toprankers
  • Exams

  • Online Coaching

  • Test Series

  • Score Up

  • Offer Zone

  • Prep Zone

  • Current Affairs
    Hindi
    Share

    रक्षा-विनिर्माण क्षेत्र में भारत और दक्षिण अफ्रीका संबंधों को और गहरा बनाएंगे

    भारत और दक्षिण अफ्रीका ने अपने पारंपरिक संबंधों को रेखांकित करते हुए रक्षा उत्पादन, विनिर्माण, खनन और खनिज जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सहयोग को गहरा बनाने पर सहमति व्यक्त की है, साथ ही आतंकवाद से ‘सक्रियता’ से निपटने में सहयोग करने और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इस मुद्दे में सहयोग करने का संकल्प व्यक्त किया। 
    •    दक्षिण अफ्रीका वैश्विक स्तर पर प्रमुख रक्षा उत्पादक देश है। बैठक के दौरान मोदी ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी का समर्थन करने के लिए राष्ट्रपति जैकब जुमा को धन्यवाद दिया। 
    •    48 सदस्यों वाले परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में शामिल होने के भारत के प्रयास पर आपत्ति करने वाले कुछ देशों में दक्षिण अफ्रीका भी शामिल था। 
    •    कारोबार और निवेश विशेष तौर पर खनिज और खनन, रसायन और फार्मास्यूटिकल्स , विनिर्माण और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग को और आगे बढ़ाने की क्षमता है। 
    •    पिछले दस वर्षो में दोतरफा कारोबार 300 प्रतिशत बढ़ा है। 
    •    भारतीय कंपनियों के दक्षिण अफ्रीका में मजबूत कारोबारी हित हैं । 
    •    इंडियन ओशन रिम एसोसिएशन हिंद महासागर से जुड़े नौवहन पड़ोसियों के लिए महत्वपूर्ण प्लेटफार्म है और 2017-19 तक इसकी अध्यक्षता के लिए दक्षिण अफ्रीका का स्वागत करता हूं।
    •    राष्ट्रपति जुमा ने मोदी का में स्वागत किया और कहा कि दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर सहयोग करने पर चर्चा की जिसमें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार का मुद्दा शामिल है। 

    All Rights Reserved Top Rankers