Current Affairs
Hindi
Share

केरल सरकार ने ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया

केरल सरकार ने ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है क्योंकि इसके इस्तेमाल से कैंसर और दिल की बीमारी हो सकती हैं।केरल सरकार ने उस अध्ययन को देखते हुए ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है जिसमें दावा किया गया था कि इसके इस्तेमाल से कैंसर और दिल की बीमारी सहित स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं।
•    राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने गुरूवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव :स्वास्थ्य: को निर्देश दिया कि वह ‘इलेक्ट्रानिक सिगरेट’ के उत्पादन, बिक्री और विज्ञापन पर रोक लगाने का आदेश जारी करें।
•    आधिकारिक बयान में कहा गया कि ऐसी खबरें थी कि ई-सिगरेट का बाजार केरल में बहुत फल-फूल रहा है तथा मुख्य रूप से युवाओं और बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है।
•    राज्य के मादक पदार्थ विरोधी अधिकारियों ने पाया कि ई-सिगरेट के डिवाइस का इस्तेमाल गांजा, चरस और दूसरे मादक पदाथरें के लिए किया जाता है।
•    ई सिगरेट एक बैटरी चालित उपकरण है जो निकोटीन या गैर-निकोटीन के वाष्पीकृत होने वाले घोल की सांस के साथ सेवन की जाने वाली खुराक प्रदान करता है। 
•    यह सिगरेट, सिगार या पाइप जैसे धुम्रपान वाले तम्बाकू उत्पादों का एक विकल्प है।

All Rights Reserved Top Rankers