toprankers
  • Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    शांगरी-ला सम्मेलन का सिंगापुर में उद्घाटन

    चीन के केंद्रीय सैन्य आयोग के संयुक्त स्टाफ विभाग के उप प्रमुख एडमिरल सुन जियांगू शांगरी-ला सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर चीन के रुख को स्पष्ट करेंगे।
    •    चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता यांग युजुन ने चीनी मीडिया से कहा कि एडमिरल सुन रविवार को 15वें शांगरी-ला डायलॉग के विस्तृत सत्र में 'विवाद सुलझाने की चुनौतियों' पर आधारित एक भाषण देंगे।
    •    प्रवक्ता के अनुसार सुन विश्व और एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने में चीनी सेना के प्रयासों और अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय सुरक्षा मुद्दों पर चीन की स्थिति की जानकारी देंगे। 
    •    शांगरी-ला डायलॉग के मौके पर सुन 10 से अधिक देशों के रक्षा मंत्रियों, सैन्य प्रमुखों, उच्च रक्षा अधिकारियों से मिल कर साझा हित के मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। 
    •    15वां शांगरी-ला डायलॉग (एशिया-प्रशांत रक्षा और सुरक्षा शिखर सम्मेलन) शुक्रवार को सिंगापुर में शुरू हुआ। 
    •    इस वर्ष की वार्ता में 52 देशों और क्षेत्रों के 32 सरकारी प्रतिनिधिमंडल सहित 560 से अधिक प्रतिनिधि भाग लेंगे।
    •    

    Read More
    Read Less
    Share

    लक्षद्वीप में नौसेना डीटैच्मन्ट का उद्घाटन

    लक्षद्वीप के एंद्रोध द्वीप में नौसेना डीटैच्मन्ट का 26 अप्रैल 2016 को उद्घाटन हुआ. दक्षिणी नौसेना कमांड के फ्लैग कमांडिंग- इन- चीफ के वाइस एडमिरल गिरीश लुथरा ने इसका उद्घाटन किया.
    •    एंद्रोध द्वीप में इस नौसेना डीटैच्मन्ट की स्थाकपना, नौसना की मौजूदगी के साथ मुख्य6 भूभाग के साथ संपर्क नेटवर्क प्रदान करेगा, रडार निगरानी के साथ ही सामुद्रिक लेन संचार(एसएलआसी) निगरानी तथा इसे एक स्वितंत्र संस्थामन के रूप में कार्य में सक्षम करेगा. 
    •    इस डीटैच्मन्ट के अफसर-इन चार्ज ले.कमोडोर अनगोम बी सिंह होंगे जो नवल अफसर- इन-चार्ज (लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप) के तहत काम करेंगे. 
    •    एल एंड एम के सभी दलों और एजेंसिंयों के समर्थन के कारण इस डीटैच्मन्ट की स्थानपाना समय पर हो सकी.
    •    विदित हो कि अरब सागर में लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप सामरिक महत्वर के स्थाडन हैं. इन द्वीपों के पास से कई शिपिंग लेन गुजरती हैं. 
    •    एंद्रोध द्वीप में नौसेना डीटैच्मन्ट (एनवीडीईटी) की स्था पना नौसेना की निगरानी की क्षमता को बढ़ाएगा जिससे सामुद्रिक सुरक्षा और स्थिरता बढ़ेगी.

    Read More
    Read Less
    Share

    हार्ट ऑफ़ एशिया सम्मेलन दिल्ली में आरंभ

    हार्ट ऑफ़ एशिया (एचओए) सम्मेलन 26 अप्रैल 2016 को नई दिल्ली में आरंभ हुआ. इस सम्मेलन में विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया जिसमें पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज़ अहमद चौधरी भी शामिल थे.
    इससे पहले 9 दिसम्बर 2015 को पाकिस्तान में पांचवे हार्ट ऑफ़ एशिया मंत्री स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया गया.
    •    अफगानिस्तान में विकास कार्यो हेतु निरंतर, प्रगतिशील दृष्टिकोण विकसित करने हेतु प्रयास करना.
    •    इसका उद्देश्य अफगानिस्तान में शांति एवं सौहार्द को बढ़ावा देना है एवं विकास के ढांचागत कार्यों को सुचारू रूप से पुनःआरंभ करना है.
    •    यह इस्ताम्बुल प्रोसेस का एक भाग है.
    •    इस्ताम्बुल प्रोसेस की स्थापना 2 नवम्बर 2011 को क्षेत्रीय मुद्दों, विशेष रूप से सुरक्षा, अफगानिस्तान और उसके पड़ोसी देशों के बीच राजनीतिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से की गयी.
    •    पहला एचओए मंत्री स्तरीय सम्मेलन 12 नवम्बर 2011 को इस्ताम्बुल, टर्की में आयोजित किया गया.
    •    दूसरा एचओए मंत्री स्तरीय सम्मेलन 14 जून 2012 को काबुल में आयोजित किया गया.
    •    तीसरा एचओए मंत्री स्तरीय सम्मेलन 26 अप्रैल 2013 को कजाखिस्तान में आयोजित किया गया.
    •    चौथा एचओए मंत्री स्तरीय सम्मेलन 31 अक्टूबर 2014 को बीजिंग, चीन में आयोजित किया गया.
    •    पांचवां एचओए मंत्री स्तरीय सम्मेलन 9 दिसम्बर 2015 को इस्लामाबाद, पाकिस्तान में आयोजित किया गया.
    •    इसमें भाग लेने वाले 14 देश हैं - अफगानिस्तान, अजरबैजान, चीन, भारत, ईरान, कजाकिस्तान, किर्गिज गणराज्य, पाकिस्तान, रूस, सऊदी अरब, तजाकिस्तान, तुर्की, तुर्कमेनिस्तान और संयुक्त अरब अमीरात. इसमें शामिल सहयोगी देश हैं - ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, डेनमार्क, मिस्र, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, इराक, जापान, नार्वे, पोलैंड, स्पेन, स्वीडन, ब्रिटेन, अमेरिका एवं यूरोपियन यूनियन.
    •    प्रोसेस में शामिल सहयोगी देश हैं - ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, डेनमार्क, मिस्र, यूरोपीय संघ, फ्रांस, फिनलैंड, जर्मनी, इराक, इटली, जापान, नार्वे, पोलैंड, स्पेन, स्वीडन, ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका.

    Read More
    Read Less
    Share

    भारत राष्ट्रमंडल जूडो चैमि्पयनशिप-2018 की मेजबानी करेगा

    भारतीय जूडो महासंघ (JFI) ने 25 अप्रैल 2016 को यह घोषणा की, कि राष्ट्रमंडल जूडो चैमि्पयनशिप 2018 की मेजबानी भारत करेगा. भारत इसकी मेजबानी जयपुर, राजस्थान में हो रहा है.
    यह पहला मौका है जब राष्ट्रमंडल जूडो चैम्पियनशिप का आयोजन भारत में हो रहा है. इसकी तारीख अभी तय नहीं की गई है.
    वर्ष 2016 में जेएफआई 10वीं एशियाई कैडेट जूडो चैमि्पयनशिप और 17वीं एशियाई जूनियर्स जूडो चैमि्पयनशिप की मेजबानी 6 सितंबर से 12 सितंबर 2016 तक राजीव गांधी इंडोर स्टेडियम कदावनथरा, केरल मे करेगा.
    • जूडो चैमि्पयनशिप राष्ट्रमंडल जूडो संघ द्वारा प्रत्येक 2 साल में एक बार आयोजित किया जाता है.
    • इस खेल में चार वर्ग क्रमशः कैडेट, जूनियर, वरिष्ठ नागरिक और नेत्रहीन, खिलाडी भाग लेते है.
    • राष्ट्रमंडल जूडो चैंपियनशिप 2016 दक्षिण अफ्रीका में आयोजित किया जाएगा.
    भारत में व्यापक रूप से खेले जाने वाले इस खेल के लिखित रिकॉर्ड कोडोकन में सर्वप्रथम मिले थे और 1965 मे भारत जूडो संघ का गठन किया गया था.

    Read More
    Read Less

    All Rights Reserved Top Rankers