे-चौथे स्थान के लिए फाइट और फाइनल मुकाबला होगा

Read More
Read Less
Share

रियो ओलंपिक में अमूल बना भारतीय दल का आधिकारिक प्रायोजक

भारत के सबसे बड़े खाद्य उत्पाद मार्केटिंग संगठन-अमूल ने बुधवार को रियो ओलंपिक में भारतीय दल का आधिकारिक प्रायोजक बनने की घोषणा की। 

•    इस अनुबंध पर भारतीय ओलम्पिक संघ के महासचिव राजीव मेहता गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (अमूल) के प्रबंध निदेशक आर. एस. सोढ़ी ने हस्ताक्षर किए।
•    अमूल अब भारतीय दल का आधारिक प्रायोजक है। 
•    साल 2012 में अमूल लंदन ओलंपिक में भारतीय दल का प्रायोजक था। 
•    अमूल हमेशा से ही विभिन्न खेल-कूद आयोजनों का सक्रिय समर्थक रहा है, फिर चाहे एशियाई खेल हो या फिर राष्ट्रमंडल खेल या फिर दूसरे खेल आयोजन।
•    रियो ओलम्पिक का उद्घाटन 5 अगस्त को होगा। इस ओलम्पिक में अब तक सबसे बड़ा भारतीय दल शिरकत करेगा। इस दल में तकरीबन 100 खिलाड़ी मौजूद होंगे।
•    अमूल का उद्देश्य युवाओं के साथ सहयोग करना और दूध की शक्ति एवं खेल-कूद के बीच सम्पर्क का लाभ उठाना है। दूध किसी भी खिलाड़ी की फिटनेस का प्रमुख घटक है। इसलिये अमूल के लिये यह एक उपयुक्त सहयोग है।
•    अमूल द्वारा इस सहयोग को प्रचारित करने के लिए आगामी महीनों में दूध एवं विभिन्न डेयरी उत्पादों के लिए विज्ञापन अभियानों की सीरीज लॉन्च की जायेगी। 
•    अमूल ने 'ईट मिल्क विद एवरी मील' कैम्पेन शुरू किया है, जिसमें दैनिक आहार में दूध और डेयरी उत्पादों जैसे कि चीज, दही, मक्खन, घी, पनीर इत्यादि की अहमियत बताई गई है।
•    अमूल दूध पीता है इंडिया-अमूल का सर्वाधिक पसंदीदा कैम्पेन है और इसका इस्तेमाल भारतीय दल का उत्साह बढ़ाने के लिए किया जायेगा। 
•    भारत दुनिया भर में दूध का सबसे बड़ा निर्माता है और अमूल न सिर्फ भारत का बल्कि एशिया का सबसे बड़ा मिल्क ब्रांड है।

Read More
Read Less
Share

अर्जेंटीना महिला टीम ने 7वीं बार चैंपियंस हॉकी ख़िताब जीता

अर्जेंटीना महिला टीम ने 27 जून 2016 को वर्ष 2016 की चैंपियंस हॉकी ट्रॉफी ख़िताब जीता. 
•    ख़िताब पाने के लिए अर्जेंटीना ने नीदरलैंड्स को 2-1 से हराया. 
•    फाइनल मुकाबला इंग्लैंड के ली वैली हॉकी एवं टेनिस सेंटर में आयोजित किया गया. 
•    अर्जेंटीना ने लगातार तीसरी बार यह ख़िताब जीता तथा कुल सातवां ख़िताब था.
•    टूर्नामेंट में अर्जेंटीना की कप्तान कार्ला रेबेची ने सबसे अधिक 7 गोल किये. 
•    नीदरलैंड्स की जॉयसी सोम्ब्रोक को श्रेष्ठ गोल कीपर का ख़िताब दिया गया.
•    कांस्य पदक की दौड़ के लिए अमेरिका ने ऑस्ट्रेलिया को हराया. 
•    अमेरिका का यह पहला चैंपियंस ट्रॉफी मेडल था. इससे पहले 1995 में उन्होंने अर्जेंटीना में मार डेल प्लाटा में कांस्य पदक जीता था.

Read More
Read Less
Share

400 मीटर रेस में निर्मला ने कियो रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई

निर्मला शेरोन ने राष्ट्रीय अंतरराज्यीय सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर दौड़ 51.48 सेकेंड में पूरी करके अगले महीने होने वाले रियो ओलंपिक खेलों के लिये क्वालीफाई किया.
•    निर्मला ने कल 400 मीटर हीट में 52.35 सेकेंड का समय निकाला था और आज उन्होंने उसमें सुधार करके रियो का टिकट हासिल किया. 
•    हरियाणा की इस रनर ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके एम आर पूवम्मा के 2014 में बनाये गये 51.73 सेकेंड के मीट रिकॉर्ड को भी तोड़ा.
•    निर्मला भारत की तरफ रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली 24वीं ट्रैक एवं फील्ड एथलीट बन गयी है. 
•    उन्होंने ओलंपिक क्वालीफिकेशन का 52.20 सेकेंड का मार्क पार किया. उनका आज का प्रदर्शन भारत की तरफ से 400 मीटर में चौथा सर्वश्रेष्ठ समय है.
•    पीटी उषा की ट्रेनी जिसना मैथ्यू ने रजत और तमिलनाडु की पी वी सौंदर्य ने कांस्य पदक जीता.
•    पुरूषों की 400 मीटर दौड़ चंडीगढ़ के पंकज मलिक ने 47.40 सेकेंड के साथ जीती. 
•    केरल के जितिन पाल पुरूषों की 400 मीटर बाधा दौड़ में ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने में नाकाम रहे.

Read More
Read Less
Share

भारतीय शूटर संजीव ने विश्व कप शूटिंग में रजत पदक जीता

शूटर संजीव राजपूत ने आई.एस.एस.एफ  वर्ल्ड कप में मेंस 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता। 
•    इसी वर्ल्ड कप की स्कीट निशानेबाजी में मान सिंह ने क्वॉलिफाइंग दौर में चौथा स्थान हासिल किया। अब उनकी निगाह फाइनल पर है। 
•    रियो के लिए क्वॉलिफाइ कर चुके मैराज अहमद खान ने भी खुद को स्कीट के फाइनल की होड़ में बनाए रखा है। 
•    संजीव राजपूत ने रियो ओलिंपिक से पहले आयोजित अंतिम वर्ल्ड कप फाइनल में 456.9 पॉइंट जुटाए। 
•    क्रोएशिया के पीटर गोर्सा ने 457.5 पॉइंट्स के साथ गोल्ड, जबकि कोरिया के हियोनजुन किम ने 445.5 पाइंट के साथ ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया। 
•    ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट गगन नारंग 1161 पॉइंट के साथ 23वें स्थान पर रहे, जबकि चैन सिंह 1159 पॉइंट लेकर 32वें स्थान पर रहे। 
•    75 में से 74 पॉइंट: स्कीट शूटर मान सिंह ने आई.एस.एस.एफ वर्ल्ड कप के क्वॉलिफाइंग राउंड में चौथा स्थान हासिल कर फाइनल की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं। उन्होंने 75 में से 74 पॉइंट बनाए। रियो के लिए क्वालीफाई कर चुके मैराज अहमद खान ने भी 73 पॉइंट बनाते हुए खुद को फाइनल की रेस में बनाए रखा।

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers