Current Affairs
Hindi
Share

साइना नेहवाल ने दूसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन सुपर सीरीज़ जीती

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने 12 जून 2016 को चीन की सून यू को 2-1 से हराते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता. 
•    सिडनी में खेले गये मैच में पहले सेट में साइना नेहवाल को 11-21 से हार मिली, लेकिन साइना ने जबरदस्त वापसी करते हुए दूसरा सेट 21-14 से जीत लिया. 
•    इसके बाद साइना ने तीसरा सेट 21-19 से जीता. 
•    7.5 लाख डॉलर इनाम वाला यह टूर्नामेंट साइना का इस वर्ष का पहला ख़िताब था. 
•    साइना ने दूसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता. 
•    साइना 2016 में इंडिया ओपन सुपर सीरीज, मलेशिया सुपर सीरीज, स्विस ओपन ग्रां प्री और एशियाई चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में पराजित हुई थीं.
•    वह ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हार गई थीं.
•    इससे पहले वर्ष 2014 में भी उन्होंने यह खिताब जीता.
•    साइना नेहवाल भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। वर्तमान में वह दुनिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त महिला बैडमिंटन खिलाडी हैं तथा इस मुकाम तक पहुँचने वाली वे प्रथम भारतीय महिला हैं। 
•    साथ ही एक महीने में तीसरी बार प्रथम वरीयता पाने वाली भी वो अकेली महिला खिलाडी हैं। 
•    वह बीडबल्युएफ विश्व कनिष्ठ प्रतियोगिता जीतने वाली पहली भारतीय हैं। 
•    वर्तमान में वह शीर्ष महिला भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और भारतीय बैडमिंटन लीग में अवध वैरियर्स की तरफ से खेलती हैं।

Read More
Read Less
Share

केएल राहुल वनडे डेब्यू में शतक लगाने वाले पहले भारतीय

अपना पहला मैच खेल रहे केएल राहुल ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से इस मैच को एकतरफा बना दिया. 

•    जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला वनडे खेलने केएल राहुल ने शतक जड़कर टीम इंडिया को जीत दिलाई. 
•    वह अपने पहले ही मैच में शतक बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं. 
•    केएल राहुल से पहले वनडे डेब्यू में सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड रॉबिन उथप्पा के नाम दर्ज था, जिन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ 86 रन की पारी खेली थी. 
•    अपने पहले ही वनडे मैच में हाफ सेंचुरी बनाने वाले भी राहुल दूसरे भारतीय ओपनर हैं. 
•    यह कारनामा करने वाले पहले बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा थे.
•    राहुल के साथ दूसरे छोर पर ओपनिंग के लिए उतरे करुण नायर का भी ये पहला वनडे मैच था, इस तर 1976 के बाद ये पहला मौका था जब वनडे में डेब्यू करने वाले दो भारतीय बल्लेबाजों ने ओपनिंग की. 
•    इससे पहले 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ दिलीप वेंगसरकर और पार्थसारथी शर्मा ने अपना वनडे डेब्यू करते हुए ओपनिंग की थी. 
•    हालांकि जहां राहुल सेंचुरी बनाने में सफल रहे तो वहीं नायर 20 गेंदों में सिर्फ 7 रन बनाकर आउट हो गए.
•    इस पहले गेंदबाजी में भी टीम इंडिया ने कई रिकॉर्ड बनाए.
•    इस मैच में भारतीय स्पिनर्स का इकॉनमी रेट 2.65 रहा, यह भारतीय स्पिनर्स का वनडे में नौवां सर्वश्रेष्ठ (जिस मैच में स्पिनर्स ने कम से कम 20 ओवर फेंके हों) प्रदर्शन है. 
•    भारतीय गेंदबाजों ने जिम्बाब्वे के बल्लेबाजों को पहले 30 ओवरों में महज 91 रन बनाने दिए. 
•    यह पिछले 10 वर्षों में टीम इंडिया के गेंदबाजों द्वारा 30 ओवरों में खर्च किए गए सबसे कम रन हैं.

