Current Affairs
Hindi
Share

रूस द्वारा दुनिया की सबसे बड़ी परमाणु आइसब्रेकर निर्मित अर्कतिका को लांच किया

रूस ने 16 जून 2016 को अपनी एक नई परियोजना 22220 परमाणु आइसब्रेकर “अकर्तिका” का शुभारंभ किया। इसे रूस के दूसरे सबसे बड़े शहर - यह सेंट पीटर्सबर्ग में बाल्टिक शिपयार्ड से शुरू किया गया ।
•    परियोजना 22220 विश्व में अपनी तरह का सबसे बड़ा और सबसे शक्तिशाली पोत है और इसे रूस की यूनाइटेड शिपबिल्डिंग कॉरपोरेशन के बाल्टिक शिपयार्ड में बनाया गया है।
•    पोत 189.5 गज लंबा और 37.1 गज चौड़ा है।
•    यह 33540 मीट्रिक टन और दो विशेष रूप से डिजाइन परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों के साथ फिट है।
•    यह पूरी तरह से आधुनिक रूस में निर्मित होने वाली पहली रूसी परमाणु आइसब्रेकर है।
•    यह आर्कटिक में लगभग लगभग 10 फीट तक की मोती बर्फ की पार्ट को तोड़ सकता है 
•    उस वक़्त रूसी उप प्रधानमंत्री सर्जे इवानोव ने कहा था कि रूस की सबसे बड़ी पोत निर्माता कंपनी, सोवकॉमफ्लोट में एक हिस्सेदारी बेचने से जो धन अर्जित होगा वह सरकारी खजाने में नहीं जाएगा, बल्कि उसे एक नई पीढ़ी का परमाणु संचालित आइसब्रेकर बनाने में खर्च किया जाएगा।
•    इवानोव ने कहा था की इस आइसब्रेकर का निर्माण कार्य पांच वर्षों में पूरा हो जाएगा। 
•    इसकी रफ्तार 37 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। 

Read More
Read Less
Share

इज़राइल पहली बार संयुक्त राष्ट्र की स्थायी समिति का अध्यक्ष निर्वाचित

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 13 जून 2016 को इज़राइल को अपनी कानूनी समिति, जिसे छठी समिति भी कहा जाता है, का अध्यक्ष चुना.
•    इज़राइल को पहली बार छह में से किसी एक समिति का स्थायी सदस्य के रूप में चुना गया है.
•    गुप्त मतदान में इज़राइल को 109 मत उसके हित में मिले. किसी भी सदस्य ने इज़राइल के खिलाफ वोट नहीं किया. 
•    इस चुनाव प्रक्रिया के दौरान 23 सदस्य गैरहाजिर, 14 मत अवैध एवं 43 मत यूरो देशों से बाहर के थे.
•    यह आमसभा की समितियों में से एक प्रमुख समिति है.
•    इसमें महासभा के कानूनी प्रश्नों एवं समस्याओं का हल देखा जाता है.
•    इसके सदस्य वैश्विक हैं अर्थात जो भी देश संयुक्त राष्ट्र का सदस्य है वह छठी समिति का भी सदस्य है.
•    इसका संचालन एक अध्यक्ष एवं तीन उपाध्यक्षों द्वारा किया जाता है.
•    प्रत्येक वर्ष सितम्बर के अंतिम सप्ताह से लेकर नवम्बर के अंत तक इसका आयोजन किया जाता है.

Read More
Read Less
Share

नॉर्वे वनों की कटाई को प्रतिबंधित करने के लिए दुनिया का पहला देश बन गया है

नॉर्वे वनों की कटाई को प्रतिबंधित करने के लिए दुनिया का पहला देश बन गया है.यहाँ की संसद में ये फैसला लिया गया है की किसी भी तरह के ऐसे काम की अनुमति नहीं दी जाएगी जिसमे पेड़ों को काटना पड़े 
•    नॉर्वे की संसद ने सरकार द्वारा वनों को नहीं काटे जाने के फैसले का भी समर्थन किया। नॉर्वे दुनियाभर में वनों के संरक्षण की योजनाओं के लिए पैसे मुहैया करता है। 
•    इसके अलावा नॉर्वे वन्य समुदायों के लिए मानवाधिकार कार्यक्रमों का भी समर्थन करता है। 
•    इसके साथ ही नॉर्वे अगले 10 साल में अपने यहां जीवाश्‍म ईंधनों जैसे पेट्रोल और डीजल से चलने वाली सभी कारों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर देगा। 
•    इस तरह से पहले से ही पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर दुनिया के सबसे प्रगतिशील देशों में से एक नॉर्वे ने पर्यावरण के रक्षा की दिशा में बड़ा कदम उठाया है।
•    बताया जा रहा है कि सत्तापक्ष और विपक्ष, दोनों में ही इस मामले में आपसी सहमति बन गई है। 
•    यह तय किया गया है कि 2025 तक नॉर्वे में सभी कारें हरित ऊर्जा से चलाई जाएंगी।
•    डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की 2007 की रिपोर्ट के अनुसार, 2030 तक अमेज़न वर्षावन का लगभग 60 % हिस्सा पूरी तरह से खत्म हो सकता है 

Read More
Read Less
Share

नाटो ने अब तक का सबसे बड़ा संयुक्त सैन्य अभ्यास एनाकोंडा-16 पोलैंड में आरंभ किया

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) सदस्यों एवं साथी राष्ट्रों ने विशालतम संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास एनाकोंडा-16 पोलैंड में आरंभ किया. 
यह अभ्यास ऐसे समय में आयोजित किया जा रहा है जब मध्य एवं पूर्वी यूरोप के देश रूस से सुरक्षा की गारंटी चाहते हैं.
•    सैन्य अभ्यास की अध्यक्षता पोलैंड के सैन्य अभियानों के कमांडर द्वारा की जाती है.
•    इसमें 31000 सैनिक भाग लेंगे पोलैंड एवं अमेरिका के अतिरिक्त 17 अन्य नाटो देशों के सदस्य भी शामिल होंगे.
•    इसमें 12000 सैनिक पोलैंड से, 14000 अमेरिका एवं 1000 ब्रिटेन से भाग लेंगे.
•    एनाकोंडा-16 पोलैंड के विभिन्न स्थानों पर आयोजित किया जायेगा तथा इसका समापन 17 जून को होगा.
•    इस दौरान पोलैंड के सैनिकों को प्रशिक्षण एवं तकनीकी ज्ञान भी प्राप्त होगा. वे सैनिक, केमिकल, साइबर एवं वायु युद्ध का प्रशिक्षण भी प्राप्त करेंगे. 
•    इसमें 3000 वाहन, 105 हवाई जहाज एवं हेलीकॉप्टर तथा 12 नेवी जहाज भाग लेंगे.
•    इसमें नाईट टाइम हेलीकॉप्टर, अमेरिकी सैनिकों को छोड़ने के लिए विस्तुला नदी पर एक नकली पुल बनाया गया है.
एनाकोंडा अभ्यास का आरंभ पोलैंड में 2006 में हुआ था तथा इसमें अब तक विभिन्न नाटो सदस्यों ने भाग लिया है तथा यह आंकड़ा बढ़ रहा है.

Read More
Read Less
Share

पेड्रो पाब्लो कुक्ज़िन्सकी ने पेरू का राष्ट्रपति चुनाव जीता

पेड्रो पाब्लो कुक्ज़िन्सकी ने अपने प्रतिद्वंदी केईको फुजीमोरी को हराकर पेरू के राष्ट्रपति का चुनाव जीता. 
•    चुनावी प्रक्रिया के राष्ट्रीय कार्यालय ने 9 जून 2016 को यह घोषणा की कि पेरू के राजनैतिक संगठन पेरुआनोस पोर एल कम्बियो को 50.12 प्रतिशत वोटिंग के साथ बहुमत प्राप्त हुआ.
•    फुजीमोरी को 8539036 एवं पेड्रो पाब्लो को 8580474 मत प्राप्त हुए. 
•    उन्हें पीपीके के नाम से भी जाना जाता है, वे पेरू के जाने माने अर्थशास्त्री, राजनेता एवं स्थानीय प्रशासक हैं.
•    वे 2005 से 2006 तक पेरू के प्रधानमंत्री रह चुके हैं.
•    राजनीति में प्रवेश से पहले वे संयुक्त राज्य अमेरिका में कार्यरत थे. 
•    उन्होंने विश्व बैंक एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष में भी कार्य किया है. 
•    वे पेरू के सेंट्रल रिज़र्व बैंक के जनरल मेनेजर भी रह चुके हैं.
•    वे 1980 के शुरुआत में राष्ट्रपति फ़र्नांडो टेरी की सरकार में ऊर्जा और खान मंत्री भी रह चुके हैं.
•    वे वर्ष 2000 में वित्त मंत्री भी रह चुके हैं.
•    वे वर्ष 2011 में भी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार थे.

Read More
Read Less
Share

ग्लोबल पीस इंडेक्स में भारत 141वें स्थान


ग्लोबल पीस इंडेक्स में भारत को बुरुंडी, बुर्किना फासो और सर्बिया जैसे देशों से भी कम शांति वाला देश बताया गया है। 
•    लिस्ट में इस साल भारत 141वें स्थान पर है। ग्लोबल इंस्टीट्यूट ‘इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक्स एंड पीस (आईईपी ) ने यह स्टडी की है।
•    पिछले साल से भारत की रैंकिंग में दो नंबर का सुधार हुआ है, इसके बावजूद देश की शांति के स्तर में गिरावट बताई गई है। 
•    भारत की रैंकिंग में सुधार दूसरे देशों के प्रदर्शन में और गिरावट आने से हुआ है। 
•    इसके अनुसार, भारत में 2015 में हिंसक गतिविधियों के कारण अर्थव्यवस्था को 680 अरब डॉलर (करीब 4,521 हजार करोड़ रुपए) का नुकसान हुआ।
•    लिस्ट में कुल 163 देश हैं। दक्षिण एशियाई देशों में भूटान सबसे शांत है। वैश्विक स्तर पर वह 13वीं पायदान पर है। 
•    दक्षिण एशिया की सूची में भारत के बाद सबसे अशांत पाकिस्तान है। वह 153वें स्थान पर है। 
•    अफगानिस्तान 160वें स्थान पर है। विश्व स्तर पर हिंसा से निपटने के लिए दुनिया की कुल जीडीपी का 13.3 फीसदी हिस्सा खर्च किया गया है।
•    सबसे शांत पांच देश
1-आइसलैंड 
2- डेनमार्क 
3- ऑस्ट्रिया 
4- न्यूजीलैंड 
5- पुर्तगाल
•    सबसे अशांत पांच देश
1-सीरिया 
2- दक्षिण सूडान 
3- इराक 
4- अफगानिस्तान 
5- सोमालिया

Read More
Read Less
Share

अच्छे देशों 2015 की सूची में स्वीडन सबसे उपर

 

दुनिया के अच्छे देशों की ताजा सूची में भारत 70वें नंबर पर है। 
•    जबकि स्वीडन इस सूची में सबसे ऊपर है। ‘द गुड कंट्री इंडेक्स-2015’ नामक सूची में दुनिया के 163 देशों को शामिल किया गया है। 
•    इसमें भारत का नंबर 70 है जबकि स्वीडन को आधिकारिक रूप से दुनिया का सबसे अच्छा देश का दर्जा मिला है।
•    किसी मुल्क में मिलने वाली मूलभूत सुविधाएं, लोगों का जीवन स्तर आदि को ध्यान में रखते हुए ‘द गुड कंट्री सर्वे’ किया गया। 
•    सूची को तैयार करने के लिए 163 देशों के विभिन्न क्षेत्रों में वैश्विक योगदान को परखा गया। 
•    इनमें विज्ञान एवं तकनीक, संस्कृति, इंटरनेशनल पीस एंड सिक्योरिटी, वर्ल्ड ऑर्डर, प्लैनेट एंड क्लाइमेट, ऐश्वर्य और समानता, सेहत जैसे विषयों को शामिल किया गया।
•    कुल 35 मानकों के आधार पर किए गए सर्वे के मुताबिक दुनिया के 163 सबसे अच्छे देशों की सूची तैयार की गई। मजे की बात की टॉप टेन देशों की सूची में कोई भी एशियाई देश शामिल नहीं है।
•    बेहतीन देश
•    1 स्वीडन   2 डेनमार्क
•    3 नीदरलैंड   4 यूनाइटेड किंगडम
•    5 जर्मनी   6 फिनलैंड
•    7 कनाडा   8 फ्रांस
•    9 ऑस्ट्रिया   10 न्यूजीलैंड
•    19वें नंबर है सर्वे में जापान जो एशियाई देशों में ऊपर है
•    21वें स्थान पर है अमेरिका, 85वें स्थान पर श्रीलंका
•    27वें स्थान पर है इस सर्वे में चीन
•    117वें स्थान पर पड़ोसी देश पाकिस्तान

Read More
Read Less
Share

शंघाई आधारित नए विकास बैंक बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के वित्त पोषण के लिए अपनी पहली रॅन्मिन्बी -नामित बांड जारी करने जा रहा है.

•    इसकी घोषणा बैंक के वाईस प्रेसिडेंट पोलू नोगुइरा बतिस्ता ने की 
•    बैंक ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका की ब्रिक्स देशों द्वारा स्थापित किया गया था 
•    जुलाई 2015 में ब्रिक्स देशों - चीन, रूस, ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका ने एक नए बैंक (नए विकास बैंक) की स्थापना की जिसका उद्देश्य ब्रिक्स देशों और अन्य उभरती तथा विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की सतत विकास की मूलभूत परियोजनाओं के लिए वित्तीय संसाधन जुटाना है। 
•    बतिस्ता ने कहा कि अधिक बांड भारत में रुपयों सहित ब्रिक्स देशों के स्थानीय मुद्राओं में,  बैंक के बोर्ड और स्थानीय अधिकारियों परियोजना की योजना का समर्थन जारी किए जाएंगे।
•    इस बैंक का प्रमुख कार्य हैं- किसी देश शॉर्ट-टर्म लिक्विडिटी समस्याओं को दूर करना, ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग बढ़ाना, वैश्विक फाइनैंशल सेफ्टी नेट को मजबूत करना आदि। 
•    एनडीबी के पास आरम्भ में 100 बिलियन डॉलर की आधार राशि रखी रखी गई है, जिसका इस्तेमाल ढांचागत परियोजनाओं के लिए किया जाएगा जो सभी ब्रिक्स देशों के लिए एक प्रमुख मुद्दा हैं। 
•    हालांकि, चीन की कई निर्माण कंपनियों की विदेशों में बड़ी परियोजनाओं होने से इससे उन्हें अधिक लाभ मिलेगा। 
•    इस बैंक के अलावा, ब्रिक्स के पांच सदस्य भी अलग से 100 बिलियन डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार अलग से स्वैप लाइनों के लिए रिजर्व रखेंगे, जिसका उपयोग कोई भी ब्रिक्स सदस्य एक आकस्मिक रिजर्व व्यवस्था के तहत कर सकता है। बैंक का मुख्यालय  शंघाई में होगा, और इसके पहला अध्यक्ष भारत से होगा।

Read More
Read Less
Share

आईओसी के पहले शरणार्थियों के दल की घोषणा

अगस्त में होने वाले रियो ओलिम्पिक खेलों में 10 शरणार्थियों का एक दल भी हिस्सा लेगा। विखंडित और संघर्ष कर रहे देशों के इन एथलीटों के प्रतिनिधित्व करता हुआ एक नया ध्वज भी इन ओलिम्पिक खेलों में नजर आएगा। 
•    आईओसी के इस फैसले का संयुक्त राष्ट्र ने स्वागत किया है। 
•    ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने वाले शरणार्थियों के इस दल में दक्षिण सूडान के पांच धावक, सीरिया के दो तैराक, कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य के दो जूड़ो-कराटे खिलाड़ी और इथियोपिया का एक मैराथन धावक शामिल है। ये सभी पहले शरणार्थी ओलम्पिक दल (आरओटी) का हिस्सा होंगे। 
•    इस दल का नेतृत्व पूर्व विश्व रिकॉर्ड धारी मैराथन धावक तेगला लोरोपे करेंगी। इस दल की उपकप्तान ब्राजील की इसाबेला मजाओ होंगी। आरओटी के इस दल में पांच कोच और पांच अन्य अधिकारी भी शामिल होंगे।
•    शरणार्थियों की पहली टीम माराकाना स्टेडियम में होने वाले उद्घाटन समारोह में ओलम्पिक के झंडे तले हिस्सा लेगी। 
•    पूरे ओलम्पिक में उन्हें दूसरी टीमों की तरह ही माना जाएगा। टीम का खर्च आईओसी द्वारा उठाया जाएगा। 
•    रामी अनीस (पुरुष) : सीरिया (देश), खेल (तैराकी), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-बेल्जियम)
•    यिक पुर बेल (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 800 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    जेम्स न्यांग चिएंगजिएक (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 400 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    योनास किंडे (पुरुष) : इथियोपिया (देश), खेल ( मैराथन), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-लक्सेम्बर्ग)
•    एंजेलिना नाडा लोहालिथ (महिला) : दक्षिण सूडान (देश), खेल (1500 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    रोज नाथिके लेकोन्येन (महिला) : दक्षिण सूडान (देश), खेल ( 800 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    पाउलो अमोटम लोकोरो (पुरुष) : दक्षिण सूडान (देश), खेल (1500 मीटर रेस), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-केन्या)
•    योलांदे बुकासा माबिका (महिला) : कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (देश), खेल (जूडो-कराटे 70 किलोग्राम), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-ब्राजील)
•    युसरा मार्दिनी (महिला) : सीरिया (देश), खेल (तैराकी), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-जर्मनी)
•    पोपोले मिसेंगा (पुरुष) : कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (देश), खेल (जूडो-कराटे -90 किलोग्राम), राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी-ब्राजील)

Read More
Read Less
Share

फ्रांस में शराब की थीम पर पार्क

फ्रांस ने आखिकार शराब की थीम पर एक पार्क बना दिया है। 
•    यह बोर्डो, फ्रांस के सबसे प्रसिद्ध शराब बनाने वाले क्षेत्रों में से एक में स्थित है, और 1 जून 2016 को खोला गया 
•    इस थीम पार्क में कोई रोलर कोस्टर हैं, लेकिन शराब की थीम पर आधारित पूल की अपनी खासियत है 
•    ला तलब डु विन एक आश्चर्यजनक संरचनात्मक रेस्तरां है।
•    कोई लंगड़ा मकई कुत्तों और अत्यधिक कीमतों पर बेचा तहत नमकीन प्रेट्ज़ेल हो जाएगा।
•    थीम पार्क में प्रवेश की कीमत प्रति वयस्क लगभग $ 22 से शुरू होता है।
•    फ़्रान्स पश्चिम यूरोप में स्थित एक देश है किन्तु इसका कुछ भूभाग संसार के अन्य भागों में भी हैं। 
•    पेरिस इसकी राजधानी है। यह यूरोपीय संघ का सदस्य है। 
•    क्षेत्रफल की दृष्टि से यह यूरोप महाद्वीप का सबसे बड़ा देश है, जो उत्तर में बेल्जियम, लक्सेंबर्ग, पूर्व में जर्मनी, स्विट्सरलैंड, इटली, दक्षिण-पश्चिम में स्पेन, पश्चिम में ऐटलैंटिक सागर, दक्षिण में भूमध्यसागर तथा उत्तर पश्चिम में इंगलिश चैनल द्वारा घिरा है। 
•    इस प्रकार यह तीन ओर सागरों से घिरा है। 

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers