Current Affairs
Hindi
Share

उजाला 2019 तक देश भर में लागू किया जाएगा

भारत सरकार का महत्त्वाकांक्षी राष्ट्रीय एलईडी कार्यक्रम उजाला 2019 तक देशभर में लागू कर दिया जाएगा। 
•    इसके तहत मार्च 2016 तक नौ करोड़ एलईडी बल्ब लोगों को बेचे गए हैं। इससे बिजली की खपत में कमी होने से लोगों को बिजली के बिल में लगभग 5,500 करोड़ रुपए की बचत हुई है। 
•    2019 तक उजाला कार्यक्रम के तहत देश में 77 करोड़ एलईडी बल्ब बेचे जाएंगे और पुराने परंपरागत बल्बों को हटाकर इन बल्बों के उपयोग से देश में लोगों के करीब 40,000 करोड़ रुपए की बचत बिजली के बिलों में होगी। 
•    इससे देश में कीमती ऊर्जा का संरक्षण भी होगा और हमारी कोयला आदि पर निर्भरता कम होगी। 
•    इससे पर्यावरण में भी सुधार आएगा। 
•    एक नौ वॉट का एलईडी बल्ब सौ वॉट के विद्युत के परंपरागत बल्ब के समान रोशनी देता है जबकि उसकी तुलना में करीब दसवां भाग कम विद्युत खपत करता है। 
•    उजाला कार्यक्रम के तहत 85 रुपए की दर से एलईडी बल्ब बेचे जा रहे हैं। 
•    मध्य प्रदेश में अगले डेढ़ साल में सारे बल्ब एलईडी में परिवर्तन करने का लक्ष्य रखा गया है। 
•    पिछले दो सालों में प्रदेश में अक्षय ऊर्जा का उत्पादन 800 मेगावाट से बढ़ाकर 3000 मेगावाट हो गया है। 
•    दुनिया के सबसे बड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र मध्य प्रदेश के रीवा जिले में स्थापित होगा। 
•    उजाला योजना के साथ ही केंद्र सरकार की उज्जवला योजना के तहत गरीब महिलाओं को एलपीजी गैस कनेक्शन दिए जाएंगे ताकि धुएं के चूल्हों से गरीब महिलाओं को निजात मिल सके। 
•    प्रदेश के ऊर्जा मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने कहा कि उजाला योजना के तहत तीन करोड़ एलईडी बल्ब प्रदेश में बेचने के बाद दूसरे चरण में सात करोड़ एलईडी बल्ब बेचे जाएंगे

Read More
Read Less
Share

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 100 ग्रामीण पेयजल आपूर्ति परियोजनाएं शुरू कीं

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 28 अप्रैल 2016 को 100 पाइप्ड पेयजल आपूर्ति परियोजनाएं ग्रामीण क्षेत्रो के लिए शुरू कीं.
•    2017 तक हर एक ग्राम पंचायत में पाइप पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराएँगे.
•    इस परियोजना की शुरुवात उत्कल गौरब मधुसुदन दस की बरसी के उपलक्ष के दौरान की गयी. दस ओडिशा के पहले स्नातक और अधिवक्ता थे.
•    यह राज्य के 107 गावों में रहने वाले 172000 ग्रामवासियों को लाभकारी होगा और इस परियोजना पर 72 करोड़ रूपए की लागत आएगा.
•    इससे पहले 28 अप्रैल 2016 को 100 शेहरी पेयजल परियोजनाओ की शुरुवात की थी.
•    अप्रैल 2016 के पहले सप्ताह में राज्य सरकार ने 195 करोड़ रूपए की लागत से 27711 गावों और शेहरो में नलकूप लगाने की घोसना की थी. 
•    ग्रामीण क्षेत्रो में सब ग्राम पंचायतो को पंचायत कोष का 30 प्रतिशत पाइप्ड पेयजल खर्चा करने के लिए दिशानिर्देश दिए गए.

Read More
Read Less
Share

पियूष गोयल ने उज्जवल योजना की शुरुवात मध्यप्रदेश में की

30 अप्रैल 2016 को पियूष गोयल ने मध्य प्रदेश में सभी  के लिए सस्ती एल ई डी देने के संकल्प के साथ  राष्ट्रीय एलईडी कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
•    इस योजना को ऊर्जा दक्षता सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) और पावर मंत्रालय संयुक्त रूप से चला रहा है 
•    इस कार्यक्रम के तहत 3 करोड़ एलईडी बल्ब राज्य में अगले 6 महीनों में वितरित किया जाएगा।
•    माननीय प्रधानमंत्री ने जनवरी, 2015 में राष्ट्रीय एलईडी कार्यक्रम लांच किया था। 
•    इसमें 77 करोड़ चमकीले बल्बों को एलईडी बल्ब से बदलना था। 
•    उजाला 12 राज्यों-राजस्थान, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, झारखंड, बिहार तथा उत्तराखंड में सफलतापूर्वक चल रहा है। 
•    यह भारत में ऊर्जा क्षमता का नया रूप होगा। ऊर्जा क्षमता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल) के सतत प्रयास से उजाला एलईडी के प्रति लोगों की धारणा बदलेगी और ऊर्जा सक्षमता बढ़ेगी। 
•    ईईएसएल ने देश में 7.47 करोड़ एलईडी बल्ब दिए हैं। इससे रोजाना 2.66 करोड़ केडब्ल्यूएच ऊर्जा की बचत हो रही है और इससे 1944 मेगावाट से अधिक की पीक मांग को टालने में मदद मिली है। 
•    इससे प्रतिदिन 21,550 टन सीओ2 कम करने में मदद मिली है और अनुमानतः रोजाना 10.64 करोड़ रुपए की लागत बचत हो रही है। 

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers