Current Affairs
Hindi
Share

अक्षय ऊर्जा में निवेश आकर्षित करने में तीसरे स्थान पर भारत

भारत सोलन एनर्जी और दूसरे अक्षय ऊर्जा विकल्प  के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। 
•    अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में देश के आकर्षण संबंधी सूचकांक में भारत तीसरे स्थान पर हैं। 
•    इसमें पहले और दूसरे स्थान पर क्रमश: अमेरिका तथा चीन हैं।

•    रेटिंग एजेंसी अर्नस्ट् एंड यंग की एक रिपोर्ट के अनुसार, इसका मुख्य कारण भारत सरकार का अक्षय ऊर्जा पर जोर के साथ नवीन एवं नवीकरणीय उर्जा परियोजनाओं का समय पर क्रियान्वयन है।
•    अन्स्र्ट एंड यंग के बयान के मुताबिक सूचकांक में उभरते बाजारों की हिस्सेदारी आधी है। 
•    वहीं शीर्ष 30 देशों में चार अफ्रीकी देशों को जगह मिली है। 
•    एक दशक पहले केवल चीन तथा भारत इस मामले में आकर्षक गंतव्य थे और अक्षय उर्जा निवेश के मामले में विकसित देशों से प्रतिस्पर्धा कर रहे थे। 
•    चिली, ब्राजील तथा मैक्सिको सूचकांक में उपर आये हैं जबकि जर्मनी तथा फ्रांस की रैंकिंग घटी है।

Read More
Read Less
Share

महाराणा प्रताप के स्मरण में 100 रुपये एवं वितरण हेतु 10 रुपये का सिक्का जारी

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 9 मई 2016 को महाराणा प्रताप के स्मरण में 100 रुपये का स्मारक सिक्का एवं 10 रूपये का सिक्का वितरण हेतु जारी किया. 
यह महाराणा प्रताप की 475वें जन्मदिवस थी .
यह सिक्का संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा द्वारा जारी किया गया.
•    महाराणा प्रताप एक वीर योद्धा थे तथा वे कुशल रणनीतिज्ञ भी थे. 
•    उन्होंने बहादुरी से मुगलों के खिलाफ युद्ध किया एवं लोगों की रक्षा की.
•    वे मेवाड़ के शासक थे, यह क्षेत्र वर्तमान के राजस्थान के उत्तर-पश्चिम क्षेत्र में मौजूद है.
•    प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ शुक्ल के तीसरे दिन उनका जन्मदिवस मनाया जाता है.
•    वे उदयपुर के संस्थापक उदय सिंह द्वितीय एवं महारानी जयवंता बाई के बड़े पुत्र थे.
•    वे राजपूत परिवार में सिसोदिया घराने से ताल्लुक रखते थे.
केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय द्वारा वर्ष 2015-16 में महाराणा प्रताप का जन्मदिवस राजस्थान सरकार के सहयोग से मनाया जा रहा है.

Read More
Read Less
Share

आईएनएएस 300 में भारतीय नौसेना के सी-हैरियर विमान की विदाई

गोवा में आयोजित एक समारोह में भारतीय नौसेना एयर स्क्वायड्रन (आईएनएएस 300) के सी-हैरियर विमानों को विदाई दी गई. उसके स्थान पर  मिग-29के लड़ाकू विमान शामिल किए गए हैं.
•    आईएनएएस 300 ने 33 वर्षों तक भारतीय नौसेना को अपनी सेवाएं दी.
•    6 दशक पहले आईएएनएस 300 ब्राउड्री में इसे कमीशन किया गया 
•    दो दशकों तक उल्लेखनीय सेवा के बाद 1983 में स्क्वायड्रन को सी-हैरियर के साथ लगाया गया.
•    इस विमान का स्थान मिग-29 के से लैस नए स्क्वायड्रन ने लिया है.
•    एडमिरल आर.के. धोवन ने देश की रक्षा में स्क्वायड्रन द्वारा निभाई गई भूमिका
•    बैटन मिग-29के स्क्वायड्रन को सौंपा.
•    मिग-29के स्क्वायड्रन ने सबसे कम समय में आईएनएस विक्रमादित्य के साथ लड़ाकूओं का एकीकरण किया.
•    समारोह में आईएनएएस 300 की गौरवशाली परंपरा के अनुसार पुराने की जगह नए के स्थान लेने का संकेत प्रदान किया गया.
•    वायु प्रदर्शन के बाद परंपरागत रूप से सी-हैरियर वासिंग डाउन कार्यक्रम हुआ.
•    एडमिरल आर.के. धोवन ने इस अवसर पर फस्ट डे कवर जारी किया.

Read More
Read Less
Share

1 जनवरी 2017 से नेशनल हेल्पलाइन नंबर 112 पर इमरजेंसी कॉल

नेशनल हेल्पलाइन नंबर के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले इस इमरजेंसी नंबर 112  पर लोग सिमकार्ड, बैलेंस न होने या आउटगोइंग बार होने पर भी किसी इमरजेंसी सेवा के लिए कॉल मिला सकेंगे.
•    केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने समस्त आपातसेवाओं के लिए अमेरिका की ही तरह सिंगल हेल्पलाइन नंबर के प्रावधान को मंजूरी दे दी. इसके साथ ही सरकार ने सभी टेलीकॉम ऑपरेटरों से भी इमरजेंसी कॉल्स को 112 पर डायवर्ट करने के निर्देश दे दिए हैं. 
•    हर सेवा के लिए एक ही नंबर के रूप में 112 की खासियत यह है कि इसपर कॉल करने के बाद ऑपरेटर शिकायतकर्ता की कॉल को संबंधित विभाग की ओर डायवर्ट कर देगा.
•    इस सेवा के जरिये हर कॉलर की लोकेशन कंट्रोल रूम को मिल जाएगी और यह जानकारी तत्काल यूजर के पास के सहायता केंद्र को भेज दी जाएगी. 
•    इस नंबर को पैनिक बटन सिस्टम में भी फीड किया जा सकेगा, जिससे कॉल न कर पाने की दशा में परेशानी से घिरे लोग एसएमएस के जरिये ही मदद पा सकेंगे. 
•    सूत्रों के मुताबिक 1 जनवरी 2017 से शुरू होने वाले इस नंबर के बाद धीरे-धीरे सभी मौजूदा आपातकालीन नंबरों को समाप्त कर दिया जाएगा. 
•    यह सेवा मोबाइल और लैंडलाइन दोनों के लिए उपलब्ध रहेगी और बैलेंस न होने, आउटगोइंग बार होने पर भी लोग कॉल मिला सकेंगे.

Read More
Read Less
Share

राष्ट्रपति ने वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया

10 मई 2016 को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में शौर्य पुरस्कार और रक्षा कर्मियों और शहीदों को मरणोपरांत विशिष्ट सेवा मैडल से पुरस्कृत किया। 

•    • सिपाही जगदीश मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया । उन्होंने पठानकोट एयर बेस पर आतंकी हमले के दौरान सर्वोच्च बलिदान दिया
•    सूबेदार महेंद्र सिंह को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया। 
•    जम्मू-कश्मीर पुलिस हेड कांस्टेबल मोहम्मद शफी शेख और कांस्टेबल रियाज अहमद लोन शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया।
•    सीआरपीएफ 7 वीं बटालियन के हीरा कुमार झा जो शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया 
•    कमांडर मिलिंद मोकाशी जिन्होंने यमन युद्ध से 16 सौ व्यक्तियों को बचाया , उन्हें भी शौर्य चक्र के साथ पेश किया गया। 
•    सोलह सैनिकों को परम विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया और चौबीस सैनिकों को अति विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया। 
•    उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, और तीनों सेनाओं के प्रमुखों समारोह में उपस्थित थे।

