Current Affairs
Hindi
Share

एड्स की महामारी को 2030 तक समाप्त करने के लिए तत्काल कार्रवाई की जरूरत : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने 6 मई 2016 को ऑन द फास्ट – ट्रैक टू इंड द एड्स एपिडेमिक शीर्षक से नई रिपोर्ट जारी की.
•    रिपोर्ट के अनुसार बीते 15 वर्षों में की गई प्रक्रिया की असाधारण प्रगति का असर शून्य हो सकता है.
•    रिपोर्ट में बताया गया है कि 2004 में अपने सर्वोच्च स्तर पर पहुंचने के बाद एड्स संबंधी मौतों में हुई 42 फीसदी की कमी में तेजी से किए गए उपचार पैमाने की मुख्य भूमिका रही है.
•    हाल के वर्षों में एचआईवी से सबसे अधिक प्रभावित देशों में जीवन प्रत्याशा में तेजी से बढ़ोतरी हुई है.
•    रिपोर्ट में एचआईवी और एड्स पर 2011 की राजनीतिक घोषणा के कार्यान्वयन की खामियों को भी बताया गया है.
•    रिपोर्ट में ऐसे इलाकों पर ध्यान दिया गया है जहां एचआईवी संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं जैसे पूर्वी यूरोप और मध्य एशिया.
•    वर्ष 2000 से 2014 के बीच इन इलाकों में एचआईवी के नए संक्रमण के मामलों में 30 फीसदी तक का इजाफा हुआ है 

Read More
Read Less
Share

भारतीय-अमेरिकी रेवती बालकृष्णन ‘टेक्सस एलिमेंटरी टीचर आफ दि ईयर’ से सम्मानित

11 मई 2016 को भारतीय-अमेरिकी अध्यापक रेवती बालकृष्णन अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा द्वारा ‘टेक्सस एलिमेंटरी टीचर आफ दि ईयर’ से सम्मानित की गयी.
•    उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए वाइट हाउस द्वारा सम्मानित किया गया.
•    वे पैटसी सोमर प्राथमिक विद्यालय में अध्यापिका के रूप में कार्यरत है. 
•    उनके स्कूल में करीब 30 प्रतिशत विद्यार्थी एशियाई या भारतीय हैं.
•    53 वर्ष की रेवती बालकृष्णन वर्तमान में सोमर में पांचवी ग्रेड के जरिए तीसरी कक्षा में गणित पढ़ा रहीं है और अब वे ‘नेशनल टीचर आफ दि ईयर’ प्रतिस्पर्धा में टेक्सास का प्रतिनिधित्व करेंगी.
•    ऑस्टिन में बसी रेवती मूलतः चेन्नई की है और शिक्षक बतौर काम करने से पहले वे लिबर्टी म्यूच्यूअल कंपनी में 12 साल तक सिस्टम एनालिस्ट के रूप में काम कर चुकी है.
•    उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक किया और वे अपने सीधी शिक्षण शैली के लिए जानी जाती है.

Read More
Read Less
Share

स्विट्ज़रलैंड में यश चोपड़ा की कांसे की मूर्ति स्थापित की गयी

4 मई 2016 को स्विट्ज़रलैंड सरकार ने यश चोपड़ा के सम्मान में विशेष मूर्ति स्थापति की.
•    250 किलोग्राम की इस कांसे की मूर्ति का उनकी पत्नी पामेला चोपड़ा एवं बहू रानी मुखर्जी द्वारा उद्घाटन किया गया. 
•    इस मूर्ति को कुर्साल क्षेत्र में इंटरलेकेन के मध्य स्थापित किया गया है.
•    उन्हें स्विट्ज़रलैंड की खूबसूरत लोकेशन में शूटिंग करने के कारण यह सम्मान प्रदान किया गया. इस कारण स्विट्ज़रलैंड में दक्षिण एशिया से पर्यटकों का आना जाना बढ़ा.  
•    यश चोपड़ा को इससे पहले भी इंटरलेकेन सरकार द्वारा सम्मानित किया जा चुका है.
•    इससे पहले उन्हें वर्ष 2011 में इंटरलेकेन सरकार द्वारा एम्बेसडर ऑफ़ इंटरलेकेन अवार्ड से सम्मानित किया गया.
•    इसके अतिरिक्त जुन्ग्फ्राऊ रेलवे द्वारा उनके नाम पर एक रेल का नाम भी रखा गया, उनके अतिरिक्त केवल एडोल्फ़ गुएर को यह सम्मान दिया गया था.
•    पांच सितारा विक्टोरिया जुन्ग्फ्राऊ ग्रैंड होटल एवं स्पा में एक स्वीट भी उनके नाम पर रखा गया.

Read More
Read Less
Share

वैज्ञानिकों ने पहली बार मंगल ग्रह के वातावरण में ऑक्सीजन ढूंढ़ निकाला है।

•    चार दशक पहले इसके कुछ संकेत मिले थे।
•    हालांकि ऑक्सीजन की जो मात्रा पाई गई है, वह उम्मीद से आधी है। 
•    इस खोज में वैज्ञानिकों ने स्ट्राटोफेरिक ऑब्जरवेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (सोफिया) मशीन का प्रयोग किया था। 
•    सोफिया की मदद से वह लाल ग्रह के पर्यावरण की विविधता का अध्ययन आगे भी जारी रखेंगे।
•    सोफिया अभियान से जुड़ी वैज्ञानिक पामेला मैरकम के मुताबिक, मंगल के पर्यावरण में आणविक ऑक्सीजन को मापना काफी मुश्किल काम है। 
•    मैरकम ने कहा कि ग्रह पर इन्फ्रारेड तंरगों का पता लगाने के लिए भी परमाणुओं का पता लगाना जरूरी है और सोफिया के द्वारा यह संभव है। 
•    इसकी मदद से अंतरिक्ष वैज्ञानिक लाल ग्रह पर मौजूद ऑक्सीजन और धरती पर मौजूद ऑक्सीजन में आसानी से अंतर कर पाते हैं। 
•    सोफिया अभियान अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और जर्मनी के अंतरिक्ष केंद्र का संयुक्त अभियान है। इसमें 100 इंच के व्यास का टेलीस्कोप लगा है।
•    ग्रह पर 95 फीसदी कार्बन डाईऑक्साइड और तीन फीसदी नाइट्रोजन है, जो जीवन की संभावना के लिए मुफीद नहीं है। 
•    1970 के दशक में द वाइकिंग और मारीनर अभियान ने भी मंगल ग्रह के पर्यावरण में मौजूद परमाणु ऑक्सीजन का आकलन किया था।

Read More
Read Less
Share

वैज्ञानिकों ने पहली बार मंगल ग्रह के वातावरण में ऑक्सीजन ढूंढ़ निकाला है।

•    चार दशक पहले इसके कुछ संकेत मिले थे।
•    हालांकि ऑक्सीजन की जो मात्रा पाई गई है, वह उम्मीद से आधी है। 
•    इस खोज में वैज्ञानिकों ने स्ट्राटोफेरिक ऑब्जरवेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (सोफिया) मशीन का प्रयोग किया था। 
•    सोफिया की मदद से वह लाल ग्रह के पर्यावरण की विविधता का अध्ययन आगे भी जारी रखेंगे।
•    सोफिया अभियान से जुड़ी वैज्ञानिक पामेला मैरकम के मुताबिक, मंगल के पर्यावरण में आणविक ऑक्सीजन को मापना काफी मुश्किल काम है। 
•    मैरकम ने कहा कि ग्रह पर इन्फ्रारेड तंरगों का पता लगाने के लिए भी परमाणुओं का पता लगाना जरूरी है और सोफिया के द्वारा यह संभव है। 
•    इसकी मदद से अंतरिक्ष वैज्ञानिक लाल ग्रह पर मौजूद ऑक्सीजन और धरती पर मौजूद ऑक्सीजन में आसानी से अंतर कर पाते हैं। 
•    सोफिया अभियान अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और जर्मनी के अंतरिक्ष केंद्र का संयुक्त अभियान है। इसमें 100 इंच के व्यास का टेलीस्कोप लगा है।
•    ग्रह पर 95 फीसदी कार्बन डाईऑक्साइड और तीन फीसदी नाइट्रोजन है, जो जीवन की संभावना के लिए मुफीद नहीं है। 
•    1970 के दशक में द वाइकिंग और मारीनर अभियान ने भी मंगल ग्रह के पर्यावरण में मौजूद परमाणु ऑक्सीजन का आकलन किया था।

