Current Affairs
Hindi
Share

विश्व हाइड्रोग्राफी डे - 21 जून

विश्व भर में 21 जून 2016 को विश्व हाइड्रोग्राफी डे मनाया गया. वर्ष 2016 का विषय हाइड्रोग्राफी – अच्छी तरह से प्रबंधित समुद्र और जलमार्ग की कुंजी 
•    विश्व हाइड्रोग्राफी दिवस, 21 जून, रेडियोग्राफर का काम और जल के महत्व को प्रचारित करने के लिए एक वार्षिक उत्सव के रूप में अंतरराष्ट्रीय जल सर्वेक्षण संगठन द्वारा अपनाया गया था.
•    अंतरराष्ट्रीय जल सर्वेक्षण ब्यूरो 1921 में स्थापित किया गया था.
•    वर्ष 2005 में अंतरराष्ट्रीय जल सर्वेक्षण संगठन द्वारा 21 जून को विश्व हाइड्रोग्राफी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी.
•    हाइड्रोग्राफी पृथ्वी पर पानी और जलभंडार का नापजोख तथा विवरण देता है.
•    यह पृथ्वी पर मौजूद नदी, झील तालाब और समुद्र के आकार, गहिराई, पानी के मात्रा तथा पानी के लेवल का नियंत्रण रखता है.
•    इसका प्रमुख उद्देश्य नेविगेशन (जहाज और नाव के संचालन) में सुबिधा के लिए डेटा उपलब्ध करना

Read More
Read Less
Share

कोलंबिया की सरकार और फार्क विद्रोहियों ने ऐतिहासिक दोतरफा युद्धविराम पर हस्ताक्षर किये

कोलंबिया की सरकार और फार्क विद्रोहियों ने 23 जून 2016 को ऐतिहासिक संघर्ष विराम समझौते पर हस्ताक्षर किये. 
•    क्यूबा में लगभग तीन वर्षों तक चली शांति वार्ता के बाद हुए इस संघर्ष विराम पर सहमति बनी.
•    इस सहमति ने 1960 के दशक में शुरू हुए गुर्रिल्ला युद्ध को पूरी तरह खत्म करने का मंच भी प्रदान किया है. 
•    दशकों से चला आ रहा यह संघर्ष कई वामपंथी विद्रोही समूह, दक्षिण पंथी अर्द्धसैन्य बल और नशीले पदार्थों से जुड़े गिरोहों के बीच रहा है.
•    आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, इस हिंसा में 2.6 लाख लोग मारे गए हैं, 45 हजार लोग लापता हैं और लगभग 70 लाख लोग विस्थापित हुए हैं.
•    कोलंबिया की सरकार और इन विद्रोहियों के बीच पिछले 50 साल से ज़्यादा लंबे वक्त से जंग चली आ रही है. 
•    सरकार और विद्रोहियों के बीच ये तय हुआ है कि फार्क शांति समझौते के छह महीने के भीतर हथियार छोड़ देगा.

Read More
Read Less
Share

प्रधानमंत्री ने स्मार्ट सिटी मिशन और अमृत के पहली वर्षगांठ समारोह में शिरकत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी आज पुणे में स्‍मार्ट सिटी मिशन और अमृत की पहली वर्षगांठ समारोह में शामिल हुए।
•    समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा चलन देखने में आ रहा है जहां शहर विकास के पथ पर एक दूसरे से प्रतिस्‍पर्धा कर रहे हैं। 
•    उन्‍होंने कहा कि  जन भागीदारी की भावना के साथ विकास कार्यों में एक दूसरे के साथ प्रतिस्‍पर्धा करने का यह एक सकारात्‍मक  माहौल है। 
•    उन्‍होंने शहर के लोगों को अपने क्षेत्र के विकास के निर्णय खुद लेने पर जोर दिया उन्‍होंने कहा कि इस तर‍ह निर्णय दिल्‍ली में बैठकर नहीं लिये जा सकते। उन्‍होंने कहा कि सहभागी प्रशासन की भावना काफी महत्‍वपूर्ण्‍ है।
•    उन्‍होने कहा कि एक समय था जब शहरीकरण को एक समस्‍या के रूप में देखा जाता था लेकिन आज इसे एक अवसर के रूप में देखा जाता है।
•    उन्‍होंने कहा कि शहर एक विकास केन्‍द्र हैं जिसमें लोगों की परेशानियों को दूर करने की क्षमता है।
•    प्रधानमंत्री ने शहरों द्वारा ठोस अपशिष्‍ट प्रबंधन पर ध्‍यान देने की आवश्यकता पर भी बल दिया।
•    इससे पहले, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्रियों ने विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये विशाखापत्‍तनम, ओडिशा और राजस्‍थान से समारोह को संबोधित किया और अपने विचार साझा किये। 
•    प्रधानमंत्री ने स्‍मार्ट सिटी नेट पोर्टल्‍ और पुणे की स्‍मार्ट सिटी परियोजनाओं का भी शुभारंभ किया। उन्‍होंने ‘ मेक्‍ योअर सिटी स्‍मार्ट ‘ प्रतियोगिता की शुरूआत की।

Read More
Read Less
Share

अंतरराष्ट्रीय नाविक दिवस 25 जून को विश्व भर में मनाया गया

विश्व भर में 25 जून 2016 को अंतरराष्ट्रीय नाविक दिवस मनाया गया. वर्ष 2016 का विषय: एट सी फॉर ऑल
•    यह इसके वैश्विक अभियान का चौथा संस्करण थाः नाविक का दिन. नाविक के दिन का पहला संस्करण आईएमओ ने वर्ष 2011 में मनाया था.
•    25 जून को अंतरराष्ट्रीय नाविक दिवस मनाने का फैसला अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ) ने वर्ष 2010 में लिया था. 
•    नाविक दिवस को संयुक्त राष्ट्र ने पालन सूची (ऑब्जर्वेंस लिस्ट) में भी शामिल कर लिया गया है.
•    इस फैसले के मोटो से यह पता चलता है कि हमारे दैनिक जीवन में उपयोग में आने वाले लगभग सभी चीजें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से समुद्री परिवहन द्वारा प्रभावित हैं.
•    आईएमओ के अनुमान के मुताबिक दुनिया के माल–व्यापार का लगभग 90 फीसदी जहाजों द्वारा ही ले जाया जाता है.
•    नाविक न सिर्फ जहाजों के संचालन के लिए बल्कि मालवाहक जहाज के सुरक्षित और सुचारू वितरण के लिए भी जिम्मेदार होते हैं.

Read More
Read Less
Share

चीन ने भारत और नेपाल की सीमा पर ‘डार्क स्काई रिजर्व’ की शुरुआत की

चीन ने भारत और नेपाल की सीमा से लगे अपने तिब्बती क्षेत्र में प्रकाश प्रदूषण को नियंत्रित करने और खगोलीय स्थलों को सुरक्षित रखने के मकसद से ‘डार्क स्काई रिजर्व’ की शुरुआत की है।
•    यह डार्क स्काई रिजर्व 2,500 वर्गकिलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। 
•    इसकी शुरुआत ‘चाइना बायोडाइवर्सिटी कंजरवेशन एंड ग्रीन डेवलपमेंट फाउंडेशन’ तथा तिब्बत की क्षेत्रीय सरकार की ओर से संयुक्त रूप से की गई है।
•    फाउंडेशन के कानूनी मामलों के प्रमुख वांग वेनयोंग ने कहा कि इलाके को प्रकाश प्रदूषण से मुक्त रखने की दिशा में यह पहला कदम है।
•    उन्होंने सरकारी अखबार ‘चाइना डेली’ से कहा कि अगर हम इलाके को सुरक्षित रखने के लिए अभी कदम नहीं उठाते तो हम पृथ्वी पर बेहतरीन खगोलीय स्थलों को खो देंगे।

Read More
Read Less
Share

वैज्ञानिकों ने जैव स्याही युक्त स्टेम सेल का निर्माण किया जिससे कोशिकाओं की थ्री डी प्रिंटिंग की जा सकेगी . अपने नए प्रिंटर की उपयोगिता को दर्शाने के लिए वैज्ञानिकों ने उसमे मानव शरीर के कुछ अंग जैसे निचला जबड़ा, मांसपेशियाँ, उपास्थि और कान आदि बनाए हैं जो बिलकुल असली अंगों जैसे लगते हैं|
•    स्टेम कोशिका या मूल कोशिका ऐसी कोशिकाएं होती हैं, जिनमें शरीर के किसी भी अंग को कोशिका के रूप में विकसित करने की क्षमता मिलती है। 
•    इसके साथ ही ये अन्य किसी भी प्रकार की कोशिकाओं में बदल सकती है।
•    वैज्ञानिकों के अनुसार इन कोशिकाओं को शरीर की किसी भी कोशिका की मरम्मत के लिए प्रयोग किया जा सकता है।
•    इस प्रकार यदि हृदय की कोशिकाएं खराब हो गईं, तो इनकी मरम्मत स्टेम कोशिका द्वारा की जा सकती है। 
•    इसी प्रकार यदि आंख की कॉर्निया की कोशिकाएं खराब हो जायें, तो उन्हें भी स्टेम कोशिकाओं द्वाअ विकसित कर प्रत्यारोपित किया जा सकता है
•    स्टेम कोशिका उपचार एक प्रकार की हस्तक्षेप इलाज पद्धति है, जिसके तहत चोट अथवा विकार के उपचार हेतु क्षतिग्रस्त ऊतकों में नयी कोशिकायें प्रवेशित की जाती हैं।
•    कई चिकित्सीय शोधकर्ताओं का मानना है कि स्टेम कोशिका द्वारा उपचार में मानव विकारों का कायाकल्प कर पीड़ा हरने की क्षमता है।
•    स्टेम कोशिकाओं में, स्वंय पुनर्निर्मित होकर अलग-अलग स्तरों में आगामी नस्लों की योग्यताओं में आंशिक बदलाव के साथ निर्माण करने की क्षमता के चलते, ऊतकों को बनाने की महत्वपूर्ण खूबी तथा शरीर के विकार युक्त एवं क्षतिग्रस्त हिस्सों को अस्वीकरण होने के जोखिम एवं दुष्प्रभावों के बगैर बदलने की क्षमता है।

Read More
Read Less
Share

भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीकी वकील एवं मानवाधिकार कर्मी यास्मीन सूका को दक्षिण सूडान में मानवाधिकार की स्थिति पर निगाह रखने और उसमें सुधार करने के उपायों की सिफारिश करने के लिए गठित संयुक्त राष्ट्र आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। 
•    संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यास्मीन को वैश्विक मानवाधिकार मामलों का व्यापक तजुर्बा है और वह ‘दक्षिण सूडान में मानवाधिका पर आयोग’ में अमेरिका के केन्नेथ स्कॉट तथा केन्या के गॉडफ्रे मुसिला के साथ काम करेंगी।
•    वर्ष 2011 में दक्षिण सूडान के निर्माण से पहले सरकारी और विद्रोही बलों दोनों पर मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप लगे थे। तब संयुक्त राष्ट्र ने एक आयोग की स्थापना का प्रस्ताव किया था।
•    अधिकारी ने बताया कि आयुक्त दक्षिण सूडान की सरकार को संक्रमण न्याय, जवाबदेही और सुलह-सफाई के मुद्दों पर मार्गनिर्देश करेंगे और मानवाधिकार उल्लंघनों की जवाबदेही को बढ़ावा देने के लिए अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय तंत्रों के साथ संवाद करेंगे।
•    रंगभेद विरोधी कार्यकर्ता रहीं यास्मीन अभी दक्षिण अफ्रीका के ‘फाउंडेशन फॉर ह्यूमन राइट्स’ की कार्यकारी निदेशक हैं। वह कई देशों में जिम्मेदारियां निभा चुकी हैं।   

Read More
Read Less
Share

क्विज पायनियर नील ओ ब्रायन का निधन

भारत में क्विज के पायनियर और एंग्लो इंडियन समुदाय के नेता नील ओ ब्रायन का शुक्रवार को कोलकाता में निधन हो गया। 
•    उनके बेटे और तृणमूल कांग्रेस से सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने यह जानकारी दी। वह 82 साल के थे। ब्रायन के परिवार में उनकी पत्नी जॉयस और तीन बेटे डेरेक, एंडी और बैरी हैं।
•    डेरेक ओ ब्रायन ने अपने ट्वीट में कहा, 'यह मेरा अब तक का सबसे दुखद ट्वीट है। मेरे पिता नील ओ ब्रायन नहीं रहे। कोलकाता स्थित घर में उनका निधन हो गया। वह क्विज के पायनियर, आईसीएसई के पूर्व प्रमुख, एंग्लो इंडियन समुदाय के आदर्श और शिक्षाविद थे।'
•    लोकसभा के पूर्व सदस्य नील ओ ब्रायन पश्चिम बंगाल में तीन बार एंग्लो इंडियन समुदाय के तहत मनोनीत विधायक भी रहे। 
•    वह एक जाने-माने शिक्षाविद थे। 
•    वह काउन्सिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एक्जामिनेशंस :सीआईएससीई: के अध्यक्ष और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, इंडिया के प्रबंध निदेशक भी रहे। 
•    एंग्लो इंडियन समुदाय के नेता के तौर पर वह ऑल-इंडिया एंग्लो इंडियन एसोसिएशन के अध्यक्ष और फ्रैंक एंथनी समूह के स्कूलों के अध्यक्ष थे।

Read More
Read Less
Share

हरमनप्रीत बनी विदेशी लीग में खेलने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर

पंजाब के मोगा की रहने वाली भारतीय महिला टीम की ऑलराउंडर हरमनप्रीत कौर विदेशी लीग में खेलने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बन गई हैं जिनका चयन विदेशी टी20 फ्रेंचाइजी ने अपने टीम के लिए किया है। 
•    ऑलराउंडर हरमनप्रीत कौर को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले महिला बिग बैश लीग की मौजूदा चैंपियन टीम सिडनी थंडर्स ने अपने साथ जोड़ा है।
•    हरमनप्रीत के करार की जानकारी बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने शुक्रवार को दी। 
•    एक जून को बीसीसीआई ने भारतीय महिला क्रिकेटरों को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति दी थी।
•    हरमनप्रीत को अपनी टीम में जोडऩे के लिए कई टीमों के बीच जद्दोजहद हुई थी, लेकिन अंत में सिडनी थंडर्स उन्हें हासिल करने में कामयाब रही। 
•    ब्लैकवेल भारतीय महिला टीम की तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को भी बिग बैश में खेलते हुए देखना चाहती थीं। 
•    इस साल ऑस्ट्रेलिया में हुई टी20 सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया था और उस जीत में हरमनप्रीत कौर ने अहम भूमिका निभाई थी।

Read More
Read Less
Share

उज्बेकिस्तान ने सुरक्षा के मामले में भारत के साथ सहयोग बढ़ाने पर सहमति जताई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति इस्लाम करीमोव के साथ गुरुवार को बैठक की जिसमें दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को विस्तार और मजबूती देने के लिए सुरक्षा के मामले में सहयोग और बढ़ाए जाने की बात की।
•    बैठक के दौरान दोनों नेताओं ने पुराने ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंधों को याद किया और संबंधों में और विस्तार करने एवं उन्हें और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। 
•    प्रधानमंत्री एक वर्ष में दूसरी बार उज्बेकिस्तान आए हैं। उन्होंने उज्बेकिस्तान के नागरिकों के लिए ई-पर्यटन वीजा विस्तार के भारत के निर्णय के बारे में बताया।
•    उन्होंने कहा कि उज्बेकिस्तान की स्वतंत्रता के 25 वर्ष पूरे होने और भारत के साथ उसके राजनयिक संबंधों की स्थापना की 25वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारत यहां 'भारत का उत्सव' और 'भारतीय व्यापार प्रदर्शनी' आयोजित करेगा।
•    दोनों नेताओं ने उल्लेख किया कि रक्षा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ रहा है और साइबर सुरक्षा पर एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर हुए हैं। 
•    उन्होंने सुरक्षा के क्षेत्र में और सहयोग का आह्वान किया। प्रधानमंत्री ने एससीओ में भारत की सदस्यता को समर्थन देने के लिए राष्ट्रपति करीमोव को धन्यवाद दिया।

Read More
Read Less

All Rights Reserved Top Rankers