Current Affairs
Hindi
Share

विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में भारत की रैंकिंग 35वें स्थान पर

विश्व बैंक ग्रुप के द्विवार्षिक ‘‘लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक-2016’’ में भारत की रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार हुआ है, जो 2014 के 54वें स्थान से बढ़ कर 35वें स्थान पर आ गई है। 
•    यह घोषणा विश्व बैंक ग्रुप ने हाल ही में जारी अपनी रिपोर्ट में की है। ताजा रैंकिंग के अनुसार भारत ने न्यूजीलैंड, थाईलैंड, सउदी अरब, आईसलैंड, लात्विया और इंडोनेशिया जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया, जो पहले सूचकांक में भारत से आगे थे। 
•    रैंकिंग में 19 स्थानों का सुधार इस बात को दर्शाता है कि भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालय और एजेंसिया भारत में व्यापार करना आसान बनाने के प्रति वचनबद्ध हैं। 
•    विश्व बैंक के अध्यक्ष डॉ. जिम योंग किंग ने हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री से मिल कर इस उपलब्धि के लिए बधाई दी थी। 
•    विश्व बैंक लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में नीति नियमन और आपूर्ति श्रृंखला निष्पादन परिणामों का अध्ययन करता है और सभी सूचियों में कार्य निष्पादन के आधार पर देशों का रैंक निर्धारित करता है। 
•    यह सर्वेक्षण जमीनी स्तर पर आपरेटरों की फीडबैक के आधार पर किया जाता है, क्योंकि यही लोग लाजिस्टिक कार्य निष्पादन के पहलुओं का उत्कृष्ट मूल्यांकन कर सकते हैं। 
•    लाजिस्टिक कार्य निष्पादन सूचकांक की छह उप-सूचियों में भारत ने सर्वाधिक सुधार ‘‘सीमा शुल्क और सीमा प्रबंधन मंजूरी’’ के क्षेत्र में किया है। इस क्षेत्र में 2014 में वह 65वें स्थान पर था, जो 2016 में बढ़ कर 38वां स्थान हो गया। 
•    खेपों का पता लगाने और उन पर निगरानी रखने की क्षमता, 57वें स्थान से सुधार करते हुए 34वां स्थान प्राप्त किया।
•    व्यापार और परिवहन ढांचे की गुणवत्ता, 58वें स्थान से सुधार करते हुए 36वां स्थान प्राप्त किया और
•    लाजिस्टिक्स सेवाओं की गुणवत्ता और सक्षमता, 52वें स्थान से सुधार करते हुए 32वां स्थान प्राप्त किया। 
•    विश्व बैंक ग्रुप की द्विवार्षिक रिपोर्ट ‘कनेक्टिंग टू कम्पीट 2016: ट्रेड लाजिस्टिक्स इन ग्लोबल इकोनोमी, बुधवार को जारी की गई। 
•    इसमें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की जटिलताओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। 
•    रिपोर्ट में लाजिस्टिक्स कार्य निष्पादन सूचकांक में लाजिस्टिक्स निष्पादन के महत्वपूर्ण मानदंडों के आधार पर 160 देशों की सूची दी गई है।

All Rights Reserved Top Rankers