Read More
Read Less
Share

चावल प्रौद्योगिकी पार्क की स्थापना कर्नाटक में

मई 2016 में कर्नाटक सरकार ने गंगावती में चावल प्रौद्योगिकी पार्क की स्थापना का फैसला किया।
•    मक्का प्रौद्योगिकी पार्क भी हावेरी जिले में रानेबेन्नुर में स्थापित किया जाएगा।
•    इन पार्कों को सार्वजनिक निजी भागीदारी के तहत स्थापित किया जाएगा
•    चावल प्रौद्योगिकी पार्क की स्थापना से बल्लारी, रायचूर और कोप्पल जिलों में में धान की खेती करने में मदद मिलेगी।
•    यादगीर जिले और विजयपुरा बागलकोट जिलों में शाहपुर और सुरपुर  तालुकों में ऊपरी कृष्णा प्रोजेक्ट की कमान क्षेत्रों में धान की खेती करने में मदद मिलेगी।
•    पार्क में चावल का आटा, चावल रवा , चावल की भूसी का तेल , नूडल्स, चावल आधारित शराब , पशु और पोल्ट्री फीड के लिए सुविधाएं होंगी ।
•    रानेबेन्नु में मक्का प्रौद्योगिकी पार्क 32000 टन की भंडारण क्षमता का  होगा।
•    गंगावती रायचूर जिले में एक बड़ा वाणिज्यिक शहर है।
•    यह क्षेत्र जनसंख्या के मामले में एक सबसे बड़ा शहर है
•    यह अक्सर कर्नाटक का धान का कटोरा शहर के रूप में जाना जाता है।

Read More
Read Less
Share

रोहित शर्मा ने भारत के पहले ‘स्पोर्ट एक्सपो’ का उद्घाटन किया

रोहित शर्मा ने निशानेबाज गगन नारंग की उपस्थिति में भारत की पहली अंतरराष्ट्रीय खेल एक्सपो का उद्घाटन कृषि कॉलेज ग्राउंड में किया.
•    यह देश में पहली बार शहर के खेल मनोरंजन प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा खेल एक्सपो का आयोजन किया गया है जिसे 8 मई से जनता के लिए खोल दिया जाएगा.
•    इस इवेंट में जहीर खान, धनराज पिल्लै, सुनील छेत्री, प्रार्थना थोम्बे और मिल्खा सिंह भी शामिल होंगे. 
•    इस इवेंट में फिटनेस के लिए आधुनिक तकनीकों, विभिन्न उत्पादों और स्पोर्ट्स की भारतीय ब्रांड के साथ-साथ बहुराष्ट्रीय ब्रांडों का प्रदर्शन किया जायेगा.
•    एक्सपो के द्वारा ‘बोक्वा सेशंस’ का छः बार आयोजन हो चूका है जो काफी कामयाब रहा है.
•    रोहित ने अपने टेस्ट करियर का आगाज कोलकाता के ईडन गार्डन में शतक लगा कर किया। 
•    रोहित भारत के टेस्ट इतिहास में शतक से आगाज करने वाले 14वें बल्लेबाज बन गए। 
•    उनसे पहले अपने टेस्ट करियर का आगाज शतक के साथ शिखर धवन (187) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था। 
•    रोहित (177) टेस्ट करियर का आगाज कर शतक के साथ करने में रन बनाने में धवन के बाद दूसरे नंबर पर हैं।

Read More
Read Less
Share

अनुबंधित श्रमिक भुगतान प्रबंधन प्रणाली के लिए पोर्टल का शुभारंभ

4 मई 2016 को केंद्रीय विद्युत, कोयला और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री पीयूष गोयल ने कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) के पोर्टल- ‘अनुबंधित श्रमिक भुगतान प्रबंधन प्रणाली’ (कांट्रैक्ट लेबर पेमेंट मैनेजमेंट सिस्टम) का शुभारंभ किया.
•    इस पोर्टल के माध्यम से वेतन की गणना की जाएगी और यह वेतन सभी अनुबंधित श्रमिकों के बैंक खाते में सीधे जमा करा दिया जाएगा.
•    यह कोल इंडिया की सभी सहायक कंपनियों के लिए एक एकीकृत प्रणाली होगी.
•    घर में विकसित आवेदन सभी अनुबंध सीआईएल में अलग अलग ठेकेदारों द्वारा लगे श्रमिकों और उसके सभी सहायक कंपनियों के लिए एक व्यापक डेटाबेस बनायेगा.
•    पोर्टल, सभी अनुबंधित श्रमिको को एक श्रमिक पहचान संख्या देगा जिसके माध्यम से वह अपने व्यक्तिगत विवरण और भुगतान की स्थिति को देखने मे मदद मिलेगा.
•    सार्वजनिक क्षेत्र के अन्य सभी उपक्रमों और निजी क्षेत्र के संगठनों को इस पोर्टल की प्रतिकृति बनाया जायेगा और इसके लिए नि:शुल्क तकनीकी सहायता प्रदान किया जायेगा.
•    यह पोर्टल 45 से 60 दिन के भीतर चालू हो जाएगा.

Read More
Read Less
Share

भारतीय रिजर्व बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ यूनाइटेड अरब अमीरात के बीच समझौता पत्र पर हस्तायक्षर

 04 मई 2016 को भारतीय रिजर्व बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ युनाइटेड अरब अमीरात के बीच मुद्रा विनिमय समझौते के बारे में सहयोग से संबंधित सहमति पत्र हस्तासक्षर किए गए.
•    इस सहमति पत्र में प्रतिबद्धता व्यसक्तब की गई है कि भारतीय रिजर्व बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ युनाइटेड अरब अमीरात तकनीकी विचार विमर्श के बाद, संबंधित सरकारों की सहमति से परस्पबर सहमत नियम और शर्तों के आधार पर द्विपक्षीय मुद्रा विनिमय समझौते पर हस्ता क्षर करने के बारे में विचार करेंगे.
•    सहमति पत्र भारत और संयुक्तय अरब अमीरात के बीच निकट आर्थिक संबंधों एवं सहयोग को और भी मजबूती प्रदान करेगा.
•    इस विनिमय समझौते से आपसी व्याापार का स्थाीनीय मुद्राओं में इनवॉइस बनाने में सहायता मिलने की भी संभावना है.
•    भारतीय रिजर्व बैंक भारत का केन्द्रीय बैंक है। यह भारत के सभी बैंकों का संचालक है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है।
•    पूरे भारत में रिज़र्व बैंक के कुल 22 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जिनमें से अधिकांश राज्यों की राजधानियों में स्थित हैं।
•    भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल 1935 को हुई थी।

Read More
Read Less
Share

राष्ट्रीय राजमार्ग-22 पर शिमला बाईपास को चार लेन के साथ दो लेन के निर्माण का फैसला

आर्थिक मामलों संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति ने 04 मई 2016 को हिमाचल प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्ग-22 शिमला बाईपास (कैथलीघाट से शिमला खंड के लिए) पर चार लेन के साथ दो लेन के निर्माण को भी मंजूरी दे दी. समिति की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की.
•    यह अनुमोदन हाइब्रिड एनुइटीर मोड में है.
•    भूमि अधिग्रहण, स्था‍नांतरण एवं पुनर्वास और निर्माण से पहले की गतिविधियों की लागत सहित इसकी कुल लागत 1583.18 करोड़ रुपए होने का अनुमान है.
•    सड़क की कुल लंबाई लगभग 28 किलोमीटर होगी.
•    राजमार्ग के एक किलोमीटर के निर्माण के लिए 4076 मानव दिवस की जरूरत होगी.
•    इस खंड के निर्माण हेतु स्थाननीय स्त र पर लगभग 1,11,914 दिनों तक का रोजगार पैदा होगा.
•    इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य हिमाचल प्रदेश में बुनियादी ढांचे में तेजी से सुधार लाना है.
•    इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग-22 पर कैथलीघाट से शिमला खंड पर चलने वाले यातायात खासकर भारी यातायात के लिए समय और यात्रा की लागत को भी कम करना है.

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers