• Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Jobs

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘द बर्ड्स ऑफ बन्नी ग्रासलैंड’ पुस्तक का विमोचन किया

    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली में ‘द बर्ड्स ऑफ बन्नी ग्रासलैंड’ नामक पुस्तक का विमोचन किया। 
    •    प्रधानमंत्री को यह पुस्तक गुजरात इंस्टीट्यूट ऑफ डेजर्ट इकोलॉजी (जीयूआईडीई) के वैज्ञानिकों ने भेंट की। 
    •    यह पुस्तक गुजरात में कच्छ के बन्नी क्षेत्र में पाए जाने वाली पक्षियों की 250 प्रजातियों पर किए गए शोध कार्यों का संग्रह है। 
    •    गुजरात इंस्टीट्यूट ऑफ डेजर्ट इकोलॉजी भुज में है। 
    •    यह संस्थान पिछले 15 साल से अधिक समय से पौधों, पक्षियों और कच्छ के रन में मौजूद समुद्री जीवन के बारे में अध्ययन कर रहा है।
    •    गुजरात यात्रा कच्छ जिले के भ्रमण के बिना अधूरी मानी जाती है। 
    •    पर्यटकों को लुभाने के लिए यहां बहुत कुछ है। 
    •    जिले का मुख्यालय है भुज। 
    •    जिले में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हर वर्ष कच्छ महोत्सव आयोजित किया जाता है। 
    •    45652 वर्ग किमी. के क्षेत्रफल में फैले गुजरात के इस सबसे बड़े जिले का अधिकांश हिस्सा रेतीला और दलदली है। 
    •    जखाऊ, कांडला और मुन्द्रा यहां के मुख्‍य बंदरगाह हैं। 
    •    जिले में अनेक ऐतिहासिक इमारतें, मंदिर, मस्जिद, हिल स्टेशन आदि पर्यटन स्थलों को देखा जा सकता है।

    Read More
    Read Less
    Share

    डॉ के पी माथुर द्वारा लिखित द अनसीन इंदिरा गांधी का लोकार्पण

    डॉ के पी माथुर द्वारा लिखित पुस्तक द अनसीन इंदिरा गांधी का मई 2016 को लोकार्पण किया गया. डॉ माथुर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के निजी चिकित्सक थे. वे इस पद पर लगभग 20 वर्ष तक, 1984 में उनके देहावसान तक, उनकी सेवा में रहे.
    •    यह पुस्तक कोणार्क प्रकाशन द्वारा प्रकाशित की गयी.
    •    इस पुस्तक द्वारा इंदिरा गांधी के निजी एवं राजनैतिक जीवन के कुछ अनछुए पहलुओं को उजागर किया गया है. 
    •    इस पुस्तक की प्रस्तावना उनकी पोती प्रियंका गांधी द्वारा लिखी गयी है.
    •    151 पृष्ठों की पुस्तक में बताया गया है कि इंदिरा गांधी 1966 में सत्ता में आने पर काफी चिंतित थीं.
    •    इसमें उनके जीवन के विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डाला गया है: 1971 बांग्लादेश युद्ध, पोखरण परमाणु परीक्षण 1974, आपातकाल की घोषणा, संजय गांधी की मृत्यु एवं मेनका गांधी द्वारा परिवार से पृथक होने के कारण.
    •    पुस्तक में डॉ माथुर ने बताया है कि इंदिरा गांधी का अपनी बड़ी बहू सोनिया गांधी से काफी लगाव था. संजय गांधी की मृत्यु के पश्चात् वे मेनका से भी लगाव रखने लगीं, वे चाहती थीं कि मेनका राजनीति में उनका साथ दें.
    •    पुस्तक में लेखक द्वारा जुटाई गयी जानकारी को पृष्ठों पर उदृत किया गया है.
    •    पुस्तक में इंदिरा गांधी के इंग्लैंड की पूर्व प्रधानमंत्री मारग्रेट थैचर से संबंधों पर भी प्रकाश डाला गया है.

    Read More
    Read Less
    Share

    दक्षिण कोरिया की लेखिका हान कांग ने जीता बुकर प्राइज

    दक्षिण कोरिया की लेखिका हान कांग के उपन्यास 'द वेजीटेरियन' ने वर्ष 2016 का प्रतिष्ठित मान बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीता है। 
    •    कांग ने नोबेल पुरस्कार विजेता ओरहान पामुक और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक बिकने वाली पुस्तकों की लेखिका एलेना फेरेंट को पीछे छोड़कर 50 हजार पाउंड (करीब 48 लाख रुपये) का पुरस्कार जीता है। 
    •    पांच जजों के पैनल ने 'द वेजीटेरियन' को 155 पुस्तकों में सर्वसम्मति से सर्वश्रेष्ठ उपन्यास चुना गया।
    •    सियोल इंस्टीट्यूट ऑफ द आर्ट्स में कलात्मक लेखन पढ़ाने वाली कांग दक्षिण कोरिया की लोकप्रिय लेखिका हैं। 
    •    वह देश के कई प्रतिष्ठित पुरस्कार भी जीत चुकी हैं। 'द वेजीटेरियन' उनका अंग्रेजी में अनुवाद हुआ पहला उपन्यास है। 
    •    उसका 28 साल की स्मिथ ने अनुवाद किया, जिन्होंने महज सात साल पहले कोरियाई भाषा सीखी। 'द वेजीटेरियन' तीन भागों को विभक्त उपन्यास है।

    Read More
    Read Less
    Share

    नील जॉर्डन द्वारा लिखित पुस्तक द ड्रान्ड डिटेक्टिव का लोकार्पण

    नील जॉर्डन द्वारा लिखित पुस्तक द ड्रान्ड डिटेक्टिव एक ऐसे निजी जासूस पर आधारित कहानी है जो पूर्वी यूरोपीय देशों में बेहतर अवसर की तलाश में आता है, 
    •    उसे बताया जाता है कि पूर्व सोवियत देशों में अवसरों की भरमार है.
    •    इस कहानी में जासूस उसी देश के एक साथी के साथ वहां रहता है एवं वहीं अपराधियों को ढूंढता है एवं खोये हुए लोगों की तलाश करता है.
    •    पुस्तक के पहले कुछ पृष्ठों में एक मंत्री की कहानी है जो अपनी पत्नी को धोखे में रखता है.
    •    इस मंत्री का जोनाथन नाम के एक जासूस द्वारा पीछा किया जाता है.
    •    एक दिन, एक वृद्ध युगल जोनाथन के पास अपनी खोई हुई बेटी को खोजने के लिए अनुरोध लेकर आता है.
    •     जोनाथन बच्ची की धुंधली तस्वीर देख कर उसे ढूंढने को मजबूर हो जाता है क्योंकि यह तस्वीर उसकी बेटी से मिलती जुलती है.
    •    नील पैट्रिक जॉर्डन एक आयरिश फिल्म निर्माता, लेखक एवं उपन्यासकार हैं.
    •    उन्होंने द बुचर बॉय के लिए बर्लिन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में सिल्वर बेयर अवार्ड भी जीता.

    Read More
    Read Less
    Share

    असीम छाबड़ा द्वारा लिखित शशि कपूर, द हाउसहोल्डर, द स्टार का लोकार्पण

    बॉलीवुड के सदाबहार सितारे शशि कपूर की जीवनी शशि कपूर – द हाउसहोल्डर, द स्टार का 6 मई 2016 को लोकार्पण किया गया.इस पुस्तक में शशि कपूर के जीवन एवं उनके व्यक्तित्व के बारे में लिखा गया है, इसे फिल्म जर्नलिस्ट असीम छाबड़ा द्वारा लिखा गया है. यह इस लेखक की पहली जीवनी है.
    •    18 मार्च 1938 को बलबीर राज पृथ्वीराज कपूर के नाम से जन्मे शशि कपूर भारतीय फिल्मों के फिल्म कलाकार एवं फिल्म निर्माता हैं.
    •    वे हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में फिल्म निर्देशक एवं सहायक निर्देशक भी रह चुके हैं.
    •    उन्होंने वर्ष 1940 से बचपन में ही फिल्मों में काम करना आरंभ कर दिया था. 
    •    उस समय उन्होंने ‘संग्राम’ एवं ‘दाना पानी’ में शशिराज नाम से भूमिका निभाई.
    •    बाल कलाकार के रूप में उन्होंने आग एवं आवारा में प्रशंसनीय भूमिकाएं निभाईं.
    •    वर्ष 1961 में उन्होंने फिल्म धरमपुत्र में मुख्य भूमिका निभाई.
    •    वर्ष 2011 में उन्हें पदम् भूषण से सम्मानित किया गया.
    •    वर्ष 2015 में उन्हें दादासाहेब फाल्के पुरस्कार-2014 से सम्मानित किया गया. 
    •    पृथ्वीराज कपूर एवं राज कपूर के बाद कपूर परिवार के तीसरे सदस्य हैं जिन्हें यह सम्मान दिया गया.

    Read More
    Read Less

    All Rights Reserved Top Rankers