Read More
Read Less
Share

एन आर विसाख मुंबई मेयर्स अंतरराष्ट्रीय ओपन शतरंज टूर्नामेंट जीतने वाले पहले भारतीय बने

तमिलनाडु के युवा अंतरराष्ट्रीय मास्टर एन आर विसाख ने मुंबई मेयर्स अंतरराष्ट्रीय ओपन शतरंज टूर्नामेंट जीतने वाले पहले भारतीय बन गए.
•    सत्रह वर्ष के विसाख ने अंतिम दौर में ग्रैंडमास्टर दिप्तायन घोष से ड्रा खेला.
•    उन्होंने आठ अंक लेकर घोष और चंडीगढ के हिमाल गुसाईं के साथ शीर्ष पर थे.
•    टाइब्रेक में बेहतर स्कोर के कारण विसाख को विजेता घोषित किया गया.
•    वे टूर्नामेंट के नौ साल के इतिहास में इसे जीतने वाले पहले भारतीय हैं.
•    उन्हें तीन लाख रूपये पुरस्कार के तौर पर मिले जबकि घोष को दो लाख और गुसाईं को एक लाख रूपये मिले.

Read More
Read Less
Share

रियो ओलंपिक में भारत के ध्वजवाहक होंगे अभिनव बिंद्रा

ओलंपिक चैम्पियन निशानेबाज अभिनव बिंद्रा को पांच अगस्त को होने वाले रियो खेलों के उद्घाटन समारोह के लिए शुक्रवार (10 जून) को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया। 
•    भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने पुष्टि की कि उन्होंने 2008 बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा को खेलों के महाकुंभ में देश का ध्वजवाहक चुना है। 
•    बिंद्रा इस साल अपने पांचवें ओलंपिक में हिस्सा लेंगे। 
•    स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह, महान टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस और स्टार पहलवान सुशील कुमार के साथ 2012 लंदन खेलों से पहले ध्वजवाहक के लिए बिंद्रा के नाम पर भी विचार किया गया था लेकिन आईओए ने यह सम्मान दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान को दिया। 
•    बिंद्रा ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धाओं में भारत के एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता हैं। 
•    बिंद्रा ने 2008 बीजिंग ओलंपिक खेलों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर यह उपलब्धि हासिल की थी। 
•    वो अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) के कार्यकारी बोर्ड में भी शामिल है। •    बिंद्रा इसके अलावा रियो खेलों में भारतीय दल के सद्भावना दूत भी हैं। 

Read More
Read Less
Share

अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ द्वारा मारिया शारापोवा पर दो वर्ष का प्रतिबंध

अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने 8 जून 2016 को रूस की महिला टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा पर दो वर्ष के प्रतिबन्ध की घोषणा की. उन पर यह प्रतिबंध डोपिंग टेस्ट में फेल होने पर लगाया गया.
•    शारापोवा को ऑस्ट्रलियन ओपन के दौरान प्रतिबंधित दवा मेल्डोनियम के सेवन के लिए पॉजिटिव पाया गया था जिसके चलते उन्हें डोपिंग टेस्ट से गुजरना पड़ा. 
•    वर्ष 2016 डोपिंग रोधी कार्यक्रम के अनुच्छेद 8.1 के तहत नियुक्त किए गए स्वतंत्र न्यायाधिकरण ने मारिया शरापोवा को डोपिंग रोधी नियम के अनुच्छेद 2.1 का दोषी पाया.
•    29 वर्षीय शारापोवा पर यह प्रतिबंध वर्ष 2016 की 26 जनवरी से लागू माना जाएगा जिसके परिणामस्वरूप शारापोवा द्वारा ऑस्ट्रेलियन ओपन के क्वार्टरफाइनल में पहुंचने का परिणाम रद्द माना जाएगा.
•    गौरतलब है कि शारापोवा रियो ओलंपिक का हिस्सा हैं एवं इस प्रतिबन्ध के बाद वे ओलम्पिक में भाग नहीं ले पाएंगी.
•    शारापोवा ने अब तक 25 डब्ल्यूटीए ख़िताब जीते हैं तथा वे विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी हैं. मारिया शारापोवा अब इस फैसले के खिलाफ खेल पंचाट न्यायालय (सीएएस) में अपील करेंगी.
•    उनका जन्म 19 अप्रैल 1987 में साइबेरिया स्थित रूस में हुआ.
•    वे अगस्त 2005 में विश्व की नम्बर 1 खिलाड़ी घोषित की गयीं.
•    उन्होंने वर्ष 2008 में ऑस्ट्रेलियन ओपन ख़िताब जीता.
•    वर्ष 2012 में उन्होंने फ्रेंच ओपन जीता.
•    इसके अतिरिक्त वे 2004 में विम्बल्डन तथा 2006 में अमेरिकन ओपन विजेता रहीं.

Read More
Read Less
Share

नोवाक जोकोविच ने फ्रेंच ओपन का पुरुष एकल ख़िताब जीता

विश्व के शीर्ष टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने 5 जून 2016 को एंडी मरे को हराकर पहली बार फ्रेंच ओपन का पुरुष एकल का खिताब जीता. 
•    शीर्ष वरीयता प्राप्त जोकोविच ने दूसरी वरीयता प्राप्त मरे को 3-6,6-1,6-2, 6-4 से हराकर अपने करियर का 12वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीता.
•    इस जीत के साथ ही वह एक ही समय में चारों ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम करने वाले टेनिस इतिहास के तीसरे खिलाड़ी बने.
•    उनसे पहले डान बज (1938) और रॉड लेवर (1962 और 1969) ने एक ही समय में चारों ग्रैंडस्लैम आस्ट्रेलिया ओपन, फ्रेंच ओपन, अमेरिकी ओपन और विंबलडन खिताब अपने नाम किए थे.
•    ग्रैंडस्लैम फाइनल में जोकोविच और मरे के बीच यह सातवां मुकाबला था जिसमे सर्बियाई खिलाड़ी जोकोविच पांचवीं बार जीतने में सफल रहे. ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंटों में दोनों खिलाड़ियों के बीच हुए 10 मुकाबलों में जोकोविच की यह आठवीं जीत है. कुल मुकाबलों में जोकोविच ने 24 एवं मरे ने 10 मुकाबले 24 जीते हैं.
•    वे सर्बियन पेशेवर खिलाड़ी हैं.
•    नोवाक जोकोविच प्रोफेशनल टेनिस एसोसिएशन द्वारा घोषित नम्बर-1 खिलाड़ी हैं.
•    पूर्व स्लोवाक खिलाड़ी मरियन वाडा एवं बोरिस बेकर उनके कोच हैं. 
•    नोवाक अब तक 12 ग्रैंड स्लैम टाइटल जीत चुके हैं.
•    वर्ष 2011 में तीन ग्रैंड स्लैम टाइटल जीतने पर वे तीन टाइटल जीतने वाले छठे खिलाड़ी बने. उन्होंने अपना यह रिकॉर्ड 2015 में भी दोहराया.
•    वे सर्बिया के पहले खिलाड़ी हैं जिन्हें नम्बर-1 घोषित किया गया एवं सर्बिया के पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने ग्रैंड स्लैम टाइटल जीता.
•    उन्होंने वर्ष 2012, 2015 एवं 2016 में लॉरेस वर्ल्ड स्पोर्ट्स अवार्ड फॉर स्पोर्ट्समैन ऑफ़ द इयर पुरस्कार प्राप्त किये.
•    जोकोविच से पहले आंद्रे अगासी, बज, राय एमर्सन, रोजर फेडरर, लेवर, राफेल नडाल और फ्रेड पैरी करियर ग्रैंडस्लैम पूरा कर चुके हैं.

Read More
Read Less
Share

स्पेन की गार्बिने मुगुरुजा ने जीता फ्रेंच ओपन 2016

स्पेन की गार्बिने मुगुरुजा ने फ्रेंच ओपन का खिताब जीत लिया है। गार्बिने ने पूर्व चैंपियन सेरेना विलियम्स को फाइनल में हराकर यह खिताब अपने नाम किया। 
•    गार्बिने ने 7-5, 6-4 से सेरेना को हराया। गार्बिने के लिए यह उनका पहला ग्रैंडस्लेम टाइटल है। 
•    गार्बिने चौथे नंबर की खिलाड़ी हैं। सेरेना को क्वार्टर फाइलन और सेमी फाइनल मुकाबलों में भी काफी दिक्कत हो रही थी। चर्चा थी कि सेरेना चोटिल हैं। 
•    पहला सेट 56 मिनट तक चला। इसमें गार्बिने ने 41 पॉइंट जीते, जबकि सेरेना को 40 पॉइंट मिले। 
•    22 साल की गार्बिने सेरेना से 12 साल छोटी हैं। वह अपने करियर के पहले क्लेकोर्ट फाइनल में खेल रही थीं। गार्बिने से पहले स्पेन की अरांतस्का विकारियो ने पैरिस में ही साल 1998 में ग्रैंडस्लेम टाइटल जीता था। 
•    पिछले साल यूएस ओपन का मुकाबला जीतने वालीं फ्लाविया पेनेटा और ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने वालीं जर्मनी की ऐंजलिक कर्बर के बाद गार्बिने लगातार तीसरी ऐसी खिलाड़ी हैं जिन्होंने इस सीजन में अपना पहला ग्रैंडस्लेम खिताब जीता है। 
•    सेरेना के लिए ग्रैंडस्लेम मुकाबले में यह उनकी लगातार दूसरी हार है। इस हार के साथ ही 22वां ग्रैंडस्लेम जीतने का उनका ख्वाब अधूरा ही रह गया। 
•    पिछले साल यूएस  ओपन के सेमी फाइनल मुकाबले में उन्हें रॉबर्टा विंसी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। उसके बाद ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में जर्मनी की ऐंजलिक कर्बर ने उन्हें हराया था। 
•    1968 से लेकर अबतक सबसे ज्यादा ग्रैंडस्लेम खिताब जीतने का रेकॉर्ड स्टेफी ग्राफ के नाम हैं। 
•    उन्होंने 22 ग्रैंडस्लेम टाइटल अपने नाम किए थे। 
•    सेरेना के लिए स्टेफी के रेकॉर्ड की बराबरी करने का यह बहुत अच्छा मौका था। अब वह अपना पूरा ध्यान विंबलडन पर लगाने की कोशिश करेंगी। सेरेना ने पिछला विंबलडन खिताब जीता था और वह यह कारनामा कुल 6 बार कर चुकी हैं।

Read More
Read Less
Share

अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति के लिए नामांकित होने वाली पहली महिला बनी नीता अंबानी

अरबपति मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) की सदस्यता के 
•    स्विट्जरलैंड स्थित आईओसी ओलंपिक अभियान की सर्वोच्च संस्था है और उसकी ग्रीष्म और शीतकालीन तथा पैरालिंपिक खेलों के आयोजन की जिम्मेदारी होती है।

•    रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक और अध्यक्षा नीता अंबानी को आईओसी के नये सदस्य के लिये उम्मीदवार के रूप में नामांकित किया गया है।
•    चुनाव दो से चार अगस्त के बीच रियो डि जनेरियो में 129वें आईओसी सत्र में होंगे। स्वतंत्र चयन प्रक्रिया आईओसी सदस्यों की भर्ती की नयी प्रणाली अपनाता है जो ओलंपिक एजेंडा 2020 की सिफारिशों पर आधारित है। 
•    एक बार चुने जाने पर वह 70 साल की उम्र तक सदस्य बनी रहेंगी। अंबानी आईओसी के लिये नामांकित होने वाली पहली भारतीय महिला हैं।
•    आईओसी में पहले भारतीय प्रतिनिधि सर दोराबजी टाटा थे जबकि राजा रणधीर सिंह वर्तमान में आईओसी के मानद सदस्य हैं। वह 2000 से 2014 तक इसके सदस्य रहे थे। 
•    ओलंपिक चार्टर और आईओसी नियमों के अनुसार जिस श्रेणी के तहत अंबानी के नाम पर विचार किया जा रहा है, वह उन स्वयंसेवकों के लिये है जो आईओसी और ओलंपिक अभियान का अपने देश में प्रतिनिधित्व करेंगे। वे आईओसी के अंदर अपने देश के प्रतिनिधि नहीं होते हैं। इस तरह के नामांकितों की सेवानिवृति की उम्र 70 साल होती है।

Read More
Read Less
Share

फ्रेंच ओपन मिश्रित युगल खिताब पेस-हिंगिस के नाम

पेरिस में  3 जून 2016 को खेले गए मुक़ाबले में भारत के लिएंडर पेस और स्विटज़रलैंड की जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस ने फ्रेंच ओपन मिश्रित युगल का खिताब अपने नाम कर लिया.
•    पेस-हिंगिस की जोड़ी ने भारतीय खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा और क्रोएशिया के खिलाड़ी इवान डोडिग की जोड़ी को 4-6, 6-4, 10-8 से हराया.
•    रोलां गैरों की लाल बजरी पर इस जीत के साथ ही पेस-हिंगिस चारों ग्रैंड स्लैम जीतने वाली जोड़ी बन गई है.
•    विजेता जोड़ी को ख़िताब के साथ 116000 यूरो की राशि मिलेगी जबकि सानिया और इवान को टीम के तौर पर 58000 यूरो दिए जाएंगे.
•    लिएंडर पेस भारत के व्यावसायिक टेनिस खिलाड़ी हैं जो आजकल युगल एवं मिश्रित युगल मुकाबलों में भाग लेते हैं। वह भारत के सफलतम खिलाड़ियों में से एक हैं। 
•    उन्होंने कई युगल एवं मिश्रित युगल स्पर्धायें जीती हैं। 
•    उनको भारत का खेल जगत में सबसे ऊँचा पुरस्कार राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार 1996-1997 में दिया गया 
•    2001 में पद्म श्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। 
•    2014 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

Read More
Read Less
Share

आईओसी के पहले शरणार्थियों के दल की घोषणा

अगस्त में होने वाले रियो ओलिम्पिक खेलों में 10 शरणार्थियों का एक दल भी हिस्सा लेगा। विखंडित और संघर्ष कर रहे देशों के इन एथलीटों के प्रतिनिधित्व करता हुआ एक नया ध्वज भी इन ओलिम्पिक खेलों में नजर आएगा। 
•    आईओसी के इस फैसले का संयुक्त राष्ट्र ने स्वागत किया है। 
•    ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने वाले शरणार्थियों के इस दल में दक्षिण सूडान के पांच धावक, सीरिया के दो तैराक, कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य के दो जूड़ो-कराटे खिलाड़ी और इथियोपिया का एक मैराथन धावक शामिल है। ये सभी पहले शरणार्थी ओलम्पिक दल (आरओटी) का हिस्सा होंगे। 
•    इस दल का नेतृत्व पूर्व विश्व रिकॉर्ड धारी मैराथन धावक तेगला लोरोपे करेंगी। इस दल की उपकप्तान ब्राजील की इसाबेला मजाओ होंगी। आरओटी के इस दल में पांच कोच और पांच अन्य अधिकारी भी शामिल होंगे।
•    शरणार्थियों की पहली टीम माराकाना स्टेडियम में होने वाले उद्घाटन समारोह में ओलम्पिक के झंडे तले हिस्सा लेगी। 
•    पूरे ओलम्पिक में उन्हें दूसरी टीमों की तरह ही माना जाएगा। टीम का खर्च आईओसी द्वारा उठाया जाएगा। 
•    रामी अनीस (पुरुष) : सीरिया (देश), खेल (तैराकी), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-बेल्जियम)
•    यिक पुर बेल (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 800 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    जेम्स न्यांग चिएंगजिएक (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 400 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    योनास किंडे (पुरुष) : इथियोपिया (देश), खेल ( मैराथन), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-लक्सेम्बर्ग)
•    एंजेलिना नाडा लोहालिथ (महिला) : दक्षिण सूडान (देश), खेल (1500 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    रोज नाथिके लेकोन्येन (महिला) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 800 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    पाउलो अमोटम लोकोरो (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल (1500 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    योलांदे बुकासा माबिका (महिला) : कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (देश), खेल (जूडो-कराटे 70 किलोग्राम), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-ब्राजील)
•    युसरा मार्दिनी (महिला) : सीरिया (देश), खेल (तैराकी), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-जर्मनी)
•    पोपोले मिसेंगा (पुरुष) : कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (देश), खेल (जूडो-कराटे -90 किलोग्राम), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-ब्राजील)

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers