• Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Jobs

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    विश्व के 100 सर्वश्रेष्ठ होटल सूची में 5 भारतीय होटल्स

    पांच भारतीय होटल ने 'ट्रेवल + लीजर' पत्रिका के 100 सर्वश्रेष्ठ होटल सूची में जगह बनाई है, जिसमे उदयपुर के ओबेराय उदयविलास 22 वें स्थान पर रहीं।

    •    पत्रिका द्वारा कराए गए एक सर्वेक्षण में, ओबेराय वन्याविल्लास (रणथंभौर), को 28वां स्थान मिला है जबकि ओबेराय राजविलास (जयपुर) 59वें स्थान पर रहा।
    •    सूची में लीला पैलेस नई दिल्ली और ताज लेक पैलेस (उदयपुर) भी शामिल थे।
    •    इंडोनेशिया के एक लक्जरी द्वीप रिसॉर्ट को 'ट्रेवल + लीजर' ने अपनी वार्षिक सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार में दुनिया में सबसे अच्छे होटल का स्थान दिया है।
    •    अल्पज्ञात द्वीप सुम्बा पर स्थित एक पूर्व सर्फ लॉज है जिसमे 28 विला है जिनमे निजी पूल के साथ साथ स्पा, घुड़सवारी केंद्र, और एक रेस्तरां है ।
    •    इस जगह पर £ 9,300 ($ 12,000) प्रति रात की कीमत है जिसमे लोग सूर्यास्त या सूर्योदय का मज़ा ले सकते हैं. इसके अलावा घुड़सवारी, विश्व स्तरीय सर्फिंग, आदि इस जगह की अपनी प्रसिद्द क्रियाएं हैं।
    •    सुम्बा द्वीप खुद बाली के मुकाबले दोगुने आकार का है लेकिन ये पूरी तरह से शहरी विकास से दूर संरक्षित हैं
    •    निहिवातु की प्रशंसा खासकर के स्थानीय समुदाय के साथ मजबूत रिश्तों के लिए की गयी।
    •    निहिवातु की स्थापना सबसे पहले एक अमेरिकी सर्फर और उनकी जर्मन पत्नी द्वारा 1988 में 10 कमरों के साथ की गयी
    •    लेकिन धीरे-धीरे अमेरिका के एक उद्यमी क्रिस बरच ने 2012 में इसे खरीद लिया ।

    Read More
    Read Less
    View All Comments
    Share

    भारत मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करने में दुनिया में चौथे स्थान पर

    भारत में मोबाइल उपभक्ताओं की लगातार बढ़ती संख्या का असर ये हुआ कि भारत मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करने में दुनिया में चौथे स्थान पर पहुँच गया है। 
    •    भारत में अभी टॉप डाउनलोड होने वाले ऐप में अमेरिकी कंपनी अमेजोन है। 
    •    जिसके बाद भारतीय कंपनियां फ्लिपकार्ट, स्नैपडील, पीटीएम, मिंत्रा, वोनिक, शॉपक्लूज, जोबांग, हैं।  
    •    यानी भारत दुनिया की चौथी सबसे बड़ी ऐप इकॉनमी बन गया है।
    •    मोबाइल एप्लीकेशन्स का विश्लेषण करने वाली संस्था एन्नी का कहना है कि ऐप डाउनलोड करने में भारत का स्थान  चीन अमेरिका और जापान के बाद आ गया है।  
    •    एन्नी का कहना है कि भारत में साल 2016 के अंत तक ऐप डाउनलोडिंग की संख्या 92 फीसदी बढ़ जाएगी। 
    •    साल 2016 में भारत में कुल 770 करोड़  डाउनलोडिंग होने की उम्मीद है। 
    •    जबकि चीन में साल 2016 में 4900 ऐप डाउनलोडिंग होने की सम्भावना है। 

    Read More
    Read Less
    Share

    भारत डिजिटल अर्थव्यवस्था की तैयारियों में 91वें पायदान पर

    डिजिटल अर्थव्यवस्था और समाज में बदलने की तैयारियों की वैश्विक सूची में भारत पिछड़कर 91वें स्थान पर पहुंच गया है। इस सूची में सिंगापुर शीर्ष पर है।

    •    अन्य प्रमुख बाजारों में भी भारत पीछे है। रूस इस सूची में 41वें स्थान पर है। 
    •    उसके बाद चीन पिछली बार से तीन स्थान चढ़कर 59वें, दक्षिण अफ्रीका 10 स्थान चढ़कर 65वें तथा ब्राजील 72वें स्थान पर है।
    •    जिनीवा स्थित विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) द्वारा आज जारी सालाना नेटवक्र्ड रेडिनेस इंडेक्स के अनुसार सिंगापुर इस सूची में एक बार फिर शीर्ष पर रहा है। 
    •    वहीं फिनलैंड दूसरे स्थान पर कायम है। इस सूची में शीर्ष दस स्थानों पर जो अन्य देश शामिल हैं उनमें स्वीडन, नॉर्वे, अमेरिका, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, ब्रिटेन, लग्जमबर्ग तथा जापान हैं।
    •    यह इंडेक्स डब्ल्यूईएफ की वैश्विक सूचना प्रौद्योगिकी रिपोर्ट का हिस्सा है। 
    •    इसमें विभिन्न देशों का आकलन डिजिटल अर्थव्यवस्था तथा समाज के लिए तैयारियों के आधार पर किया गया है।
    •    यह लगातार चौथा साल है जबकि भारत इस सूची में नीचे आया है। 2015 में भारत 89वें स्थान पर था, 2014 में 83वें तथा 2013 में 68 वें स्थान पर था। 
    •    जहां राजनीतिक तथा नियामकीय वातावरण के हिसाब से भारत की स्थिति सुधरी है और वह 78वें स्थान पर रहा है लेकिन कारोबार तथा नवोन्मेषण वातावरण के हिसाब से भारत 110वें स्थान पर फिसल गया है।

    Read More
    Read Less
    Share

    जवाहरलाल नेहरु बंदरगाह प्रत्येक कंटेनर की रेडियो टैगिंग करने वाला देश का पहला बंदरगाह बना

    जवाहरलाल नेहरु बंदरगाह 1 जुलाई 2016 को प्रत्येक कंटेनर की रसद का रेडियो टैगिंग एवं लॉजिस्टिक डाटा रखने वाला देश का पहला बंदरगाह बना.

    इससे आयात-निर्यात करने वाले व्यापारियों को उनके द्वारा मंगाई/भेजी गयी रसद की जानकारी रखना सुगम होगा.
    •    प्रत्येक कंटेनर के साथ एक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग (आरएफआईडी) लगाया जायेगा. इससे किसी भी स्थान पर मौजूद कंटेनर के स्थान की उचित जानकारी प्राप्त हो सकेगी.
    •    इससे रेल अथवा रोड द्वारा भेजे जाने वाले कंटेनरों की आवाजाही पर पारदर्शिता बनी रहेगी. 
    •    सप्लाई चेन के माध्यम से जुड़ी विभिन्न एजेंसियों द्वारा रियल टाइम जानकारी दी जा सकेगी.
    •    इससे समय की बचत होगी तथा लेन-देन की लागत तथा व्यापारियों की सुगमता हेतु मार्ग प्रशस्त होगा.
    •    यह भारत का सबसे बड़ा बंदरगाह है.
    •    यह महाराष्ट्र स्थित मुंबई के पूर्व में है. यह अरब सागर में स्थित है तथा यहां तक पहुंचने के लिए ठाणे क्रीक का सहारा लेना पड़ता है.
    •    इसे न्हावा शेवा बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है.
    •    इसका यह नाम न्हावा और शेवा नाम से नजदीकी गांवों के कारण रखा गया.
    •    यह पोर्ट भारतीय रेलवे द्वारा प्रस्तावित वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के रूप में भी जाना जाता है.

