Current Affairs
Hindi
Share

थाईलैंड के पूर्व प्रधानमंत्री बन्हार्न सिल्पा-अर्चा का निधन

थाईलैंड के पूर्व प्रधानमंत्री बन्हार्न सिल्पा-अर्चा का बैंकॉक में 23 अप्रैल 2016 को निधन हो गया. वे 83 वर्ष के थे.
उनके कार्यकाल में विभिन्न घोटालों एवं भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण थाईलैंड की अर्थव्यवस्था 1990 में चरमरा गयी थी.
•    उनका जन्म 19 अगस्त 1932 में सुफानबुरी, सियाम में एक चीनी व्यापारिक परिवार में हुआ. उनका चीनी नाम मा डेक्सियांग है.
•    वे 11 बार थाई संसद में चुनाव जीत कर नियुक्त हुए, उन्हें उनके पैतृक जन्म स्थान के कारण बन्हार्नबुरी नाम दिया गया.
•    वे क्षेत्रीय पावर ब्रोकर थे एवं राजनीति में पैसे का महत्व भली-भांति जानते थे.
•    वे थाईलैंड के 21वें प्रधानमंत्री के रूप में लगभग 16 महीनों तक, 13 जुलाई 1995 से 24 नवम्बर 1996 तक, पद पर रहे.  
•    उनकी सरकार पर भ्रष्टाचार एवं आर्थिक अव्यवस्था के आरोप लगते रहे जिसके कारण देश में आर्थिक संकट भी आया.
•    वे राष्ट्रीय राजनीति में काफी समय से सक्रिय थे, वे विभिन्न पदों पर आसीन रहे. उन्हें अपने सहयोगियों से लाभ उठाने के कारण मिस्टर एटीएम के नाम से भी जाना जाता है.

Read More
Read Less
Share

भारत-मंगोलिया संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘नोमैडिक एलीफैंट-2016’ मंगोलिया में शुरू

भारत और मंगोलिया के बीच सैन्य सहयोग बढ़ाने के लिए 11वां भारत-मंगोलिया संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास 'नोमैडिक एि‍लफेंट-2016’ मंगोलिया में 25 अप्रैल 2016 को शुरू हुआ. यह अभ्या‍स 8 मई 2016 तक चलेगा.
इस अभ्या‍स का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत बगावती और आतंकवादी माहौल के मुकाबले के लिए दोनों देश की सेना के बीच तालमेल और अंतर-संचालकाता का विकास करना है.
• कुमाऊं रेजीमेंट का एक प्लाटून दो पर्यवेक्षकों के साथ इस अभ्यास में भाग लेगा.
• मंगोलियाई सेना की ओर से इस अभ्यास में कुल 60 सैन्यकर्मी हिस्सा लेंगे.
• यह अभ्यास विशेष रूप से आंतकवादी और बगावती माहौल के मुकाबले के साथ 48 घंटे के खुले संयुक्त अभ्यास के साथ संपन्न होगा.
• भारतीय दल बगावत और आंतकवाद के खिलाफ मुकाबले के अपने व्यावहारिक अनुभव क्लास रूम लेक्चर और बाहरी अभ्यास द्वारा साझा करेगा.
• इसके अलावा, दोनों दल दो सप्ताह तक सैन्य‍ प्रशिक्षण के साथ ही बिना शस्त्र के मुकाबले की तकनीक तथा विभिन्न तरह के खेलकूद के कार्यक्रमों में भाग लेंगे.
वर्ष 2004 में पहली बार भारत और मंगोलिया के बीच संयुक्त अभ्यास नोमेडिक एलीफैंट का आयोजन किया गया था. पिछले कुछ सालो से ये संयुक्त ड्रिल्स हर साल संचालित किए जा रहे है.

Read More
Read Less
Share

विश्व बौद्धिक संपदा दिवस-2016 मनाया गया

बौद्धिक संपदा दिवस-2016 विश्व भर में 26 अप्रैल 2016 को मनाया गया जिसका विषय था, डिजिटल रचनात्मकता: संस्कृति पुनःविचार.
•    इस अवसर पर, विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) विभिन्न सरकारी संस्थानों, गैर-सरकारी संस्थानों, सामुदायिक समूहों आदि के साथ मिलकर कार्यक्रम आयोजित करता है.
•    इस दिवस को मनाये जाने का उद्देश्य बौद्धिक संपदा के अधिकारों (पेटेंट, ट्रेडमार्क, इंडस्ट्रियल डिजाईन, कॉपीराइट) आदि के प्रति लोगों को जागरुक करना है. 
•    इस वर्ष के विषय का उद्देश्य डिजिटल माध्यम से संस्कृति के भविष्य को तलाशना है. एक संतुलित और लचीली बौद्धिक संपदा प्रणाली रचनात्मक क्षेत्र में काम करने वालों और कलाकारों को प्रशस्त मार्ग प्रदान करती है तथा उन्हें कलात्मक कार्यों के प्रति अधिक रचनात्मक बनाती है.
•    अक्टूबर 1999 में विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) ने किसी एक दिन को बौद्धिक संपदा दिवस के रूप में मनाये जाने के प्रस्ताव को स्वीकार किया.
•    वर्ष 2000 में, विश्व बौद्धिक संपदा संगठन ने 26 अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा दिवस के रूप में मनाया जाना तय किया. इसका उद्देश्य लोगों को बौद्धिक संपदा की प्रासंगिकता के विषय में जागरुक करना है.
•    अप्रैल 26 तिथि को विशेष सम्मेलन में इसलिए चुना गया क्योंकि इसी दिन 1970 में विश्व बौद्धिक संपदा संगठन की स्थापना हुई थी.

Read More
Read Less
Share

पूर्व वित्त मंत्री क्लेमेंट मौंबा कांगो के प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त

 कोंगो के पूर्व वित्त मंत्री मौंबा क्क्लेमेंट को 24 अप्रैल 2016 कांगो के प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। 
क्लेमेंट 25 अक्टूबर, 2015 संविधान के अनुसार राष्ट्रपति के परामर्श से सरकार बनाने के लिए जिम्मेदार होंगे .
सस्सोऊ न्गुएस्सो ने कोंगो का नेतृत्त्व 1979 और 1992 के बीच किया और 1997 में गृह युद्ध के बाद सत्ता में लौट आए।
केंद्रीय अफ्रीकी देश चुनाव के बाद से राजनीतिक हिंसा से ग्रसित है .
• इससे पहले 1992 और 1993 के बीच, क्लेमेंट ने वित्त मंत्री के रूप में सेवा की है।
• उन्होंने सरकार में एक बार विपक्ष के नेता के रूप में देश की सेवा की है।
• वो एक अर्थशास्त्री और मध्य अफ्रीकी राज्यों के बैंक (BEAC) के पूर्व अधिकारी भी रह चुके हैं जहाँ 1980 के दशक में उन्होंने  देश में कई वित्तीय संस्थानों का नेतृत्व किया।
• वो पहले विपक्षी सामाजिक लोकतंत्र के लिए पैन-अफ्रीकी संघ के एक वरिष्ठ सदस्य थे लेकिन एक संवैधानिक जनमत संग्रह में भाग लेने के कारण 2015 में उन्हें निकाल दिया गया 

Read More
Read Less
Share

जापान के पहले स्टील्थ X-2 लड़ाकू जेट ने सफलतापूर्वक उड़ान भरी

जापान ने स्टील्थ लड़ाकू जेट लड़ाकू जेट X-2 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया 
•    इस घरेलु विमान का सफलतापूर्वक परिक्षण इसके पहले उड़ान के बाद सफल माना गया 
•    जापान ने ये टेक्नोलॉजी खुद ही विकसित की है . 
•    इस टेक्नोलॉजी के बाद जापान अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथा ऐसा देश बन गया है जिसके पास स्टील्थ टेक्नोलॉजी है 
•    X-2 जेट प्रोटोटाइप ने मध्य जापान में नागोया हवाई अड्डे से उड़ान भरी। 
•    25 मिनट की उड़ान के बाद ये बिना किसी परेशानी के ये उत्तर गिफू हवाई अड्डे पर उतरा 
•    यह रक्षा तकनीकी अनुसंधान और विकास संस्थान (TRDI) जापानी मंत्रालय के रणनीतिक परियोजना अनुसंधान प्रयोजनों के लिए है।
•    विमान व्यापक रूप से जापान में शिनशिन (आत्मा) के रूप में जाना जाता है
•    लड़ाकू जेट 14.2 मीटर लंबी, 9.1 मीटर चौड़ा है और पंख 9.099 मीटर की है।
•    इसकी अधिकतम गति मैक 2.25 (2,475 Km/h) की है, 

Read More
Read Less
Share

25 अप्रैल ‘विश्व मलेरिया दिवस’

25 अप्रैल 2016 को पूरे विश्व में ‘विश्व मलेरिया दिवस’ मनाया गया. 'मलेरिया' जैसी गम्भीर बीमारी की ओर लोगों का ध्यान आकृष्ट करने के लिए इस दिवस को मनाया जाता है.
•    'विश्व मलेरिया दिवस' पहली बार '25 अप्रैल 2008' को मनाया गया था. यूनिसेफ़ द्वारा इस दिन को मनाने का उद्देश्य मलेरिया जैसे ख़तरनाक रोग पर जनता का ध्यान केंद्रित करना था, जिससे हर साल लाखों लोग मरते हैं.
•    'मलेरिया' यह एक प्रकार का बुखार है, जिसमें बुखार ठण्ड  (कंपकपी) के साथ आता है. यह बुखार मुख्यत: संक्रमित मादा एनाफ़िलीज मच्छ र द्वारा काटने पर होता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में हर वर्ष क़रीब 50 करोड़ लोग मलेरिया से पीड़ित होते हैं; जिनमें क़रीब 27 लाख रोगी जीवित नहीं बच पाते, जिनमें से आधे पाँच साल से कम के बच्चे होते हैं.
•    भारत के सात राज्यों- आंध्र प्रदेश, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा और राजस्थान में मलेरिया पर नियंत्रण के लिए सरकार ने विश्व बैंक की मदद से सितम्बर, 1997 से 'परिष्कृत मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम' की शुरुआत की है.
•    विदित हो कि मलेरिया एक ऐसी बीमारी है, जो हज़ारों वर्षों से मनुष्य को अपना शिकार बनाती आई है. 
•    विश्व की स्वास्थ्य समस्याओं में मलेरिया अभी भी एक गम्भीर चुनौती है.
•    पिछले दो दशकों में हुए तीव्र वैज्ञानिक विकास और मलेरिया के उन्मूलन के लिए चलाए गए वैश्विक कार्यक्रमों के बावजूद इस जानलेवा बीमारी के आंकड़ों में कमी तो आई है, लेकिन अभी भी इस पर पूरी तरह नियंत्रण नहीं पाया जा सका है.

Read More
Read Less
Share

भारत, फ्रांस ने आईएसए के तहत एक ट्रिलियन डॉलर के संभावित सौर कार्यक्रम को लांच किया

भारत और फ्रांस के बीच $ 1 खरब के अंतर्राष्ट्रीय सौर एलायंस (आईएसए) के तहत संभावित सौर कार्यक्रम के साथ एक कार्यक्रम शुरू किया है। 

• यह एक सौर वित्त प्रोग्राम है जिसका मकसद विकासशील देशों को पूरी तरह से एक स्वच्छ ऊर्जा प्रदान करना और भविष्य में ऊर्जा देने के लिए तैयार रहना है । 
• इसकी घोषणा पहले पियूष गोयल और फ्रांस के प्रयावरण मंत्री सेगोलेने रॉयल द्वारा की गयी थी 
• इसका उद्देश्य सौर वित्त कार्यक्रम वित्त की लागत को कम करना है और आईएसए के सदस्यों को अधिक से अधिक 1 खरब डॉलर निवेश के प्रवाह की सुविधा देना है .
 • दोनों देशों ने आईएसए के एक बैठक में भाग लिया जिसमे  अमेरिका, बांग्लादेश, ब्राजील और नाइजीरिया सहित 25 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। 
• आईएसए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रेंकोइस होलांद ने  2015 के पेरिस जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन में शुरू किया था। 

Read More
Read Less
Share

रॉजर फेडरर के नाम पर स्विट्ज़रलैंड में सड़क का नाम रखा गया

रॉजर फेडरर के नाम पर स्विट्ज़रलैंड में सड़क का नाम रखा गया है . यह सड़क नेशनल सेंटर ऑफ़ स्विस टेनिस की ओर जाती है जहाँ रॉजर ने ट्रेनिंग ली थी .
•    17 बार के मेजर टूर्नामेंट विजेता ने यहाँ करीब 1500 लोगों के सामने “अल्ले रॉजर फेडरर” का उद्घाटन किया . 
•    34 वर्षीय फेडरर 2016 के अगले प्रमुख टूर्नामेंट की तैयारी में हैं जी 22 मई से 6 जून तक है 
•    रॉजर फ़ेडरर स्विस टेनिस खिलाड़ी हैं, जिनकी वर्तमान में एटीपी वरीयता 2 है। उनके नाम 2 फ़रवरी 2004 से 17 अगस्त 2008 तक 237 हफ़्तों तक प्रथम वरीयता पर रहने का रिकॉर्ड है। 
•    फ़ेडरर को व्यापक रूप से इस युग के महानतम एकल खिलाड़ी के रूप में जाना जाता है।
•    फ़ेडरर ने 17 ग्रैंड स्लैम एकल खिताब (4 ऑस्ट्रेलियन ओपन, 7 विम्बलडन, 5 अमरीकी ओपन) | 
•    उन्होंने 4 टेनिस मास्टर्स कप खिताब, 16 एटीपी मास्टर्स श्रृंखलाएं, तथा एक ओलम्पिक युगल स्वर्ण पदक जीते हैं। 
•    उनके नाम कई रिकॉर्ड हैं, जिसमें लगातार 10 ग्रैंड स्लैम फ़ाईनलों (2005 विम्बलडन प्रतियोगिता से 2007 अमेरिकी ओपन प्रतियोगिता तक) तथा लगातार 19 ग्रैंड स्लैम सेमीफ़ाइनल मुकाबलों (2004 विम्बलडन से वर्तमान तक) में शामिल होना भी सम्मिलित है।

Read More
Read Less
Share

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस मनाया गया

विश्व भर में 23 अप्रैल 2016 को विश्व पुस्तक एवं कॉपीराईट दिवस मनाया गया. इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) द्वारा पढ़ने, प्रकाशन और कॉपीराइट संबंधी कार्यक्रम आयोजित किये गये.

•    इसे पहली बार 23 अप्रैल 1995 में मनाया गया.
•    प्रत्येक वर्ष यूनेस्को एवं विभिन्न प्रकाशक, पुस्तक विक्रेता एवं लाइब्रेरी से सम्बंधित अंतरराष्ट्रीय संगठनों द्वारा एक वर्ष के लिए विश्व पुस्तक राजधानी का चयन किया जाता है जो प्रत्येक वर्ष 23 अप्रैल को लागू होती है.
•    इस वर्ष व्रोकलॉ शहर को पुस्तकों की रचनात्मकता की शक्ति का संदेश प्रसारित करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता हेतु विश्व पुस्तक राजधानी-2016 के रूप में चुना गया.
•    23 अप्रैल को विश्व साहित्य के लिए प्रतीकात्मक तिथि के रूप में जाना जाता है. ऐसा माना जाता है कि वर्ष 1616 में इसी तारीख को सर्वांतीज, विलियम शेक्सपियर एवं इन्का गर्सिलासो का निधन हुआ था. 
•    इसी दिन कुछ अन्य साहित्यकारों का जन्म एवं कुछ की मृत्यु भी हुई जिनमें मौरिस द्रुओन, हल्दोर लैक्सनेस, व्लादिमीर नबोकोव आदि शामिल हैं.
•    वर्ष 1995 में यूनेस्को ने पेरिस में आयोजित महासभा में घोषणा की कि इस दिन लेखकों को श्रद्धांजलि के रूप में पुस्तको को महत्व दिया जाना चाहिए. इसी उपलक्ष्य में इस दिन विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस मनाये जाने की शुरुआत की गयी.

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers