toprankers
  • Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    जी लर्न ने देबशंकर मुखोपाध्याय को सीईओ नियुक्त किया

    एस्सेल समूह की शिक्षा शाखा, जी लर्न ने 6 जुलाई 2016 को देबशंकर मुखोपाध्याय को मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किया. 
    एस्सेल समूह मीडिया, पैकेजिंग, मनोरंजन, शिक्षा आदि में संपत्ति की एक विविध पोर्टफोलियो के साथ भारत के सबसे प्रमुख व्यापारिक कम्पनी में से एक है.
    •    देबशंकर मुखोपाध्याय दक्षिण एशिया में शैक्षिक और वित्तीय क्षेत्रों में 20 वर्ष से अधिक का अनुभव रखते हैं.
    •    जी लर्न में नियुक्ति से पहले वह मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन सर्विसेज में शैक्षिक बिक्री, वित्तीय सेवा और बीमा के प्रमुख थे.
    •    उन्होंने मैक्स लाइफ इंश्योरेंस, वेस्टर्न यूनियन, स्कोलिस्टिक भारत, जी इंटरएक्टिव लर्निंग सिस्टम्स और डीएचएल वर्ल्डवाइड के साथ भी अपनी सेवाएं साझा की.
    •    शिक्षा के क्षेत्र में जी लर्न भारत की अग्रणी कंपनी है.
    •    एशिया की नंबर 1 (K-12) के 12 स्कूलों की प्री-स्कूल नेटवर्क श्रृंखला, माउंट लिटेरा, जी स्कूल और किडजी जी लर्न द्वारा ही संचालित की जाती है.
    •    (K-12) के 12 स्कूल की श्रृंखला माउंट लिटेरा, जी स्कूल को 2015 में भारतीय शैक्षिक कांग्रेस द्वारा सम्मानित किया गया.

    Read More
    Read Less
    Share

    रिजर्व बैंक ने सुदर्शन सेन को कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया

    सुदर्शन सेन को आज भारतीय रिजर्व बैंक ने कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया है। वे एन. एस. विश्वनाथन का स्थान लेंगे जिन्हें केंद्रीय बैंक का डिप्टी गवर्नर चुना गया है।
    •    रिजर्व बैंक ने एक विज्ञप्ति में बताया कि सेन ने आज अपना पदभार संभाल लिया है।
    •    सेन केंद्रीय बैंक में बैंकिंग विनियमन विभाग, सहकारी बैंक विनियमन विभाग और गैर बैंकिंग विनियमन विभाग का कार्यभार देखेंगे।
    •    इससे पहले सेन बैंक में बैंकिंग विनियमन विभाग के प्रभारी थे। वह रिजर्व बैंक के अहमदाबाद क्षेत्र के क्षेत्रीय निदेशक के तौर पर भी कार्य कर चुके हैं।
    •    सेन ने ब्रिटेन के बर्मिंघम विश्वविद्यालय से अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग एवं फाइनांस में एमबीए की डिग्री प्राप्त की है।
    •    भारतीय रिजर्व बैंक भारत का केन्द्रीय बैंक है। यह भारत के सभी बैंकों का संचालक है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है।
    •    इसमें कहा गया है कि आईआईटी, मुंबई से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में बीटेक और सिस्टम्स एंड कंट्रोल में एमटेक करने वाले ढेकने वर्ष 1983 में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केन्द्र से जुड़े थे।
    •    ढेकने के पास प्रक्षेपण यान के नियंत्रण, सॉफ्टवेयर के विकास, मिशन की योजना बनाने और विश्लेषण का लंबा और व्यापक अनुभव है।
    •    इसरो जड़त्वीय प्रणाली इकाई (आईआईएसयू) लांच वाहनों और अन्तरिक्ष यानों के लिए जड़त्वीय प्रणाली के क्षेत्र में कर्यरत एक उत्कृष्ट केंद्र है। 
    •    आईआईएसयू में जड़त्वीय संवेदकों व प्रणालियों तथा उनसे संबंधित उपग्रह धटकों के क्षेत्र में अनुसंधान तथा विकास कार्य किए जाते हैं। 
    •    यहां पर परिशुद्ध निर्माण, संयोजन, एकीकरण और परीक्षण के लिए स्वच्छ कक्ष की सुविधा उपलब्ध है। 
    •    यह यूनिट संपूर्ण भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के वास्ते जड़त्वीय प्रणालियों के डिजाइन, इंजीनियरी, विकास व उन्हें निष्पादन योग्य बनाकर उपलब्ध कराने में सक्षम है।

    Read More
    Read Less
    Share

    प्रधान मंत्री ने केबिनेट में 19 नए मंत्री शामिल किए

    नरेंद्र मोदी ने 05 जुलाई 2016 को कैबिनेट में 10 राज्यों से 19 नए मंत्रियों को शामिल किया. एन्वायरन्मेंट मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर को राज्य मंत्री से प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. पांच पुराने मंत्रियों निहालचंद, रामशंकर कठेरिया, सांवरलाल जाट, मनसुखभाई डी. वासवा और एमके. कुंदरिया ने इस्तीफा दिया.
    •    फग्गन सिंह कुलस्ते - ये एक प्रमुख आदिवासी नेता होने के साथ साथ मध्य-प्रदेश के बरबटी से सांसद हैं।
    •    सुरेंद्रजीत सिंह अहलूवालिया - ये दार्जिलिंग से सांसद हैं।
    •    रमेश चंदप्पा जिग्जिनगी - रमेश एक दलित नेता होने के साथ साथ बीजापुर, कर्नाटक से (पांच बार) लोकसभा सांसद रह चुके हैं
    •    विजय गोयल - वह दिल्ली से भाजपा के नेता है लेकिन इन्हें राजाथान से राज्यसभा के लिए चुना गया।
    •    रामदास अठावले - वह रिपब्लिकन पार्टी के मुखिया हैं और इन पार्टी से एकमात्र राज्यसभा सदस्य हैं । 
    •    राजेन गोहैन - राजेन असम से भाजपा के सांसद हैं । 
    •    अनिल माधव दवे - ये मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं और साथ ही एक पर्यावरणविद हैं ।
    •    परषोत्तम रूपाला - ये गुजरात से राज्यसभा सांसद हैं ।
    •    एमजे अकबर - मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं ।
    •    अर्जुन राम मेघवाल - ये बीकानेर, राजस्थान से लोकसभा सांसद हैं
    •    जसवंत सिंह भाभोर - ये एक आदिवासी नेता होने के साथ साथ गुजरात में दाहोद विधानसभा के सदस्य हैं ।
    •    डॉ महेंद्र नाथ पांडेय - ये चंदौली, उत्तर प्रदेश से भाजपा के लोकसभा सांसद हैं । 
    •    अजय टम्टा - ये चुनावी क्षेत्र अल्मोड़ा से लोकसभा सदस्य है
    •    कृष्णा राज - ये एक दलित नेता होने के साथ साथ उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से लोकसभा सदस्य है।
    •    मनसुख मंडविया - गुजरात में भावनगर के निवासी हैं और गुजरात से ही राज्यसभा सांसद हैं ।
    •    अनुप्रिया सिंह पटेल - ये उत्तर-प्रदेश मिर्जापुर से लोकसभा सांसद हैं
    •    सी आर चौधरी - ये नागौर, राजस्थान से भाजपा के सांसद हैं।
    •    पी पी चौधरी - ये पाली, राजस्थान से लोकसभा सांसद हैं और साथ ही ये ओबीसी जाती के अंतर्गत आते हैं ।
    •    डॉ सुभाष भामरे -  ये धुले, महाराष्ट्र से भाजपा के लोकसभा सांसद हैं ।
    मोदी सरकार में शामिल सभी नए मंत्रियों को विभिन्न क्षेत्रों से लिया गया है जिनके पास अपने-अपने क्षेत्रों से जुड़ा पुराना अनुभव है. 
    वहीं सुभाष राम राव भामरे कैंसर के मशहूर डॉक्टर हैं. एम जे अकबर लंबे समय से पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी सेवाएं देते रहे हैं और वो पूर्व में संपादक भी रह चुके हैं जिन्हें अंतराष्ट्रीय स्तर पर पत्रकारिता के लिए कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है. 
    नई प्रतिभाओं और नए आइडिया को मौका देने के लिए कैबिनेट में युवाओं को भी जगह दी है. अनुप्रिया पटेल और रामदास आठवले के अलावा मंत्री बनाए गए सभी नेता भाजपा से हैं।

    Read More
    Read Less
    Share

    एम. वी. ढेकने ने आईआईएसयू के निदेशक का पदभार संभाला

    जाने-माने वैज्ञानिक एम. वी. ढेकने ने वट्टीयूरकावु में अंतरिक्ष विभाग के इसरो जड़त्वीय प्रणाली यूनिट आईआईएसयू के निदेशक का पदभार संभाल लिया है। 
    •    एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि ढेकने ने एक जुलाई को पदभार संभाला। वह आईआईएसयू के सातवें निदेशक बनाए गए हैं। 
    •    इसमें कहा गया है कि आईआईटी, मुंबई से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में बीटेक और सिस्टम्स एंड कंट्रोल में एमटेक करने वाले ढेकने वर्ष 1983 में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केन्द्र से जुड़े थे।
    •    ढेकने के पास प्रक्षेपण यान के नियंत्रण, सॉफ्टवेयर के विकास, मिशन की योजना बनाने और विश्लेषण का लंबा और व्यापक अनुभव है।
    •    इसरो जड़त्वीय प्रणाली इकाई (आईआईएसयू) लांच वाहनों और अन्तरिक्ष यानों के लिए जड़त्वीय प्रणाली के क्षेत्र में कर्यरत एक उत्कृष्ट केंद्र है। 
    •    आईआईएसयू में जड़त्वीय संवेदकों व प्रणालियों तथा उनसे संबंधित उपग्रह धटकों के क्षेत्र में अनुसंधान तथा विकास कार्य किए जाते हैं। 
    •    यहां पर परिशुद्ध निर्माण, संयोजन, एकीकरण और परीक्षण के लिए स्वच्छ कक्ष की सुविधा उपलब्ध है। 
    •    यह यूनिट संपूर्ण भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के वास्ते जड़त्वीय प्रणालियों के डिजाइन, इंजीनियरी, विकास व उन्हें निष्पादन योग्य बनाकर उपलब्ध कराने में सक्षम है।

    Read More
    Read Less
    Share

    फिलीपीन के 16वें राष्ट्रपति बने दुतेर्ते

    अपराध के खिलाफ कठोर एवं बेहद विवादास्पद युद्ध छेड़ने का वादा करने वाले तेजतर्रार नेता रोड्रिगो दुतेर्ते ने फिलीपीन के राष्ट्रपति के रूप में गुरुवार (30 जून) को शपथ ग्रहण की। 
    •    दुतेर्ते ने परंपरा के विपरीत फिलीपीन के पूर्ववर्ती नेताओं की तरह बड़ी जनसभा के बजाए मलाकानांग राष्ट्रपति भवन के भीतर दर्शकों की छोटी की संख्या के समक्ष शपथ ग्रहण की। 
    •    दुतेर्ते ने शपथ ग्रहण करने के बाद कहा, ‘कोई नेता, कितना भी मजबूत क्यों न हो, वह राष्ट्रीय महत्ता वाली किसी भी चीज में तब तक सफल नहीं हो सकता जब तक उसे उन लोगों का समर्थन एवं सहयोग नहीं मिलता जिनके नेतृत्व का उसे कार्यभार सौंपा गया है।’ 
    •    दावाओ के मेयर के रूप में लंबे समय तक सेवाएं देने वाले दुतेर्ते के अपराध विरोधी कार्यक्रम में मृत्युदंड को फिर से लागू करना, सुरक्षा सेवाओं को सीधे गोली मारने के आदेश जारी करना और नशीले पदार्थों के व्यापार में शामिल लोगों के शवों के लिए उन्हें पुरस्कार देने का प्रस्ताव देने जैसी योजनाएं शामिल हैं। 
    •    उन्होंने फिलीपीन के आम नागरिकों से भी संदिग्ध अपराधियों को जान से मारने को कहा है। 
    •    शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाकर और बच्चों के लिए रात में कर्फ्यू लगाकर सामाजिक स्वतंत्रता पर लगाम लगाना दुतेर्ते (71) की कानून-व्यवस्था बनाए रखने की नीति का एक अन्य अहम हिस्सा है। 
    •    दुतेर्ते ने एक भड़काऊ मुहिम के बाद पिछले महीने हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में भारी बहुमत से जीत हासिल की थी। 

    Read More
    Read Less
    Share

    अमेज़न दुनिया की सबसे स्मार्ट कंपनी

    एमआईटी प्रौद्योगिकी की समीक्षा संपादकों ने 50 सबसे अच्छी कंपनियों की लिस्ट बनाई है।
    •    प्रत्येक वर्ष यह 50 स्मार्ट कंपनियों की लिस्ट बनाती है ।
    •    इस वर्ष कुछ बड़ी कंपनियों में, अमेजन शामिल है।
    •    इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट, बॉश, टोयोटा, और इंटेल जैसी कंपनियों की लिस्ट भी प्रतिस्पर्धा में हैं ।
    •    जेफ बेजोस की ऑनलाइन के नेतृत्व वाली खुदरा कंपनी अमेज़न को एक प्रभावी व्यापार मॉडल के साथ नवीन प्रौद्योगिकी के संयोजन के लिए दुनिया के सबसे बेहतरीन कंपनियों में से एमआईटी की वार्षिक सूची में शामिल किया गया है।
    •    चीनी वेब सेवा कंपनी बाइएदु और दुनिया के सबसे बड़े डीएनए अनुक्रमण कंपनी को उदबोधन में क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान दिया गया है।
    •    अमेज़न एक ई-कॉमर्स कंपनी है जहाँ से कपड़ों से लेकर मशीन की खरीदारी की जा सकती है 
    •    अमेज़न दुनियाभर में सबसे ज्यादा मशहूर कंपनी होने के साथ-साथ इसका मोबाइल एप्लीकेशन भी बहुत मशहूर हुआ है 
    •    शोध पत्रिका नेचर कम्युनिकेशंस में ये शोध प्रकाशित हुआ था।

    Read More
    Read Less
    Share

    आइसलैंड राष्ट्रपति चुनाव में विजयी हुए प्रोफेसर जोहानसन

    आइसलैंड में राजनीति के नए चेहरे एवं इतिहास के प्रोफेसर गुडनी जोहानसन ने 39.1 प्रतिशत वोटों के साथ राष्ट्रपति चुनाव में जीत हासिल कर ली है। 
    •    इस आशय की घोषणा सार्वजनिक टीवी चैनल ‘आरयूवी’ पर रविवार (26 जून) की गयी। 
    •    अप्रैल में हुए तथा-कथित पनामा पेपर्स लीक के बाद जोहानसन ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का फैसला लिया। इस पेपर्स लीक में विदेशों में मौजूद बैंक खातों का ब्योरा था, जिसमें आइसलैंड के कई नेताओं का भी नाम था। 
    •    पूरे चुनाव प्रचार के दौरान सत्ता-विरोधी लहर पर सवार रहे और अपने गैर-विभाजनकारी, स्वतंत्र राष्ट्रपतित्व के दृष्टिकोण पर जोर देते रहे। 
    •    यह जीत उनके लिए बड़ी खुशी लेकर आई है क्योंकि प्रोफेसर रविवार (26 जून) को अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं। 
    •    बिना किसी पार्टी के समर्थन चुनाव लड़ रही महिला उद्योगपति हाला तोमास्डोतिर 27.9 प्रतिशत मतों के साथ दूसरे स्थान पर रही हैं। 
    •    आइसलैंड में राष्ट्रपति का पद भारतीय राष्ट्रपति के पद के समान ही है। देश में ज्यादा महत्वपूर्ण आम चुनाव वसंत के मौसम में होने हैं। 
    •    जोहानसन अब 73 वर्षीय उलोफुर रगनार ग्रिमसन का स्थान लेंगे। वह पिछले 20 वर्ष से राष्ट्रप्रमुख हैं। 

    Read More
    Read Less
    Share

    सुजॉय बोस को राष्ट्रीय निवेश एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया

    केंद्र सरकार ने सुजॉय बोस को 27 जून 2016 को नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर फंड का सीईओ नियुक्त किया है. राष्ट्रीय निवेश एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड का इस्तेमाल कमर्शियल प्रोजेक्ट में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए किया जाता है. सुजॉय बोस के नाम पर मुहर पीएम ऑफिस से लगी है.
    •    बोस अभी इंफ्रास्ट्रक्चर एंड नुचेरल रिसोर्स एट इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन के ग्लोबल को-हेड हैं.
    •    वे पहले आईएफसी के अफ्रीकन लैटिन अमेरिकन और कैरिबियन फंड के चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफिसर रह चुके हैं.
    •    उन्होंने राइस विश्वविद्यालय से एमबीए और सेंट जेवियर्स कॉलेज, कोलकाता से वाणिज्य में स्नातक किया.
    •    राष्ट्रीय निवेश एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ) की स्था्पना भारत सरकार द्वारा 40,000 करोड़ रुपये के अपेक्षि‍त प्रारंभि‍क कोष (कॉर्पस) के साथ की गई है.
    •    इसका उद्देश्य घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों ही स्रोतों से निवेश को आकर्षित करना है.
    •    भारत के बुनियादी ढांचागत क्षेत्र में राष्ट्रीय निवेश एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ) लिमिटेड और कतर निवेश प्राधिकरण (क्यूीआईए) के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये गए.

    Read More
    Read Less
    Share

    नोकिया ने संजय मलिक को भारत ईकाई का प्रमुख बनाया

    नोकिया ने 24 जून 2016 को संजय मलिक को भारतीय बाज़ार का प्रमुख घोषित किया. उनका कार्यकाल 1 अगस्त 2016 से प्रभावी होगा.
    •    वे व्यापार विकास रणनीति तथा बेहतर ग्राहक सेवाओं के लिए अपनी सेवाएं देंगे. उनका ऑफिस गुडगांव में होगा.
    •    मलिक इस पद पर वर्ष 2011 से आसीन संदीप गिरोत्रा का स्थान लेंगे.
    •    वर्तमान में मलिक नोकिया ग्लोबल सर्विसेज में नेटवर्क इम्प्लीमेंटेशन के प्रमुख हैं.
    •    उन्हें कम्पनी के लिए बेहतर कार्यप्रणाली स्थापित करने तथा व्यापार में वृद्धि करने हेतु श्रेय दिया जाता है.
    •    उन्होंने वर्ष 2000 में नोकिया में कार्य आरंभ किया था.
    •    इससे पहले वे भारती जीसीबीटी के अध्यक्ष थे.
    •    यह फ़िनलैंड की अंतरराष्ट्रीय कम्युनिकेशन एवं सूचना प्रसारण कम्पनी है.
    •    इसकी स्थापना वर्ष 1865 में हुई थी.
    •    इसका मुख्यालय युसिमा, एस्पू में स्थित है.
    •    यह एक सार्वजनिक सीमित देयता कम्पनी है जो हेलसिंकी स्टॉक एक्सचेंज और न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध है.
    •    फार्च्यून ग्लोबल 500 के अनुसार, यह विश्व की 274वीं (2013 के आंकड़ों के अनुसार) सबसे विशाल कम्पनी है. 
    •    कम्पनी ने 2011 में माइक्रोसॉफ्ट के साथ एक समझौते के तहत विंडोज फ़ोन प्रयोग करने का अधिकार हासिल किया.

    Read More
    Read Less
    Share

    लालचंद राजपूत अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच नियुक्त

    पूर्व भारतीय बल्लेबाज लालचंद राजपूत को 25 जून 2016 को अफगानिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया. वे पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक की जगह लेंगे जिन्होंने अप्रैल में इस्तीफा दे दिया था.
    •    राजपूत के नाम की सिफारिश बीसीसीआई ने की थी. उन्होंने इस पद के लिए पाकिस्तान के मोहम्मद यूसुफ, दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स और वेस्टइंडीज के कोरी कोलीमोर को पछाड़ा.
    •    वे स्कॉटलैंड, आयरलैंड और नीदरलैंड के दौरे के लिए टीम से जुड़ेंगे.
    •    लालचंद राजपूत का जन्म 18 दिसम्बर 1961 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ.
    •    भारत के क्रिकेट खिलाड़ी लालचंद राजपूत दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं.

    •    राजपूत भारत की अंडर 19 क्रिकेट टीम के अलावा आईपीएल में मुंबई इंडियन्स को भी कोचिंग दे चुके हैं.
    •    राजपूत तकनीकी और पेशेवर रूप से क्रिकेट के मजबूत कोच हैं.
    •    राजपूत ने 1985 से 1987 के बीच भारत की ओर से दो टेस्ट और चार एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं.
    •    संन्यास के बाद राजपूत मुंबई क्रिकेट संघ के संयुक्त सचिव रहे.
    •    वे कोचिंग से भी जुड़े रहे और भारत की अंडर 19 और ए टीमों के साथ कोच के रूप में सफल रहे.
    •    राजपूत 2007 में पहला विश्व टी20 जीतने वाली भारतीय टीम के मैनेजर भी थे.
    •    उन्होंने 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियन्स के कोच की भूमिका भी निभाई.

    Read More
    Read Less

    All Rights Reserved Top Rankers