    Read More
    Read Less
    Share

    130 देशों के ह्यूमन कैपिटल इंडेक्स में भारत 105वें स्थान पर

    ‘ह्यूमनकैपिटल इंडेक्स’ यानी ग्रोथ में लोगों की भागीदारी के मामले में भारत काफी पीछे है। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने 130 देशों की सूची में भारत को 105वें स्थान पर रखा है। 
    •    पड़ोसी देशों में चीन 71वें नंबर पर है। और तो और, बांग्लादेश, भूटान और श्रीलंका भी भारत से ऊपर हैं। 
    •    पाकिस्तान हमसे नीचे, 118वें स्थान पर है। 
    •    फिनलैंड लगातार पहले नंबर पर बना हुआ है। 
    •    नॉर्वे और स्विट्जरलैंड भी क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर बरकरार हैं। 
    •    अमेरिका 17वें से खिसककर 24वें स्थान पर गया है। 
    •    ‘ह्यूमन कैपिटल इंडेक्स’ किसी देश की आर्थिक तरक्की के लिए कौशल विकास और स्किल्ड लोगों के इस्तेमाल की क्षमता को दर्शाता है। 
    •    पिछले साल 124 देशों की सूची में भारत 100वें स्थान पर था। 
    •    यह इंडेक्स चीन के तियानजिन शहर में जारी किया गया। यहां फोरम की ‘नए चैंपियंस की सालाना बैठक’ चल रही है। इसे ‘समर दावोस’ समिट भी कहा जाता है। 
    •    ज्यादा टेक ग्रेजुएट की वजह से सुधर सकती है रैंकिंग - {शिक्षाप्रणाली की गुणवत्ता के मामले में हम 39वें, स्टाफ ट्रेनिंग में 46वें और कुशल कर्मचारी पाने में 45वें नंबर पर हैं। 
    हमसे ऊपर के देशों में 
    •    श्रीलंका
    •    चीन
    •    भूटान
    •    बांग्लादेश
    •    भारत
    •    पाकिस्तान
    ‘ब्रिक्स’में सबसे नीचे भारत 
    •    रूस
    •    चीन 
    •    ब्राजील 
    •    द.अफ्रीका 
    •    भारत
    कम साक्षरता के कारण हमारी रैंकिंग इतनी नीचे - शिक्षास्तर में सुधार के बावजूद युवाओं में साक्षरता दर 89% तक ही पहुंच सकी है। इस लिहाज से भारत दुनिया में 103वें स्थान पर है। सिर्फ 57% मानव पूंजी का इस्तेमाल .फिनलैंड,नॉर्वे और स्विट्जरलैंड अपनी 85% मानव पूंजी का इस्तेमाल करते हैं। भारत में यह सिर्फ 57% है। 55 साल से ज्यादा उम्र वालों के वर्ग में जापान सबसे ऊपर है। 

    Read More
    Read Less
    Share

    विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में भारत की रैंकिंग 35वें स्थान पर

    विश्व बैंक ग्रुप के द्विवार्षिक ‘‘लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक-2016’’ में भारत की रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार हुआ है, जो 2014 के 54वें स्थान से बढ़ कर 35वें स्थान पर आ गई है। 
    •    यह घोषणा विश्व बैंक ग्रुप ने हाल ही में जारी अपनी रिपोर्ट में की है। ताजा रैंकिंग के अनुसार भारत ने न्यूजीलैंड, थाईलैंड, सउदी अरब, आईसलैंड, लात्विया और इंडोनेशिया जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया, जो पहले सूचकांक में भारत से आगे थे। 
    •    रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार इस बात को दर्शाता है कि भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालय और एजेंसिया भारत में व्यापार करना आसान बनाने के प्रति वचनबद्ध हैं। 
    •    विश्व बैंक के अध्यक्ष डॉ. जिम योंग किंग ने हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री से मिल कर इस उपलब्धि के लिए बधाई दी थी। 
    •    विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में नीति नियमन और आपूर्ति श्रृंखला निष्पादन परिणामों का अध्ययन करता है और सभी सूचियों में कार्य निष्पादन के आधार पर देशों का रैंक निर्धारित करता है। 
    •    यह सर्वेक्षण जमीनी स्तर पर आपरेटरों की फीडबैक के आधार पर किया जाता है, क्योंकि यही लोग लाजिस्टिक कार्य निष्पादन के पहलुओं का उत्कृष्ट मूल्यांकन कर सकते हैं। 
    •    लाजिस्टिक कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में भारत ने सर्वाधिक सुधार ‘‘सीमा शुल्क और सीमा प्रबंधन मंजूरी’’ के क्षेत्र में किया है। इस क्षेत्र में 2014 में वह 65वें स्थान पर था, जो 2016 में बढ़ कर 38वां स्थान हो गया। 
    •    खेपों का पता लगाने और उन पर निगरानी रखने की क्षमता, 57वें स्थान से सुधार करते हुए 34वां स्थान प्राप्त किया।
    •    व्यापार और परिवहन ढांचे की गुणवत्ता, 58वें स्थान से सुधार करते हुए 36वां स्थान प्राप्त किया और
    •    लाजिस्टिक्स सेवाओं की गुणवत्ता और सक्षमता, 52वें स्थान से सुधार करते हुए 32वां स्थान प्राप्त किया। 
    •    विश्व बैंक ग्रुप की द्विवार्षिक रिपोर्ट ‘कनेक्टिंग टू कम्पीट 2016: ट्रेड लाजिस्टिक्स इन ग्लोबल इकोनोमी, बुधवार को जारी की गई। 
    •    इसमें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की जटिलताओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। 
    •    रिपोर्ट में लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में लाजिस्टिक्स निष्पादन के महत्वपूर्ण मानदंडों के आधार पर 160 देशों की सूची दी गई है।

    Read More
    Read Less
    Share

    मानव पूंजी सूचकांक में भारत 105वें स्थान पर

    भारत विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) द्वारा जून 2016 में जारी मानव पूंजी सूचकांक में भारत 105वें स्थान पर है. डब्ल्यूईएफ की ताजा मानव पूंजी सूचकांक में कुल 130 देशों की सूची में भारत को 105वां स्थान मिला. इस सूची में फिनलैंड शीर्ष पर है.
    जेनेवा की गैर सरकारी संगठन वैश्विक आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने ‘नये चैम्पियन’ नाम से कराए जाने वाले वार्षिक सम्मेलन में यह रिपोर्ट जारी की. डब्ल्यूईएफ द्वारा जारी मानव पूंजी सूचकांक इस बात संकेत है कि कौन सा देश अपने लोगों के पालन पोषण, शिक्षण-प्रशिक्षण और विकास तथा प्रतिभाओं के उपयोग में कितना आगे है.
    •    डब्ल्यूईएफ की इस सूची में चीन 71वें स्थान पर और पाकिस्तान को 118वें स्थान पर है. 
    •    बांग्लादेश, भूटान और श्रीलंका सूचकांक में काफी ऊपर हैं. 
    •    सूची में बांग्लादेश, भूटान और श्रीलंका का स्थान भारत से ऊपर है.
    •    मंच ने भारत को 105वें स्थान पर रखते हुए कहा है कि देश अपनी मानव पूंजी की संभावनाओं का सिर्फ 57 प्रतिशत ही इस्तेमाल कर पा रहा है. 
    •    भारत पिछले साल इस सूचकांक में शामिल 124 देशों में 100वें स्थान पर था. 
    •    मंच ने कहा है कि विभिन्न आयु वर्गों में शिक्षा के क्षेत्र में भारत की ‘उपलब्धियां बढ़ी हैं’ पर इसकी युवा साक्षरता दर अभी सिर्फ 90 प्रतिशत है.
    •    इस मामले में भारत का विश्व में 103वां स्थान है और अन्य प्रमुख उभरते बाजारों से नीचे है. 
    •    इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत श्रम बल में महिलाओं की भागीदार में काफी पीछे है और ऐसा आंशिक तौर पर विश्व में रोजगार के मामले में स्त्री-पुरष असमानता के मामले में अंतर अधिक होने के कारण है. 
    •    सकारात्मक पक्ष यह है कि भारत को शैक्षणिक प्रणाली (39वां) की गुणवत्ता के लिहाज से बेहतर स्थान मिला है. 
    •    इसके अलावा भारत कर्मचारी प्रशिक्षण में 46वें और कुशल कर्मचारियों उपलब्धता से जुड़े संकेतक में 45वें स्थान पर है.
    •    इस रिपोर्ट में यह भी स्पष्ट किया गया कि भारत में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में डिग्रीधारकों की संख्या करीब 7.8 करोड़ है जबकि चीन में इनकी संख्या करीब 25 लाख है. 
    •    डब्ल्यूईएफ ने कहा कि वैश्विक स्तर पर लोगों के जीवन काल में शैक्षणिक, कौशल विकास और नियुक्ति के जरिए विश्व के सिर्फ 65 प्रतिशत प्रतिभा का सबसे अच्छे तरीके से इस्तेमाल हो पाता है. 
    •    इस सूचकांक में फिनलैंड, नार्वे और स्विट्जरलैंड शीर्ष तीन स्थान पर हैं जो अपनी मानव पूंजी का 85 प्रतिशत तक उपयोग करते हैं. 
    •    जहां तक 55 साल से अधिक उम्र की प्रतिभाओं के इस्तेमाल का सवाल है जापान इसमंअ आगे है.

    Read More
    Read Less
    Share

    स्वीडन में बना दुनिया का पहला इलैक्ट्रिक हाईवे

    स्वीडन दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जिस में ट्रकों के लिए 2 किलो मीटर लंबा इलैक्ट्रिक हाईवे बना है। 
    •    यह रोड गैवला शहर के नजदीक ई रोड नाम से जानी जाती है। 
    •    इलेक्ट्रिक टैमज़ की तरह इस ई-हाईवे पर सकैनिया हाइब्रिड ट्रक्स को टैस्ट किया जाएगा, जो बिजली की मदद के साथ इस हाईवे पर दौड़ेंगे। 
    •    जब ट्रक इन इलेक्ट्रिक वायर्स के साथ कुनैकट होता है तो इस में से 0 प्रतिशत ईंधन की निकासी होती है। 
    •    सीमंस (जो सकैनिया हाइब्रिड ट्रकों के लिए टेक स्पोर्ट देती है) का कहना है कि ई-हाईवे ट्रकों से आम से दोगुना काम ले सकता है, जिस के साथ ईंधन की बचत होने के साथ-साथ वातावरण भी साफ होगा। 
    •    स्वीडन की तरफ से इस को 2 साल तक टैस्ट कर वातावरण पर इस के प्रभाव को मापा जाएगा। 
    •    इस के इलावा सीमंस वोललो के साथ पार्टनरशिप कर कैलिफोर्निया में भी ई-हाईवे प्राजैकट पर काम करने का योजना बना रही है।

    Read More
    Read Less
    Share

    भारतीय पुरुष की 4x400मी रिले टीम ने 18 साल पुराना राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा

    भारतीय पुरुष 4x400 मी रिले टीम ने 12 जून 2016 को अंतरराष्ट्रीय स्प्रिंट और रिले टीम कप में तीन मिनट 02.17 सेकेंड का समय में नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया. 
    •    इस तरह उन्होंने बैंकाक में 1998 एशियई खेलों में बनाये गये पिछले तीन मिनट 02.62 सेकेंड के पिछले रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया.
    •    भारतीय महिला 4x400मी रिले टीम ने तीन मिनट 30.16 सेकेंड का समय निकाला. 
    •    मौजूदा एशियाई खेलों की चैम्पियन और रिकॉर्डधारी भारतीय टीम इस तरह विश्व रैंकिंग में 12वें नंबर पर पहुंच गयी है जिससे वह 2016 ओलंपिक खेलों के क्वालीफिकेशन के लिये मजबूत दावेदार के रूप में उभर रही है.
    •    इससे पहले भारतीय टीम प्रबंधन ने रिले स्पर्धाओं के दोनों वर्गों में दो दो टीमें उतारने का फैसला किया. 
    •    पुरुषों की दूसरी टीम (बी टीम) ने तीन मिनट 06.61 सेकेंड जबकि महिलाओं की दूसरी टीम (बी टीम) ने तीन मिनट 34.45 सेकेंड का समय निकाला. 
    •    पुरुषों की रिले टीम अभी विश्व रैकिंग में 17वें स्थान पर है.

    Read More
    Read Less
    Share

    केएल राहुल वनडे डेब्यू में शतक लगाने वाले पहले भारतीय

    अपना पहला मैच खेल रहे केएल राहुल ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से इस मैच को एकतरफा बना दिया. 

    •    जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला वनडे खेलने केएल राहुल ने शतक जड़कर टीम इंडिया को जीत दिलाई. 
    •    वह अपने पहले ही मैच में शतक बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं. 
    •    केएल राहुल से पहले वनडे डेब्यू में सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड रॉबिन उथप्पा के नाम दर्ज था, जिन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ 86 रन की पारी खेली थी. 
    •    अपने पहले ही वनडे मैच में हाफ सेंचुरी बनाने वाले भी राहुल दूसरे भारतीय ओपनर हैं. 
    •    यह कारनामा करने वाले पहले बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा थे.
    •    राहुल के साथ दूसरे छोर पर ओपनिंग के लिए उतरे करुण नायर का भी ये पहला वनडे मैच था, इस तर 1976 के बाद ये पहला मौका था जब वनडे में डेब्यू करने वाले दो भारतीय बल्लेबाजों ने ओपनिंग की. 
    •    इससे पहले 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ दिलीप वेंगसरकर और पार्थसारथी शर्मा ने अपना वनडे डेब्यू करते हुए ओपनिंग की थी. 
    •    हालांकि जहां राहुल सेंचुरी बनाने में सफल रहे तो वहीं नायर 20 गेंदों में सिर्फ 7 रन बनाकर आउट हो गए.
    •    इस पहले गेंदबाजी में भी टीम इंडिया ने कई रिकॉर्ड बनाए.
    •    इस मैच में भारतीय स्पिनर्स का इकॉनमी रेट 2.65 रहा, यह भारतीय स्पिनर्स का वनडे में नौवां सर्वश्रेष्ठ (जिस मैच में स्पिनर्स ने कम से कम 20 ओवर फेंके हों) प्रदर्शन है. 
    •    भारतीय गेंदबाजों ने जिम्बाब्वे के बल्लेबाजों को पहले 30 ओवरों में महज 91 रन बनाने दिए. 
    •    यह पिछले 10 वर्षों में टीम इंडिया के गेंदबाजों द्वारा 30 ओवरों में खर्च किए गए सबसे कम रन हैं.

    Read More
    Read Less

    All Rights Reserved Top Rankers