Read More
Read Less
Share

क्रोनी कैपिटलिजम सूचकांक में भारत नौंवे स्थान पर

इकनॉमिक्स की एक प्रमुख पत्रिका के शोध में क्रोनी कैपिटलिजम सूचकांक में भारत को नौंवे स्थान पर रखा गया है। 
•    नवीनतम क्रोनी कैपिटलिजम इंडेक्स के अनुसार, देश में राजनीतिक साठ-गांठ से प्रभावित कारोबार की संपत्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीप) के 3.4 प्रतिशत और इससे मुक्त क्षेत्रों के कारोबार की संपत्ति 8.3 प्रतिशत के बराबर है।
•    यह अध्ययन फोर्ब्स पत्रिका द्वारा प्रकाशित दुनिया के अरबपतियों व उनकी संपत्ति की सूची के आंकडों पर आधारित है। 
•    इस सूचकांक में रूस राजनीतिक सहयोग वाले क्षेत्रों की सम्पत्ति के जीडीपी में 18 प्रतिशत हिस्से के साथ सबसे ऊपर है।
•    उसके बाद मलेशिया और फिलीपींस तथा सिंगापुर का स्थान है। 
•    रिपोर्ट के अुनसार, 2004 और 2014 के बीच क्रोनी कैपिटलिजम से प्रभावित व्यवसायों के अरबपतियों की सम्पत्ति 385 प्रतिशत बढ़ कर 2 हजार अरब डॉलर तक पहुंच गयी।

Read More
Read Less
Share

संयुक्त राष्ट्र ने जिका वायरस से बचाव के लिए मल्टी- पार्टनर ट्रस्ट फंड की शुरूआत की

संयुक्त राष्ट्र ने जिका  वायरस से बचाव के लिए मल्टी- पार्टनर ट्रस्ट फंड की शुरूआत की.
•    इस फंड की घोषणा संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने की थी।
•    फंड का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र प्रणाली और भागीदारों से एक समन्वित प्रतिक्रिया समर्थन करने के लिए एक तेजी से, लचीला और जवाबदेह मंच प्रदान करना है।
•    कुछ देशों में वायरस के प्रसार में हाल ही में वृद्धि देखि गयी थी 
•    जिका विषाणु फ्लाविविरिडए विषाणु परिवार से है। 
•    जो दिन के समय सक्रिय रहते हैं। इन्सानों में यह मामूली बीमारी के रूप में जाना जाता है, जिसे जिका बुखार, जिका या जिका बीमारी कहते हैं। 
•    1947 के दशक से इस बीमारी का पता चला। 
•    यह अफ्रीका से एशिया तक फैला हुआ है। 
•    यह 2014 में प्रशांत महासागर से फ्रेंच पॉलीनेशिया तक और उसके बाद 2015 में यह मेक्सिको, मध्य अमेरिका तक भी पहुँच गया।

Read More
Read Less
Share

आयरलैंड में केनी फिर बने प्रधानमंत्री

आयरलैंड में बेनतीजा चुनाव को लेकर 70 दिनों के गतिरोध के बाद सांसदों ने शुक्रवार को एंडा केनी को फिर से प्रधानमंत्री चुन लिया।
•    केनी को आयरलैंड की 158 सदस्यीय संसद में 59 मत मिले, जबकि उनके खिलाफ 49 मत पड़े। 
•    अल्पमत की उनकी सरकार का भविष्य पूरी तरह से मुख्य विपक्षी फियाना फेल पार्टी पर निर्भर है जो 6 मई के मतदान से अनुपस्थित रही।
•    26 फरवरी को हुए चुनाव में केनी की फाइन गाएल पार्टी को सिर्फ 50 सीटें मिलीं। 
•    इस चुनाव में वाम लेबर पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। 
•    लेबर पार्टी में केनी की साझेदार थी।
•    इस चुनावी जीत को किसी बड़ी जीत के तौर पर नहीं देखा जा रहा है क्योंकि केनी की ये सरकार बहुमत की सरकार नहीं है 
•    इसके अलावा मना जा रहा है की विपक्ष की मजबूती केनी को उनका काम करने के रास्ते में रोड़ा अटका सकती है

