Current Affairs
Hindi
Share

भारत एमटीसीआर का 35वां सदस्य बना

भारत 27 जून 2016 को मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था/एमटीसीआर (MTCR) का 35वां सदस्य बना. भारत की ओर से विदेश सचिव जयशंकर ने इसपर हस्ताक्षर किए.
इसके तहत भारत मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (एमटीसीआर) में पूर्ण सदस्य के तौर पर शामिल हो गया. भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने फ्रांस के राजदूत एलेग्जेंडर जीगलर, नीदरलैंड के राजदूत एल्फोनस स्टोलिंगा और लग्जमबर्ग के प्रभारी (चार्ज डी एफेयर्स) लॉरे हुबर्टी की मौजूदगी में इसके सदस्यता पत्र पर हस्ताक्षर किए.
•    भारत की सदस्यता का 34 सदस्य देशों ने समर्थन किया. 
•    चीन एमटीसीआर का सदस्य नहीं है.
•    अमेरिका के साथ असैन्य परमाणु संधि के बाद से ही भारत एनएसजी, एमटीसीआर, द ऑस्ट्रेलिया ग्रुप और वासेनार अरेंजमेंट जैसे निर्यात नियंत्रण समूहों में प्रवेश की कोशिश करता रहा है. 
•    ये समूह पारंपरिक, परमाणु, जैविक एवं रासायनिक हथियारों और प्रौद्योगिकियों का नियमन करते हैं.
•    एमटीसीआर की सदस्यता अब भारत को उच्च स्तरीय मिसाइल प्रौद्योगिकी खरीदने और रूस के साथ अपने साझा उपक्रमों को बढ़ाने का अवसर देगी.
•    एमटीसीआर का उद्देश्य मिसाइलों, पूर्ण रॉकेट तंत्रों, मानवरहित वायुयानों और कम से कम 300 किलोमीटर तक 500 किलो वजन का पेलोड ले जा सकने वाली प्रणालियों के प्रसार को रोकना है. 
•    इसके साथ ही इसका उद्देश्य सामूहिक जनसंहार के हथियारों की आपूर्ति के लिए बनी प्रणालियों को भी रोकना है.

All Rights Reserved Top Rankers