Read More
Read Less
Share

भारत-जापान ने खेलों में सहयोग पर सहमति पत्र पर हस्‍ताक्षर किए

जापान के शिक्षा, संस्‍कृति, खेल, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री हासे हिरोशी के नेतृत्‍व में 12 सदस्‍यीय शिष्‍टमंडल ने युवा मामले और खेल राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री सर्बानंद सोनोवाल से मुलाकात की।
•    दोनों पक्षों ने खिलाडि़यों, प्रशिक्षकों, खेल विशेषज्ञों, खेल प्रशासकों आदि के आदान-प्रदान पर सहमति व्‍यक्‍त की और खेल के क्षेत्र में सहयोग के लिए सहमति पत्र पर हस्‍ताक्षर करने का फैसला किया।
•    भारत द्वारा वर्ष 2017 में अंडर-17 फीफा वर्ल्‍ड कप का आयोजन किये जाने के मद्देनजर, दोनों पक्षों ने फुटबाल को बढ़ावा देने और खिलाडि़यों व प्रशिक्षकों के आदान-प्रदान पर सहमति व्‍यक्‍त की। 
•    दोनों देशों द्वारा मैत्रीपूर्ण फुटबाल मैच खेले जाने पर भी सहमति व्‍यक्‍त की गयी।
•    जापान के शिक्षा, संस्‍कृति, खेल, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री हासे हिरोशी ने बताया कि जापान सरकार ने 2014 और 2020 के बीच, जिस साल जापान ग्रीष्‍मकालीन ओलिम्पिक और पैरालिम्पिक गेम्‍स की मेजबानी करने वाला है, 100 देशों के 10 मिलियन से लोगों ज्‍यादा लोगों के बीच खेलों को प्रोत्‍साहन देने के लिए ‘स्‍पोर्ट फॉर टूमॉरो’ का शुभारंभ किया है। 
•    इसका लक्ष्‍य खेलों के माध्‍यम से सीखे गये मूल्‍यों का प्रसार करना और दुनिया भर के समस्‍त लोगों तक ओलिम्पिक और पैरालिम्पिक खेलों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। 
•    जापान के शिक्षा, संस्‍कृति, खेल, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री हासे हिरोशी ने पेशकश की कि भारत ‘स्‍पोर्ट फॉर टूमॉरो’ कार्यक्रम के अंतर्गत जापान के प्रशिक्षकों, शिक्षकों को बुलाने पर विचार कर सकता है। 
•    युवा मामले और खेल राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री सर्बानंद सोनोवाल ने जापान की पहल का स्‍वागत करते हुए कहा कि भारत निश्चित तौर पर उन खेलों के प्रशिक्षकों और शिक्षकों को बुलाना चाहेगा, जिन खेलों में जापान की स्थिति मजबूत है। 
•    जापान के शिक्षा, संस्‍कृति, खेल, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री हासे हिरोशी ने युवा मामले और खेल राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री सर्बानंद सोनोवाल को अक्‍टूबर 2016 में टोक्‍यो में होने वाले ‘वर्ल्‍ड फोरम ऑन स्‍पोर्ट एंड कल्‍चर’ में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया।

Read More
Read Less
Share

अमेरिकी नौसेना ने सी हंटर का परीक्षण किया

2 मई 2016 को संयुक्त राज्य अमेरिका की नौ सेना ने सैन डियागो में दुनिया की सबसे बड़ी मानवरहित सतह पोत, सी हंटर का परीक्षण किया.
•    यह स्व–चालित 132 फुट लंबा जहाज छुपे हुए पनडुब्बियों और पानी के भीतर बने खदानों की खोज के लिए 10000 नॉटिकल मील की दूरी तय कर सकता है.
•    पेंटागन की अनुसंधान शाखा, डिफेंस एडवान्स्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी (डीएआरपीए) ने इस जहाज को वर्जिनिया के लीयोडोस (Leidos) के साथ मिल कर बनाया है 
•    जहाज में डीजल के दो इंजन लगे हैं और यह अपनी गति 27 नॉट्स प्रति घंटे तक बढ़ा सकता है.
•    यह 132 फीट–लंबा (40 मीटर) बिना शस्त्र वाला प्रोटोटाइप जहाज है 
•    जहाज का दो वर्षों तक परीक्षण किया जाएगा. 
•    इसमें समुद्र में संचालन के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों  सत्यापन किया जाएगा.
•    अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि दूसरे पोतों से बचने के लिए यह रडार और कैमरों का प्रयोग कर सकता है.
•    यह गूगल के स्व–चालित कार के समकक्ष नौसैनिक है.

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers